राज्यपाल दो दिवसीय पौड़ी जनपद भ्रमण पर, कहा- आम जनमानस समस्याओं को उनसे मिले

Ad
Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह ( से नि ) अपने दो दिवसीय कार्यक्रम के तहत जनपद पौड़ी पहुंचे। राज्यपाल गुरमीत सिंह जनपद पौड़ी में जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सहित सभी जिला स्तरीय अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों, गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधियों, महिला स्वयं सहायता समूहों तथा आमजन से मुलाकात करेंगे।

राज्यपाल अधिकारियों के साथ-साथ अधिकाधिक आम जनमानस से मिलकर उनकी समस्याओं को जानना चाहते हैं, ताकि उनकी बेहतरी के लिए यथासंभव प्रयास किए जा सके। राज्यपाल गुरमीत सिंह ने दौरे पर जाने से पहले कहा कि यद्यपि वह पहले भी उत्तराखंड के बनबसा में कमांडिंग ऑफिसर के रूप में बटालियन को कमांड कर चुके हैं, लेकिन उत्तराखंड को और बेहतर तरीके से जानने के लिए राज्य के प्रत्येक जनपद का भ्रमण करना चाहते हैं।

यह भी पढ़ें -   आरटीओ में कार्य बहिष्कार का दूसरा दिन-पदोन्नति सभी कार्मिकों का न्यायापूर्ण अधिकार: सुषमा

राज्यपाल गुरमीत सिंह ने अनुरोध किया है कि स्थानीय लोग उनसे मिले। राज्यपाल आम जनमानस से मिलने के लिए उत्सुक तथा उत्साहित हैं। वे धरातल पर जनता की स्थिति को जानना चाहते हैं। यदि कोई नागरिक राज्यपाल से इस कार्यक्रम के दौरान ना मिल पाए, तो वह बाद में भी राज्यपाल से संपर्क स्थापित कर सकता है। लोग राज्यपाल से राजभवन देहरादून में भी मिल सकते हैं या पत्र लिखकर अपनी समस्याओं से अवगत करा सकते हैं। उनका एक-एक क्षण उत्तराखंड की सेवा के लिए समर्पित है।

यह भी पढ़ें -   गंगोत्री से चुनाव लड़ेंगे कर्नल अजय कोठियाल : सिसोदिया

गौरतलब है कि, यद्यपि राज्यपाल गुरमीत सिंह ने हवाई दौरे के माध्यम से हाल ही में राज्य में आई आपदा का जायजा लिया था परंतु वह जनपदीय कार्यक्रम के तहत धरातल स्तरीय स्थिति का आकलन करेंगे। इसके पश्चात राज्यपाल श्री गुरमीत सिंह प्रदेश के मुख्यमंत्री से मुलाकात कर राज्य हित में आवश्यक सुझाव देंगे। राज्यपाल गुरमीत सिंह ने कहा कि आपदा की हजारों फोटो देखने से बेहतर है कि धरातल स्तर पर वास्तविक स्थिति को जाना जाए। अतः यह दौरा महत्वपूर्ण है। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल श्री गुरमीत सिंह एक सैन्य अधिकारी होने के कारण अधिक से अधिक जनमानस से जुड़ना पसंद करते हैं। वह उत्तराखंड के आम जनमानस से मिलकर उनकी समस्याओं, चुनौतियों, आकांक्षाओं तथा अपेक्षाओं को जानना चाहते हैं। वे राज्य के प्रत्येक नागरिक से आत्मीय संबंध बनाना चाहते हैं।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *