सीएम तीरथ सिंह रावत ने किया संतों का स्वागत

खबर शेयर करें

समाचार सच, हरिद्वार/देहरादून। महाशिवरात्रि पर्व पर स्नान के क्रम में हरकी पैड़ी पर संयासी अखाड़ा ने स्नान किया। सबसे पहले श्री पंच दशनाम जूना अखाड़ा ने स्नान शुरू किया, जिसकी अगुआई जूना अखाड़ा के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि ने की। इस बीच मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत हरकी पैड़ी के ब्रह्मकुंड पहुंचे और ब्रह्मकुंड पर महाशिवरात्रि पर्व पर स्नान कर रहे श्री पंचायती अखाड़ा निरंजनी के संत महात्माओं का माला पहनाकर स्वागत किया और उनसे आशीर्वाद ग्रहण किया। इस दौरान संत महात्माओं ने भी उन्हें माला पहनाकर अपना आशीर्वाद दिया। महाशिवरात्रि स्नान पर्व पर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने हरिद्वार के वीआइपी घाट पर गंगा स्नान कर पूजन किया। इसके बाद तीरथ हरकी पैड़ी पर पहुंचे और साधु-संतों पर फूलों की वर्षा की। हरकी पैड़ी ब्रह्मकुंड पर श्री पंचायती अखाड़ा, निरंजनी और आनंद अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर और साधु संत ने डुबकी लगाई। जगह-जगह रथों पर सवार आचार्य महामंडलेश्वर और महामंडलेश्वर का स्थानीय निवासियों ने पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। संतों ने भी आमजन का अभिवादन किया। सबसे पहले श्री पंच दशनाम जूना अखाड़ा ने स्नान शुरू किया है। अखाड़ों की धार्मिक परंपराओं के लिहाज से कुंभ मेला जनवरी से शुरू हो चुका है। इस प्रकार कुंभ में अभी तक मकर सक्रांति, मौनी अमावस्या, वसंत पंचमी, माघी पूर्णिमा स्नान पर्व संपन्न हो चुके हैं। महाशिवरात्रि स्नान पर्व पर चूंकि सातों संन्यासी अखाड़े इस कुंभ का पहला स्नान करेंगे और श्रद्धालुओं की संख्या भी पिछले स्नान से अधिक उमड़ी है। महाशविरात्रि स्नान पर्व पर सबसे पहले जूना अखाड़ा आह्वान, अग्नि व किन्नर अखाड़ा सहित स्नान के लिए जुलूस के रूप में हरकी पैड़़ी के लिए रवाना हुआ। श्री जूना अखाड़ा सुबह 10 बजे अपनी छावनी मायादेवी मंदिर से शुरू होकर अपर रोड पोस्ट आफिस तिराहा से अपर रोड होते हुए 11 बजे हरकी पैड़ी ब्रह्मकुंड पहुंचा। साढ़े़ 11 बजे इसी मार्ग से वापसी होकर साढ़े 12 बजे छावनी पहुंचे।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.