करोड़ों की संपत्ति का मालिक निकला गिरफ्तार लिपिक

खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किए गए देहरादून कैंट बोर्ड के लिपिक (कर) रमन अग्रवाल से पूछताछ में सीबीआइ को उसकी करोड़ों रुपये की संपत्ति का पता चला है। उसके कुछ बैंक लाकरों का भी पता लगा है, जिनकी अभी जांच की जानी है। इसके अलावा आरोपित के कुछ बैंक खातों को सीबीआइ ने फ्रीज करवा दिया है। सीबीआइ इस मामले में ईडी को भी पत्र लिख सकती है।

सीबीआइ टीम ने बीते गुरुवार को कैंट बोर्ड के कार्यालय अधीक्षक शैलेंद्र शर्मा और लिपिक रमन अग्रवाल को 25 हजार रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार किया था। इसके बाद संपत्ति का पता करने के लिए सीबीआइ ने उनका तीन दिन का पुलिस रिमांड लिया। पूछताछ के बाद सोमवार को सीबीआइ ने दोनों को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। सीबीआइ उनके विरुद्ध आय से अधिक संपत्ति के आरोप में भी मुकदमे दर्ज कर सकती है। सीबीआइ के सूत्रों के मुताबिक, दोनों के पास से कुछ ज्वेलरी भी मिली है, जिसके आय के स्रोत से मिलान किया जा रहा है। उनकी संपत्ति भी आय से अधिक हो सकती है। यदि आकलन में यह पुष्ट हुआ तो दोनों के विरुद्ध आय से अधिक संपत्ति रखने का मुकदमा भी दर्ज किया जा सकता है। पूछताछ में देहरादून कैंट बोर्ड की एक पूर्व अधिकारी व उसके चालक का नाम भी सामने आ रहा है। सीबीआइ जल्द उनसे पूछताछ कर सकती है।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440