घर में घुसकर लाखों रुपए के गहनों व नगदी चोरी का पुलिस ने किया खुलासा, मय माल के साथ 2 को किया गिरफ्तार

खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी/रामनगर। घर में घुसकर लाखों रुपए के गहनों व नगदी चोरी का पुलिस ने किया खुलासा, मय माल के साथ 2 को गिरफ्तार किया। पुलिस ने उनके खिलाफ दर्ज मुकदमें के अन्तर्गत कार्रवाई की है।

ज्ञात हो कि विगत माह अक्टूबर में पीड़ित अतुल कुमार अग्रवाल निवासी द्वारा कोतवाली में लिखित रूप से तहरीर दी थी कि बीती रात्रि उसके घर से अज्ञात चोरो द्वारा 2 मोबाइल जो एवं घर की आलमारी मे रखे लगभग 45 हजार रुपए नगद व सोने के खानदानी जेवरात चोरों द्वारा चोरी कर लिए गए हैं। पुलिस ने मिली तहरीर के आधार पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी।

चोरी की घटना के शीघ्र खुलासे हेतु पुलिस के उच्चाधिकारी गणो द्वारा घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण किया गया व एसएसपी नैनीताल प्रहलाद नारायण मीणा द्वारा अधीनस्थ पुलिस अधिकारी गणों को निर्देशित किया गया। जिस क्रम पुलिस अधीक्षक अपराध/यातायात डॉ. जगदीश चंद्र के दिशा निर्देशन एवं क्षेत्राधिकारी रामनगर बलजीत सिंह भाकुनी मार्गदर्शन में प्रभारी निरीक्षक अरुण कुमार सैनी द्वारा व0उ0नि0 मनोज नयाल और उ0नि0 तारा सिंह राणा के नेतृत्व में स्थानीय पुलिस टीमो का गठन किया गया।
जांच के दौरान ज्ञात हुआ अभियुक्तगणों द्वारा घर के मुख्य दो रास्तो के अतिरिक्त घर की छत के कुण्डी लगी दरवाजे को खोलकर घर में प्रवेश कर घटना को अंजाम दिया गया था जोकि प्रथम दृष्टया घटना जटिल होना प्रतीत हो रही थी व घटना के सम्बन्ध में कोई सुराग नही लग पा रहा था। गठित पुलिस टीमो द्वारा चोरी के खुलासे के लिए मोबाइल सर्विलांस व आधुनिक तकनीकों का प्रयोग करते हुए अज्ञात अभियुक्तगणों की तलाश प्रारम्भ की गयी। अभियुक्तगणों की तलाश करते हुये पुलिस टीम द्वारा घटनास्थल से अज्ञात चोरो के गिरफ्तारी स्थान तक लगभग 100 से अधिक सीसीटीवी कैमरों खंगाला कई संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ करते हुये अभियुक्तगणों की तलाश में उत्तर प्रदेश, दिल्ली आदि राज्यों में दबिश दी गयी।

यह भी पढ़ें -   कुछ घरेलू नुस्खे बताते हैं जो झट से सूखी खांसी को खत्म कर देंगी

इसी बीच जांच के दौरान जानकारी प्राप्त हुई कि दिल्ली से 2 संदिग्ध व्यक्ति ऊंटपड़ाव क्षेत्र में दिखायी दिये हैं जो ऊटपड़ाव में छोटी नहर के पास किसी के घर आये हुए थे तथा घटना वाले दिन भी वह घटनास्थल के आस पास नजर आये। पुलिस द्वारा ऊँटपडाव क्षेत्र में जाकर पूछताछ की गयी तो ज्ञात हुआ कि दिलीप कुमार व मोनू नाम के व्यक्ति दिल्ली से ऊँटपडाव रामनगर में आये थे। इस बीच पुलिस को शुक्रवार की शाम जानकारी मिली कि दो अज्ञात व्यक्ति कुछ महंगे फोन को सस्ते दामों में बेचने के लिए मोबाइल शॉप की दुकानों के चक्कर काट रहे हैं। जिस पर स्थानीय थाना पुलिस द्वारा त्वरित रूप से दबिश देकर दोनों संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ की गई जिनके कब्जे से 01 मोबाइल टच स्क्रीन विवो मोबाइल विगत दिनों चोरी हुई घटना से संबंधित निकले।
जिनकी तलाशी लेने पर उनके कब्जे से 600 रुपये नकद पीली धातु के एक जोडी कंगन, एक चौन मय लॉकेट, एक लॉकेट अण्डाकार व सफेद / बैगनी मोतियो की माला , एक जोडी कानो के टॉपस, एक जोडी कान के पत्तिनुमा टॉपस, एक छोटी डिब्बी के अन्दर 02 छोटी फूलियाँ , पोस्ट ऑफिस की चौक बुक, एक उत्तराखण्ड ग्रामीण बैक की चौकबुक तथा दुसरे व्यक्ति मोनू के कब्जे से 01 मोबाइल सैमसंग टच स्क्रीन, 600 रुपये नकद, पीली धातु के 02 जोडी कंगल , 03 नग पायल, 04 नग बिछुवे ,एक जोडी कानो की बाली, एक छोटी चाँदी की सुराईनुमा सिन्दुरदानी बरामद हुए।
पुलिस द्वारा जब दोनो अभियुक्तगणों से विस्तृत पूछताछ की गई तो अभियुक्त गणों द्वारा बताया कि हम दोनों नशे के आदी है। अभियुक्त दिलीप कुमार द्वारा बताया कि मैं पूर्व में चोरी के मामले में दिल्ली से दो बार तिहाड जेल जा चुका हुँ । मैंने कई बार चोरी की है पर मैं केवल दो बार ही अब तक पकडा जा चुका हुँ । बीते 7 अक्टूबर को हम दिल्ली से काशीपुर आये । रात्रि में हम काशीपुर में बडी चोरी की योजना बना रहे थे परन्तु सफल नही हो पाये । उसके बाद 8 अक्टूबर को हम दोनों रामनगर को आये और गर्जिया घूमे । गर्जिया मन्दिर घूमने के उपरान्त मोनू की रिश्तेदारी में ऊँटपडाव में रुके। 9 अक्टूबर को हम दोनों ने रामनगर क्षेत्र में रैकी की शाम के समय हम वेणु अस्पताल के पीछे रुके रात्रि लगगभ 2.00 बजे हम वेणू अस्पताल की दीवार से होते हुये गुरुद्वारे के पास वाले मकान की छत पर गये और छत के दरवाजे का कुण्डी खोलकर कमरे के अन्दर अलमारी से सोने के लगभग 16 तोले गहनों, 20 तोला चाँदी व 2 मोबाइल जो लगभग 80 हजार रुपये के थे चोरी किए। चोरी करने के बाद हम वापस वेणू अस्पताल के पीछे रहे जब हमें सुबह पता चला कि चोरी के बारे में पुलिस को पता चल चुका है व पकडे जाने की डर से हम लोग सोने व चाँदी के सामान को मय थैलों के साथ रेलवे स्टेशन के पास मिट्टी में गाढ कर चले गये थे। पैसे व दोनों मोबाइल फोन को अपने साथ लेकर चले गये थे। मोबाइल फोन व पैसे हम दोनों ने बाँट लिये थे। काफी दिन व्यतीत हो जाने के बाद हमें लगा कि मामला ठण्डा हो गया होगा व हमारे पास पैसे भी खत्म हो गये थे । हम दोनों कल गहनों को लेने के लिए दिल्ली से रामनगर आय़े थे। हम दोनों ने जिस जगह पर गहने गाढे थे उस स्थान से हमने गहने निकाले और दोनों ने रख लिये। शाम के समय हम स्टेशन के मैदान के पास चोरी किये मोबाइल फोन को सस्ते दामों में बेच रहे थे कई लोगो ने हमसे बिल मांगा हमने कहा कि मोबाइल फोन का बिल हमारे पास नही है जिस कारण कई लोगो ने मोबाइल फोन नही लिये। दोनों अभियुक्तगणों को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा जा रहा है।

यह भी पढ़ें -   श्रावण माह 2024: 2 राजयोग में शुरू हो रहा है सावन सोमवार, रात्रि में कर लें मात्र 2 उपाय, शिवजी होंगे प्रसन्न

चोरी की घटना का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा 25 सौ रुपये के नगद पुरुस्कार देने की घोषणा की गयी है।
पुलिस टीम में व0उ0नि0 मौ0 यूनुस, कानि0 संजय दोसाद, महबूब आलम, प्रयाग कुमार, विपिन शर्मा, भारती, राजेश कुमार शामिल थे।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440