अनर्गल बयानबाजी पर उतर आया भाजपा नेतृत्व: करन माहरा

खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के बागेश्वर विधानसभा उपचुनाव में चुनाव प्रचार के दौरान दिये गये ‘‘कांग्रेस पार्टी को वोट देना जहर पीने जैसा है’’, वाले बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि भाजपा नेतृत्व बागेश्वर विधानसभा उपचुनाव में अपनी आसन्न हार से भयभीत होकर इस प्रकार की अनर्गल बयानबाजी पर उतर आया है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के बयान की कड़ी निन्दा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री जैसे महत्वपूर्ण पद पर बैठे व्यक्ति को बयान देने से पहले अपने पद की गरिमा का ध्यान रखना चाहिए। कांग्रेस पार्टी एक लोकतांत्रिक पार्टी है तथा लोकतंत्र में विश्वास करने वाला कोई भी व्यक्ति हार-जीत की चिन्ता नहीं करता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने सत्ता में रहते हुए देश के विकास तथा आम आदमी के हक में कई कार्य किये हैं साथ ही गरीबों के लिए अनेक योजनाओं की नींव डाली है। परन्तु भाजपा सरकार बताये कि उसने देश का साम्प्रदायिक माहौल बिगाड़ने तथा जाति-धर्म के नाम पर लड़ाने तथा अपने चहेते कुछ उद्योगपतियों का पोषण करने के अलावा कौन सा ऐसा काम कर दिया जिस पर गर्व किया जा सके।

यह भी पढ़ें -   हल्द्वानी पुलिस ने छह साल से फरार चल रहे प्रॉपर्टी डीलर को किया गिरफ्तार, इन मामलों में है आरोपी

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि आज महंगाई, बेरोजगारी, नारी उत्पीड़न तथा भ्रष्टाचार अपने चरम पर है। आम आदमी को दो वक्त की रोटी के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। जबकि इसके विपरीत कांग्रेस शासन में भोजन व शिक्षा का अधिकार देकर आम आदमी के जीवन स्तर को ऊंचा उठाने के लिए कार्य किया गया। कांग्रेस पार्टी शासन में प्रदेश में विकास की अनेक योजनाएं संचालित हो रही थी जो भाजपा नेतृत्व द्वारा बंद कर दी गई हैं। प्रदेश में बेरोजगारों की कतार दिन-प्रतिदिन लम्बी होती जा रही है। भर्तियों के नाम पर अपनों को बंदर बांट तथा भ्रष्टाचार का बोलबाला रहा है।

यह भी पढ़ें -   23 मई से ज्येष्ठ मास शुरू जाने बड़ी बातें, क्या और क्यों है महत्व इस माह का

श्री माहरा ने कहा कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी अपने अभी तक के कार्यकाल में कोई ऐसा काम नहीं कर पाये हैं केवल नरेंद्र मोदी के नाम का सहारा लेकर सत्ता पर काबिज हैं तथा बागेश्वर विधानसभा उपचुनाव में अपनी निश्चित हार से घबरा कर ऐसे उलूल-जुलूल एवं अनर्गल बयान दे कर जनता का ध्यान भटकाने का प्रयास कर रहे हैं जिसका जवाब बागेश्वर क्षेत्र की जनता आगामी 5 सितम्बर, 2023 को होने वाले चुनाव में जरूर देगी।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440