4 व 9 मई को उपवास करेगे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत

खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। उत्तराखंड राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने आज फेसबुक पेज पर लिखा की मुझे पर कई उपकार उत्तराखंड की जनता के हैं। मुख्यमंत्री के तौर पर जब मैं देखता हूं कि कुछ ऐसे मुद्दों की उपेक्षा हो रही है तो मन कचोटता है और मैं स्वयं से प्रश्न करने लगता हूं कि एक भूतपूर्व मुख्यमंत्री के तौर पर तुम्हारा क्या कर्तव्य है?

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड में सीबीआई की उद्यान घोटाले के आरोपियों पर कार्रवाई, कैश और एफडी जब्त

इस समय दो ऐसे कर्तव्यों से जुड़े हुए बिंदुओं पर मैं, एक बिंदु पर एक दिवसीय उपवास और दूसरे पर 24 घंटे का उपवास रखूंगा। 4 मई सायं से 5 मई प्रातः तक अल्मोड़ा में उस स्थल पर जहां सौभाग्य से गांधी, अम्बेडकर और शिल्पकार प्रेरणा के प्रकाश पुंज मुंशी हरिप्रसाद टम्टा की प्रतिमाएं विराजमान हैं, मैं वहां रात भर उपवास कम धरने पर बैठूंगा।

कांग्रेस सरकार ने गरूड़ा बाज में मुंशी हरिप्रसाद टम्टा जी के नाम पर शिल्प संस्थान का निर्माण प्रारंभ किया था। वर्तमान सरकार द्वारा उस संस्थान का अपमान, शिल्प का अपमान है। मैं इसके विरोध में वहां बैठकर इस बिन्दु पर आगे के संघर्ष संकल्प को संगठित करूंगा। दुनिया में चीनी के दाम आसमान पर हैं। उत्तराखंड में गन्ना उत्पादक किसान सरकार की उपेक्षा से पीड़ित हैं।

यह भी पढ़ें -   १७ जून २०२४ सोमवार का पंचांग, जानिए राशिफल में आज का दिन कैसा रहेगा आपका …

काशीपुर क्षेत्र और इकबालपुर चीनी मिल का क्षेत्र इसके ज्वलंत उदाहरण हैं, लगभग 200 करोड़ रूपया गन्ना उत्पादकों का इकबालपुर चीनी मिल पर बकाया है, मैं 9 मई 2023 को यहां भी 24 घंटे का उपवास कम धरना चीनी मिल के गेट पर दूंगा।

Former Chief Minister Harish Rawat will fast on May 4 and 9

Ad Ad Ad Ad Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440