साध्वी ऋतंभरा की मानवता सेवा को देश-विदेश ने माना

खबर शेयर करें

लेखकः रविंद्र आर्य
अयोध्या आंदोलन की स्तंभ, राम मंदिर आंदोलन की आवाज रहीं साध्वी, 1990 के दशक की प्रतिष्ठित साध्वी महिला, दीदी मां ‘ऋतंभरा’, ये वही साध्वी ऋतंभरा हैं, जो युवावस्था में अपने ओजस्वी भाषणों और कविताओं से राम भक्तों में जोश भर देती थीं। साध्वी ऋतंभरा राम मंदिर आंदोलन के स्तंभों में से एक हैं। साध्वी ऋतंभरा एक प्रसिद्ध हिंदू धार्मिक नेता और सामाजिक कार्यकर्ता भी हैं, जिनका योगदान समाज के कल्याण और सेवा के क्षेत्र में उल्लेखनीय है। गुरु स्वामी परमानंद महाराज के आशीर्वाद से, उन्होंने मानव सेवा के लिए कई महत्वपूर्ण पहल शुरू की हैं, जिनमें से कुछ प्रमुख इस प्रकार हैं।

वात्सल्य ग्रामः साध्वी ऋतंभरा द्वारा स्थापित वात्सल्य ग्राम, वृंदावन में स्थित एक आश्रम है जो महिलाओं और बच्चों को समर्पित है। यहां अनाथ और परित्यक्त बच्चों को परिवार जैसा माहौल मिलता है। बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ्य और विकास पर विशेष ध्यान दिया जाता है। बाल विकास कार्यक्रमरू वात्सल्य ग्राम आश्रम अनाथ बच्चों के लिए विशेष शिक्षा, स्वास्थ्य और आवास की सुविधा प्रदान करता है। यहां बच्चों को स्नेहिल वातावरण में पाला जाता है।

यह भी पढ़ें -   UK: अल्मोड़ा में नाबालिग लड़की के साथ अधेड़ ने किया रेप, पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज

महिला सशक्तिकरणः साध्वी ऋतंभरा महिला सशक्तिकरण के लिए विभिन्न कार्यक्रम चलाती हैं। इनमें श्रृंगार सौंदर्य, सिलाई, कढ़ाई, कंप्यूटर शिक्षा, हस्तशिल्प और अन्य व्यावसायिक प्रशिक्षण शामिल हैं, जो महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने में मदद करते हैं। आश्रम महिलाओं के लिए कई कौशल विकास कार्यक्रम संचालित करता है ताकि वे आत्मनिर्भर बन सकें। शिक्षा के क्षेत्र में भी साध्वी ऋतंभरा का योगदान महत्वपूर्ण है। उन्होंने कई स्कूल और शैक्षणिक संस्थान स्थापित किए हैं जहाँ बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान की जाती है। आश्रम एक स्कूल भी चलाता है जहाँ बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दी जाती है। शिक्षा के साथ-साथ नैतिक और सांस्कृतिक मूल्यों का भी संचार किया जाता है।

स्वास्थ्य सेवाएंः साध्वी ऋतंभरा द्वारा चलाए जा रहे स्वास्थ्य केंद्र गरीब और जरूरतमंद लोगों को मुफ्त या सस्ती स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करते हैं। ये सेवाएं लोगों के लिए विशेष रूप से ग्रामीण और पिछड़े क्षेत्रों में बहुत फायदेमंद हैं। यहां एक स्वास्थ्य केंद्र भी है जो स्थानीय समुदाय को मुफ्त या सस्ती स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करता है।

यह भी पढ़ें -   नैनीतालः संदिग्ध परिस्थितियों में पेड़ से लटकता मिला आईटीबीपी जवान का शव, मृतक मूल रूप से पिथौरागढ़ का रहने वाला है

आध्यात्मिक मार्गदर्शनः साध्वी ऋतंभरा धार्मिक एवं आध्यात्मिक सत्संग के माध्यम से लोगों को नैतिक एवं आध्यात्मिक मार्गदर्शन प्रदान करती हैं। उनके प्रवचन एवं शिक्षाएं लोगों को सही मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करती हैं। तथा इस आध्यात्मिक वातावरण में वात्सल्य ग्राम आश्रम का वातावरण शांत एवं आध्यात्मिक है। यहां नियमित रूप से योग, ध्यान एवं सत्संग का आयोजन किया जाता है, जिससे मानसिक शांति एवं आध्यात्मिक विकास में सहायता मिलती है। वात्सल्य ग्राम आश्रम का उद्देश्य केवल शारीरिक एवं आर्थिक विकास ही नहीं, बल्कि भावनात्मक एवं आध्यात्मिक विकास भी है। यह स्थान आदर्श समाज की स्थापना में महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है। साध्वी ऋतंभरा का जीवन एवं कार्य निस्वार्थ सेवा एवं समाज कल्याण के लिए समर्पित है। उनके मानव सेवा कार्य न केवल समाज के वंचित एवं कमजोर वर्गों की सहायता करते हैं, बल्कि समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

Ad Ad Ad Ad Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440