स्वराज हिन्द फौज के संस्थापक सुशील भट्ट का मनाया 42वां जन्मदिन

खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। स्वराज हिन्द फौज के संस्थापक एवं केन्द्रीय अध्यक्ष सुशील भट्ट का 42वां जन्मदिवस पी0डब्ल्यू0डी0 गेस्ट हाउस तिकोनिया के प्रांगण में बड़े ही धूमधाम व हर्षाेल्लास के साथ मनाया गया। भट्ट के जन्मदिन के अवसर पर गायत्री शक्ति पीठ के पंड़ितों द्वारा हवन यज्ञ व वैदिक मंत्रोच्चार से पूजन कर सुशील भट्ट का जन्म दिवस का पूजन किया गया। स्वराज हिन्द फौज के कार्यकर्ताओं द्वारा सुशील भट्ट को माल्यार्पण कर उनके 19 वर्षों के राजनीतिक क्रियाकलापों एवं संघर्षों व उनके सामाजिक आंदोलनों की उपलब्धियों पर चर्चा की गयी।
जन्मदिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सुशील भट्ट ने कहा कि वे अपने इस जन्मदिवस को देश भर में आंदोलनरत किसानों की जीत को समर्पित करते हैं क्योंकि किसान देश का अन्नदाता है, जब तक किसान खुशहाल नहीं होगा तब तक देश में खुशहाली एवं समृद्धि नहीं आ सकती। पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 लाल बहादुर शास्त्री भी देश के किसानों की अहमियत को समझते थे उनके द्वारा किसानों को देश के जवानों के बराबर ही महत्व देते हुए ‘जय जवान-जय किसान’ का नारा दिया था। लेकिन आज केवल वोट बैंक बढ़ाने के लिए देश को तोड़ने वाले नेताओं का राष्ट्र व समाज से सरोकार कम होने लगा है।
सुशील भट्ट ने कहा कि स्वराज हिंद फौज का मूल उद्देश्य भारत वर्ष में वास्तविक स्वराज की स्थापना करना है तथा साथ ही देश की दिशाविहीन लोकतांत्रिक व्यवस्था को दुरूस्त करना है एवं देश की आजादी के लिए शहीद हुए क्रांतिकारियों के सपनों का एक नया भारत बनाना उनके संगठन का मुख्य ध्येय है।
देश के प्रमुख राजनीतिक दलों में लोकतंत्र की चिंता करते हुए सुशील भट्ट ने कहा कि आज राजनीतिक पार्टियों में पद तथा विधान सभा व लोकसभा का टिकट बिना धन-बल व चापलूसी के नहीं मिल सकता। आज राजनीतिक दलों को चाहिए कि वे योग्य व चरित्रवान लोगों को आगे बढ़ाने का कार्य करें। राजनीतिक दलों में आज योग्य व ईमानदार नेता पीछे हो रहे हैं वहीं चापलूस व स्वार्थी लोग आगे बढ़ रहे हैं जो कि लोकतंत्र के लिए एक बहुत बड़ा खतरा है, वे चाहते हैं कि राजनीति में अच्छे व ईमानदार लोग आगे आयें।

Ad

इस अवसर पर ब्राह्मण उत्थान महासभा के अध्यक्ष पं. विशाल शर्मा, गिरीश चन्द्र लोहनी, सुरेश चन्द्र कपिल, फौजी सुनील भट्ट, ज्ञानेन्द्र सिंह, चन्द्रपाल मौर्य, अमृत पांडे, हिमांशु पांडे, कमल पन्त, नरेंद्र कुमार पांडे,पीयूष पांडे, देवेंद्र भौर्याल, अविरल श्रोत्रिय, आशुतोष दीपक, सूरज बिनवाल,नरेन्द्र शर्मा, करूणा शंकर काण्डपाल, कुणाल शुक्ला समेत कई लोग उपस्थित थे।

Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *