जम्मू-कश्मीर के रियासी में तीर्थ यात्रियों से भरी बस पर आतंकी हमला, 9 की मौत और 33 घायल

खबर शेयर करें

समाचार सच, जम्मू-कश्मीर/दिल्ली (एजेन्सी)। जम्मू-कश्मीर के रियासी में शिवखोड़ी जा रही तीर्थयात्रियों की बस पर रविवार को आतंकवादी हमला हुआ। इसमें 9 लोगों की जान चली गई और 33 लोग घायल हो गए। एसएसपी रियासी मोहिता शर्मा ने यह जानकारी दी। Terrorist attack on a bus full of pilgrims in Reasi, Jammu and Kashmir

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने एक बयान में कहा कि आज शाम करीब 6.10 बजे राजौरी जिले की सीमा से लगे रियासी जिले के पौनी इलाके में शिवखोड़ी से कटरा जा रही तीर्थ यात्रियों की बस को आतंकवादियों ने अपना निशाना बनाया। बस ड्राइवर ने अपना कंट्रोल खो दिया और बस खाई में जाकर गिर गई। स्थानीय लोगों की मदद से पुलिस ने रात 8.10 बजे तक सभी यात्रियों को बाहर निकाल लिया। एसपी रियासी ने सभी लोगों को अलग-अलग अस्पताल में भेज दिया है।

हादसे का वीडियो सामने आया है और उसमें दिख रहा है कि बस सड़क से नीचे गहरी खाई में जा गिरी। घटनास्थल पर लोगों की भीड़ जमा हो गई है। जैसे ही बस घाटी में गिरी, यात्री बाहर छिटक गए और चट्टानों से टकरा गए। मृतकों में महिलाएं भी शामिल हैं।

राहुल गांधी ने संवेदना व्यक्त की
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के रियासी जिलों में, शिवखोड़ी मंदिर से तीर्थयात्रियों को ले जा रही बस पर हुआ कायरतापूर्ण आतंकवादी हमला अत्यंत महत्वपूर्ण है। यह शर्मनाक घटना जम्मू-कश्मीर के चिंताजनक सुरक्षा हालातों की असली तस्वीर है। मैं सभी शोक संतप्त पीड़ितों को अपनी गहरी संवेदनाएं देता हूं और घायलों के जल्द से जल्द ठीक होने की आशा करता हूं। पूरा देश एकजुट होकर शांति के खिलाफ खड़ा है।

यह भी पढ़ें -   सखी सहेली ग्रुप की सुमन अध्यक्ष व खुशबू बनी महामंत्री

मल्लिकार्जुन खड़गे ने हमले की निंदा की
मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी एनडीए सरकार के शपथ ग्रहण समारोह और कई देशों के राष्ट्राध्यक्षों के देश में आगमन के बीच तीर्थयात्रियों को ले जा रही बस पर हुए एक जघन्य आतंकवादी हमले में कम से कम 10 भारतीयों की जान चली गई। हम अपने लोगों पर हुए इस जघन्य आतंकवादी हमले और हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा के प्रति जानबूझकर किए गए इस अपमान की स्पष्ट रूप से निंदा करते हैं। हम पीड़ितों के परिवारों के प्रति अपनी हार्दिक संवेदना व्यक्त करते हैं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हैं।

सरकार और अधिकारियों को पीड़ितों को तत्काल सहायता और मुआवजा प्रदान करना चाहिए। अभी तीन सप्ताह पहले ही पहलगाम में पर्यटकों पर गोलीबारी की गई थी और जम्मू-कश्मीर में कई आतंकवादी घटनाएं बेरोकटोक जारी हैं। मोदी (अब एनडीए) सरकार द्वारा शांति और सामान्य स्थिति लाने का सारा प्रचार खोखला साबित हुआ है। भारत आतंकवाद के खिलाफ एकजुट है।

उमर अब्दुल्ला ने भी हमले की निंदा की
उमर अब्दुल्ला ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के रियासी से भयानक खबर आई है, जहां एक बस पर हुए आतंकी हमले में 10 यात्रियों की मौत हो गई है और कई अन्य घायल हो गए हैं। मैं इस हमले की कड़ी निंदा करता हूं। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि जिन इलाकों से पहले आतंकवादियों को पूरी तरह से हटा दिया गया था, वहां फिर से आतंकवाद की वापसी हो गई है। मृतकों की आत्मा को शांति मिले और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

यह भी पढ़ें -   दून मेडिकल कालेज में नर्सिंग स्टाफ को बायोमैट्रिक हाजिरी न लगाना पड़ा महंगा, वेतन पर लगी रोक

यूपी से भी जा रही बस खाई में जा गिरी थी
कुछ दिन पहले उत्तर प्रदेश के हाथरस से आ रही एक बस के अखनूर में गहरी खाई में गिरने से नौ महिलाओं और दो बच्चों समेत 22 श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी और 57 घायल हो गए थे। वहीं, पिछले साल नवंबर में डोडा जिले में एक बस के पहाड़ से 300 फीट नीचे गिरकर दूसरी सड़क पर गिर जाने से 39 यात्रियों की मौत हो गई और 17 घायल हो गए।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ड्राइवर समेत 56 यात्रियों को लेकर निजी बस 16 नवंबर को सुबह 8रू20 बजे जम्मू के लिए पांच घंटे की यात्रा के लिए किश्तवाड़ से रवाना हुई। हालांकि, सुबह 11रू50 बजे डोडा के असर इलाके में ड्राइवर ने बस से नियंत्रण खो दिया। यह दुर्घटना अनंतनाग जिले के खानबल को रामबन के बटोटे से जोड़ने वाले नेशनल हाईवे 244 पर अस्सार के ट्रुंगल में हुई।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440