नाड़ी दोष क्या होता है?

खबर शेयर करें

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। आज मैं आपको नाड़ी दोष क्या है इसके बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाला हूं इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें और अगर आपको लगता है की यह किसी और के लिए महत्वपूर्ण हो सकता है तो उन तक भी इस आर्टिकल को जरूर पहुंचाएं।
नाड़ी दोष क्या होता है?

  • विवाह के समय जब लोग कुंडली मिलान करते हैं तो उन्हें कई बार इस दोष के बारे में पता चलता है। कुंडली मिलान में कुल 36 गुण मिलाए जाते हैं। इसमें से वर और वधू के कम से कम 18 गुण मिलने चाहिए। इससे ज्यादा जितने मिल जाएं उतना ही अच्छा है।
  • इन्हीं गुण मिलान में उत्पन्न होता है नाड़ी दोष। अगर वर और वधू दोनो की नाड़ी एक हो जाए तो यह दोष उत्पन्न होता है। ज्योतिष में इसे एक बहुत बुरा योग माना जाता है। इसके परिणामस्वरूप वर वधु के जीवन को भी खतरा रहता है या उनका दांपत्य जीवन बिलकुल भी खुशहाल नहीं रहता।
    नाड़ी दोष के प्रकार
  • नाड़ी तीन प्रकार की होती है आदि नाड़ी, मध्या नाड़ी तथा अन्त्य नाड़ी। इनमें से अगर वर और वधु दोनों की नाड़ी एक हो जाए तो नाड़ी दोष उत्पन्न होता है। ऐसे में पति-पत्नी के दांपत्य जीवन को अच्छा नहीं माना जाता।
  • अगर पति पत्नी की आदि नाड़ी हो तो दोनों में तलाक या अलगाव की स्थिति बन सकती है। ऐसे में विवाह करते समय व्यक्ति को सतर्क रहना चाहिए तथा कुंडली मिलान अवश्य करना चाहिए।
  • आदि नारी के अलावा मध्या तथा अन्त्य नाड़ी और भी खतरनाक मानी जाती है अगर वर-वधू की मध्या तथा अन्त्य नाड़ी हो जाए तो दोनों में से किसी एक के जीवन को खतरा रहता है इसीलिए अक्सर ज्योतिषियों की सलाह रहती है की कुंडली मिलान करके ही विवाह करें।

नाड़ी दोष का प्रभाव

  • ज्योतिष शास्त्र में नाड़ी दोष एक बहुत बड़ा दोष माना जाता है जिसके परिणाम स्वरूप पति पत्नी को अपने जीवन में अनेक प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।
  • अगर दोनों की कुंडली में सभी गुण मिल रहे हैं लेकिन नाड़ी दोष उत्पन्न हो गया तो उन्हें विवाह नहीं करना चाहिए अन्यथा चाहे जितने भी गुण मिले हो उन्हें समस्याओं का सामना तो करना ही पड़ेगा। दोनों में मनमुटाव बना रहेगा साथ ही स्वास्थ्य में भी समस्याएं आ सकती हैं।
  • कई बार लोग मुझसे पूछते हैं कि क्या इसका कोई उपाय नहीं है। मैं अवश्य ही आपको सलाह दूंगा की अगर आपका विवाह नहीं हुआ है तो आप ज्योतिषी परामर्श लेने के बाद ही विवाह करें लेकिन अगर आपका विवाह हो गया है और आपको पता चलता है कि आपके और आपके पति या पत्नी की कुंडली में नाड़ी दोष है तो आपको मेरे द्वारा बताए गए उपाय करने चाहिए।
यह भी पढ़ें -   विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा आयोजित सम्मेलन में राज्य में बढ़ती साम्प्रदायिक तनाव की घटनाओं पर जताई चिन्ता

नाड़ी दोष से बचने के उपाय

  • मैं सर्वप्रथम आपको यह बता देना चाहता हूं कि यह उपाय उनके लिए नहीं है जो विवाह से पूर्व अपनी कुंडली दिखा रहे हैं क्योंकि ऐसे व्यक्तियों के लिए मेरी सलाह यही है कि आप विवाह ना करें या नजदीकी ज्योतिषीयों से परामर्श अवश्य लें।

यह उपाय उनके लिए है जिनका अनजाने में विवाह हो गया और उसके पश्चात वे अपने जीवन में समस्याओं को कम करना चाहते हैं तो हमारे द्वारा बताए गए उपाय करें।

महामृत्युंजय मंत्र का जाप करें
अगर आपको पता चलता है कि आपके आपके पति के कुंडली में नाड़ी दोष है तो आपको नित्य प्रतिदिन महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना चाहिए। अगर आप चाहे तो पंडित से बुलवा कर भी इसका जाप करा सकते हैं जिससे आपके जीवन को सुरक्षा प्राप्त होगी तथा आप स्वस्थ भी रह पाएंगे।

दान पुण्य करें
नाड़ी दोष उत्पन्न होने पर आप दान पुण्य का सहारा अवश्य लें। किसी ब्राह्मण को बुलाकर भोजन करवाएं तथा उन्हें वस्त्र तथा अनेक वस्तुएं दान करें। ऐसा करने से आपके ऊपर से संकट कम होंगे।

यह भी पढ़ें -   आतिथ्य क्षेत्र में निवेश के लिए उत्तराखण्ड कर रहा आकर्षित: सतपाल महाराज

नाड़ी दोष निवारण पूजा करें
आप किसी ज्योतिषीय से मिलकर नाड़ी दोष निवारण की पूजा कर सकते हैं जिससे आपके जीवन में अनेक प्रकार की समस्याओं से छुटकारा मिल सकता है।

भगवान विष्णु की आराधना
आपको भगवान विष्णु की आराधना करने से राहत अवश्य मिलेगी। अगर आप चाहें तो प्रत्येक बृहस्पतिवार को विष्णु भगवान का व्रत तथा कथा पढ़ सकते हैं। यह आपको लंबी आयु देने में मदद करेगा साथ ही जीवन में समस्याओं को कम करेगा।
ऐसी परिस्थिति में नहीं बनता नाड़ी दोष

  1. अगर लड़का और लड़की दोनों का जन्म एक ही नक्षत्र के एक ही चरण में या विभिन्न चरणों में हुआ हो तो नाड़ी दोष नहीं माना जाता है।
  2. अगर लड़का लड़की दोनों में नाड़ी दोष बन रहा है लेकिन दोनों का जन्म एक ही नक्षत्र में हुआ है और उनकी जन्म राशि विभिन्न है तो नाड़ी दोष नहीं माना जाता है।

आप इस बात का निर्णय स्वयं सेना लेकर आपकी कुंडली में नाड़ी दोष है या नहीं इसके लिए आपको किसी ज्योतिषी से सलाह लेनी चाहिए।

मैं अंत में आपको एक सलाह देना चाहूंगा कि कृपया इस दोष को हल्के में ना लें। मैं आपको इस दोष से संबंधित एक कहानी सुनाता हूं जो कि मेरे समक्ष ही घटित हुई है।

एक बार दो प्रेम करने वाले अपनी कुंडलियां लेकर मेरे पास आए तो मैंने उनको सलाह दी कि आपकी कुंडली में नाड़ी दोष बन रहा है या तो आप इसका उपाय करें या फिर आप विवाह ना करें लेकिन उन्होंने मेरी सलाह नहीं मानी और उन्होंने विवाह कर लिया लेकिन आज के समय में वह दोनों अलग अलग रह रहे हैं और तलाक की स्थिति बनी हुई है इसलिए मेरी आपको सलाह रहेगी कि आप इस दोष को हल्के में ना लें।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.