शनिश्चरी अमावस्या पर बन रहा विशेष संयोग, इन उपायों को करने से शनि दोष से मिल सकती है मुक्ति

खबर शेयर करें

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। हिंदू धर्म में शनिश्चरी अमावस्या का विशेष महत्व है। आपको बता दें कि जब भी शनिवार के दिन अमावस्या तिथि का संयोग बनता है। तो उस दिन को शनिश्चरी अमावस्या कहा जाता है। वैदिक पंचाग के अनुसार भाद्रपद की अमावस्या 27 अगस्त, शनिवार को पड़ रही है। वहीं 14 साल बाद ऐसा संयोग बन रहा है, जब शनि देव अपनी स्वराशि मकर में विराजमान हैं। इसलिए शनि देव की पूजा कर शनि दोष से मुक्ति पाई जा सकती है। वहीं इस तिथि पर स्नान दान और पितरों की भी पूजा की जाती है। आइए जानते हैं शनि देव को प्रसन्न करने के उपाय-

बन रहे हैं 2 शुभ योग
ज्योतिष पंचांग के मुताबिक भाद्रपद मास की अमावस्या तिथि 26 अगस्त को दोपहर 12 बजकर 24 मिनट से शुरू होगी और 27 अगस्त शनिवार की दोपहर 01 बजकर 47 मिनट तक रहेगी। वहीं सूर्याेदय तिथि को आधार मानकर शनि अमावस्या 27 अगस्त को ही मनाई जाएगी। इसके साथ ही इस दिन पद्म और शिव नाम के दो शुभ योग भी बन रहे हैं। इन योगों में पूजा करने का दोगुना फल प्राप्त होता है। साथ ही शनि देव की भी कृपा प्राप्त होगी।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड उपनल कर्मियों के लिए खुशखबरी, बढ़ा मानदेय, आदेश जारी

शनि देव को प्रसन्न करने के उपाय

शनि प्रतिमा के आगे जलाएं दीपक
शनि अमावस्या के दिन शाम को शनि मंदिर जाकर शनि चालीसा का पाठ करें। साथ ही शनि देव की प्रतिमा के सामने सरसों के तेल का दीपक जलाएं। सरसों का तेल चढ़ाएं। साथ ही उन्हें काला कपड़ा अर्पित करें। वहीं इस दिन पीपल के पेड़ पर भी दीपक जरूर जलाएं। ऐसा करने से पितृ दोष से भी मुक्ति मिलती है और शनि देव का आशीर्वाद प्राप्त होगा।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखण्ड के दून में फिर गुलदार की दहशत, रात में शौच को निकले 10 वर्षीय बच्चे को बनाया निवाला

रुद्राक्ष करें धारण
रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शिव के आंसुओं ने मानी जाती है और शनि देव के भगवान शिव गुरु माने जाते हैं। इसलिए शनि अमावस्या के दिन सातमुखी रुद्राक्ष को गंगाजल में धोकर धारण करें। मान्यता है ऐसा करने से सारी समस्याएं दूर हो सकती हैं।

इन मंत्रों का करें जाप
साथ ही शनि अमावस्या के दिन ‘ऊं प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः’ और ऊं शं शनिश्चरायै नमः’ इन दो मंत्रों का जाप करें। इस दिन जरूरतमंदों को कुछ न कुछ दान भी जरूर करें। ऐसा करने से आपको शनि देव की कृपा प्राप्त होगी।

इन चीजों का करें दान
शनि अमावस्या के दिन काली चीजों जैसे उड़द की दाल, काला कपड़ा, काले तिल और काले चने को किसी गरीब या जरूरतमंद को दान देने से शनिदेव की कृपा बनी रहती है।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440