विधानसभा में कांग्रेसी विधायको ने किया हंगामा, स्पीकर ने किया सदस्यों को निलंबित

खबर शेयर करें

समाचार सच, गैरसैंण। उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष रितु खंडूरी भूषण ने आज मंगलवार को 15 कांग्रेस विधायकों को एक दिन के लिए सदन की कार्यवाही में भाग लेने से निलंबित कर दिया। बता दें, उनके द्वारा सदन में हंगामा और उनमें से दो विधानसभा सचिव की मेज पर चढ़ गए थे, जो विपक्षी दल द्वारा लाए गए विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव को खारिज करने के उनके फैसले का विरोध कर रहे थे।

बता दें बजट सत्र का आज दूसरा दिन है। इसके बाद अध्यक्ष ने दिन की कार्यवाही अपराह्न 3 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। सचिव की टेबल पर चढ़कर कुर्सी के करीब आने की कोशिश करना, यह एक गंभीर और अस्वीकार्य मामला है। इस तरह का अनियंत्रित व्यवहार बिल्कुल भी सही नहीं है। यदि सदस्यों को निर्णय के संबंध में किसी प्रकार की समस्या है, तो इसे संचार द्वारा हल किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें -   नैनीताल की 6 विस में 9 बजे तक 10.5 प्रतिशत मतदान, लालकुआं विस क्षेत्र में दूल्हा दुल्हन पहुंचे मतदान स्थल

विशेषाधिकार प्रस्ताव को ठुकराया
आदेश चौहान ने उधमसिंह नगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव पेश किया था। विधानसभा अध्यक्ष ने राज्य सरकार द्वारा उन्हें सौंपी गई एक रिपोर्ट के आधार पर विशेषाधिकार प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया। वहीं बजट सत्र का आज दूसरा दिन भी काफी हंगामेदार रहा और विपक्ष ने 9 फरवरी को देहरादून में प्रदर्शनकारी युवाओं पर बेरोजगारी और लाठीचार्ज पर रूल 310 (स्थगन प्रस्ताव) के तहत विधानसभा अध्यक्ष खंडूरी से चर्चा की मांग की। अध्यक्ष ने रूल 58 के तहत मामले की सुनवाई की अनुमति दी और प्रश्नकाल शुरू हुआ। कांग्रेस विधायकों ने प्रश्नकाल के दौरान सरकार को घेरने की कोशिश की और लोक निर्माण विभाग तथा पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज के जवाबों पर असंतोष जताया।

यह भी पढ़ें -   हल्द्वानी में भीषण अग्निकांड, मजदूरों की कई झोपड़ियां और घरेलू सामान जलकर स्वाहा

Congress MLAs create ruckus in Vidhansabha, speaker suspends members

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440