मुख्य दरवाजे पर गणेश प्रतिमा लगाते वक्त ना करें ऐसी भूल, जिंदगी हो सकती है तबाह

खबर शेयर करें

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। भगवान गणेश जी की पूजा हर मांगलिक कार्य में सबसे पहले की जाती है। वे सभी देवी-देवताओं में सर्वप्रथम पूज्य माने गए है। बुद्धि के देवता गणेश जी जिस से भी प्रसन्न होते है, उसके जीवन में कभी भी कोई समस्या नहीं आती है। यही वजह है कि गणेश जी की पूजा करना हर सनातनी के लिए आवश्यक माना गया हैं। हिंदू परिवारों में गणपति जी की मूर्ति या तस्वीर मुख्य दरवाजों पर लगाने की परंपरा रही है। वास्तु के अनुसार यह शुभ माना गया है, लेकिन दरवाजे पर गणेश जी की प्रतिमा लगाने के भी नियम है, जिन्हें सभी को फॉलो करना चाहिए। चलिए जानते है विस्तार से-

मुख्य दरवाजे पर प्रतिमा की दिशा
वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर के मुख्य दरवाजे पर गणपति जी की प्रतिमा लगाने की दिशा का ध्यान रखना चाहिए। इसके लिए आपके घर के मुख्य दरवाजे का मुंह उत्तर या दक्षिण दिशा में होना चाहिए। लेकिन ध्यान रखें, पूर्व या पश्चिम दिशा में दरवाजे का मुंह हो तो वहां गणेश प्रतिमा नहीं लगानी चाहिए।

यह भी पढ़ें -   अनियंत्रित होकर डंपर खाई में गिरा, चालक की दर्दनाक मौत

इस तरह लगाएं गणेश जी की प्रतिमा
वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर के मुख्य दरवाजे पर गणपति जी की प्रतिमा लगा रहे हैं तो दरवाजे के अंदर की तरफ गणेश जी को स्थापित करें। ध्यान रखें प्रतिमा का मुंह अंदर की तरफ होना आवश्यक है। इसके लिए पश्चिम उत्तर और पूर्वाेत्तर दिशा ही सबसे बेहतर मानी गई हैं।

दरवाजे पर किस रंग के गणेश जी हो?
वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर के मुख्य दरवाजे पर अपनी इच्छानुसार गणपति प्रतिमा स्थापित कर सकते है। लेकिन, पारिवारिक तरक्की के लिए सिंदूरी अथवा सफ़ेद रंग के गणेश जी विराजित करने चाहिए। ऐसा करने से व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं और परिवार में सुख-समृद्धि बनी रहती है।

यह भी पढ़ें -   चारधाम यात्रा के दौरान बढ़ रहा है मौत का आंकड़ा, अब तक 52 श्रद्धालुओं की गई जानें

गणेश जी की सूंड का रखें विशेष ध्यान
वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर के मुख्य दरवाजे पर गणेश जी की प्रतिमा लगाने से पहले भगवान की सूंड की दिशा अवश्य देखें। इस स्तिथि में गणपति बप्पा की सूंड बायीं तरफ मुड़ी होनी चाहिए। दाईं तरफ मुड़ने वाली सूंड घर के अंदर शुभ है, लेकिन घर के मुख्य दरवाजे पर बायीं तरफ सूंड ही शुभ रहती है।

मुख्य दरवाजे पर गणेश प्रतिमा की मुद्रा
वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर के मुख्य दरवाजे पर गणेश जी की प्रतिमा बैठी हुई मुद्रा में होनी चाहिए। घर के दरवाजे के बाहर खड़ी हुई मुद्रा वाली गणेश प्रतिमा लगाना शुभ फल नहीं देता हैं। हालाँकि, आप खड़ी हुई मुद्रा में गणेश प्रतिमा अपने ऑफिस या अपने कार्यस्थल के लिए रख सकते हैं।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440