omicron-3

ओमिक्रॉन के दिखे 2 नए लक्षण, दर्द होने पर तुरंत कराएं कोविड टेस्ट

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। कोरोना वायरस के मामले अब कम होने लगे हैं। लेकिन कोविड से संक्रमित मरीजों को गंभीर बीमारी और समस्याओं से गुजरना पड़ रहा है। ओमिक्रॉन का लक्षण बहुत हल्के हैं मरीज जल्दी से रिकवर भी हो रहे हैं लेकिन संक्रमण का असर लंबे वक्त मरीजों के शरीर में देखे जा रहे हैं।
कई बार मरीज सर्दी-खांसी और बुखार को सामान्य लक्षण मान रहे हैं ऐसे में इलाज में देरी हो रही है। विशेषज्ञों के मुताबिक ओमिक्रॉन मरीजों को मांसपेशियों में दर्द और जकड़न हो रहे हैं।

डॉक्टर के मुताबिक ओमिक्रॉन का जब पहला मामला आया था तो मरीजों में मांसपेशियों में दर्द की शिकायत भी सामने आई थी। जहां एक तरफदुनिया में लगातार ओमिक्रॉन के आंकड़े बढ़ रहे हैं। ऐसे में इस नए संक्रमण में सांस संबंधी परेशानी तो नहीं होती है लेकिन सर्दी-खांसी, पैरों में दर्द और अजीब से लक्षण महसूस होते हैं तो तुरंत जांच कराएं।

यह भी पढ़ें -   15 जुलाई तक शुरू होगी मुफ्त सिलेंडर की योजना

दो जगह पर गंभीर दर्द हो सकता है –

ओमिक्रॉन के केस में दो गंभीर लक्षण सामने आ रहे हैं। जिसमें शरीर में दो हिस्सों में अधिक प्रभावित कर रहा है। पैर और कंधे। जी हां, कोविड स्टडी के मुताबिक, पिछले दो सालों में कोविड के बॉडी के किसी भी हिस्से को प्रभावित कर सकता है। लेकिन ओमिक्रॉन पैर और कंधे सबसे ज्यादा प्रभावित करता है। इससे मांसपेशियों में दर्द होता है और ज्यादा दर्द पैरों और कंधों में महसूस करते हैं।

यह भी पढ़ें -   डाक्यूमेंट्री फिल्म काली के पोस्टर को लेकर फिल्म मेकर के खिलाफ कराई रिपोर्ट दर्ज

मांसपेशियों में ओमिक्रॉन से दर्द क्यों हो रहा –

-विशेषज्ञों के मुताबिक जब वायरस मस्कुलोस्केलेटल सिस्टम को प्रभावित करता है तो यह मांसपेशियों, जोड़ों और हड्डियों को प्रभावित करता है।जिससे बॉडी में दर्द होता है।

-हालांकि ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर यह दर्द तब तक रहेगा जब तक आप पूरी तरह से ठीक नहीं हो जाते।
पैरों और कंधों में दर्द ओमिक्रॉन के संकेत भी हो सकते हैं।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.