गौलापुल की हालत जर्जर, सीएम को ज्ञापन भेज, लगायी मरम्मत की गुहार

Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। गौलापार को हल्द्वानी से जोड़ने वाला गौला पुल जर्जर हालत में पहुंच गया है। जिसके चलते इसकी मरम्मत की मांग उठने लगी है। गौलापार के लोगों ने इसे लेकर एक ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट के माध्यम से मुख्यमंत्री को प्रेषित किया है।

ज्ञापन में जनप्रतिनिधियों एवं क्षेत्रवासियों का कहना है कि गौला बाईपास पुल कुमाउं समेत तराई क्षेत्रों खटीमा, टनकपुर, चोरगलिया समेत गौलापार व अन्य स्थानों को हल्द्वानी से जोड़ता है। वर्तमान में इस पुल पुल की हालत जर्जर हो चुकी है। पुल के पीलर जीर्ण-क्षीर्ण हालत में पहुंच चुके हैं और नींव की सरिया तक दिखने लगे हैं। जिसके चलते इस पुल के अस्तित्व पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। यातायात की अधिकता के चलते इस पुल के जल्द जीर्णाेद्धार की आवश्यकता जताई जा रही है। पुल के अस्तित्व को कायम रखने के लिए गौलापार, खेड़ा के लोगों ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा।

यह भी पढ़ें -   सम्मानित व्यापारियों को 2021-22 का प्रमाण पत्र दे दिया तो वर्ष 2021 में चुनाव क्यों?

ज्ञापन में कहा गया है कि यदि पुल का निर्माण जल्द नहीं हुआ तो इससे बड़ी दुर्घटना के साथ ही आर्थिक नुकसान की भी संभावना बनी हुई है। ज्ञापन में यह भी कहा गया है कि गौला बाईपास पुल से ही गौलापार, चोरगलिया व अन्य क्षेत्रों के काश्तकार अपनी उपज मंडी तक पहुंचाते हैं, जिसे देखते हुए इस पुल की शीघ्र मरम्मत कराई जाए।

यह भी पढ़ें -   सीएम धामी ने पूर्व पार्षद के इलाज को दी आर्थिक सहायता चैक

ज्ञापन देने वालों में खेड़ा की ग्राम प्रधान लीला देवी, पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य अर्जुन सिंह बिष्ट, हरीश चन्द्र पलड़िया, हरेंद्र बोरा, हरेंद्र क्वीरा, आनन्द बल्लभ जोशी, नीरज रैक्वाल, तपिश बड़ौला, संध्या डालाकोटी, राम सिंह नगरकोटी, सुरेंद्र सिंह बर्गली, गोपाल सिंह बिष्ट, आनन्द बल्लभ जोशी, महेंद्र सिंह मेहता समेत कई क्षेत्रवासी मौजूद थें।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *