उत्तराखंड में भीषण सड़क हादसा, 13 की मौत, चार घायल; सीएम ने दिए मजिस्ट्रीयल जांच के निर्देश

Ad
Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, विकासनगर (देहरादून)। रविवार की सुबह उत्तराखंड के चकराता में एक भीषण सड़क हादसा हुआ है। यहां यूटिलिटी वाहन के खाई में गिरने से करीब 13 व्यक्तियों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि बच्चे समेत चार गंभीर घायल हैं। ग्रामीणों ने मौके पर खुद ही रेस्क्यू आपरेशन चलाया और शवों को खाई से बाहर निकाला, जबकि घायलों को उपचार के लिए अस्पताल भिजवाया।

मुख्यमंत्री धामी ने जताया दुख, दिये मजिस्ट्रियल जांच के निर्देश
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चकराता क्षेत्र के अंतर्गत बुल्हाड़-बायला मार्ग पर हुए वाहन दुर्घटना पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ईश्वर से मृतकों की आत्मा को शांति और परिजनों को दुःख सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को तेजी से राहत व बचाव कार्य करते हुए घायलों को तत्काल उपचार उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि घायलों के उपचार के लिए एवं मृतकों के परिवारजनों को राज्य सरकार द्वारा हर संभव मदद दी जायेगी। कैबिनेट मंत्री श्री गणेश जोशी, गढ़वाल कमिश्नर एवं जिलाधिकारी देहरादून घटना स्थल के लिए रवाना हो चुके हैं। मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी देहरादून को वाहन दुर्घटना की मजिस्ट्रियल जांच के निर्देश दिये हैं। उन्होंने परिवहन विभाग को सख्त निर्देश दिये हैं कि वाहनों में ओवर लोडिंग न हो, यदि इस तरह की कोई बात आती है, तो संबधित पर कड़ी कारवाई की जाय। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस तरह की घटनाएं दुबारा न हो , इसके लिए उन्होंने प्रदेश के लोगों से अपील की है ओवर लोडिंग न करें। हम सभी को स्वयं जागरूक होकर इस तरह की घटनाओं से बचना है।

यह भी पढ़ें -   हल्द्वानी महानगर में 10 को होगा भव्य विशेष राज्य स्थापना दिवस का आयोजन, तैयारियां जोर-शोर से जारी

रविवार की सुबह चकराता तहसील के भरम खत के बायला गांव से विकासनगर जा रही यूटिलिटी पीएमजीएसवाई के बायला-पिंगुवा मार्ग पर गांव से करीब 200 मीटर आगे अचानक अनियंत्रित हो गई। यूटिलिटी सड़क के पैराफिट को तोड़ते हुए करीब 400 मीटर नीचे खाई में जा गिरी। इस हादसे में यूटिलिटी सवार 13 लोगों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। जबकि बायला निवासी पांच साल का बच्चा और पिंगुवा निवासी एक अन्य ग्रामीण गंभीर घायल हो गए। घटना की सूचना से बायला, बुल्हाड़, आसोई, बेगी और आसपास के ग्रामीण तुरंत मौके पर पहुंचे। क्षेत्र के लोगों ने रेस्क्यू कर खाई में फंसे शवों को किसी तरह बाहर निकाला। जबकि घायलों को अपने वाहनों की मदद से शीघ्र ही उपचार के लिए चकराता अस्पताल भर्ती करवाया है।

यह भी पढ़ें -   हल्द्वानी में आक्रोशित कांग्रेसियों ने फूंका सीएम का पुतला

हादसे में मरने वालों में मातबर सिंह (40) पुत्र भगत सिंह, पत्नी रेखा देवी (32) और डेढ़ वर्षीय पुत्री तनवी, रतन सिंह (45) पुत्र रतराम, जयपाल सिंह चौहान (40) पुत्र भाव सिंह, अंजलि (15) पुत्री जयपाल सिंह चौहान, नरेश चौहान (35) पुत्र भाव सिंह, साधराम (55) पुत्र गुलाब सिंह, दान सिंह (50) पुत्र रतू, ईशा(18) पुत्री गजेंद्र, काजल (17) पुत्री जगत वर्मा सभी निवासी बायला-चकराता, जीतू (35) पुत्र नामालूम निवासी क्वानू-मलेथा व हरिराम शर्मा (48) पुत्र नामालूम निवासी सिरमौर हिमाचल समेत तेरह लोगों शामिल है।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *