वधु पक्ष ने लाखों रूपये खर्च कर की थी सभी तैयारियां पूर्ण, पर दहेज लोभियों ने शादी के कुछ दिन पूर्व ही किया इन्कार

खबर शेयर करें

The bride’s side had spent lakhs of rupees and completed all the preparations, but the dowry greedy refused a few days before the wedding.

समाचार सच, हल्द्वानी। वधुपक्ष द्वारा लाखों रूपये खर्च कर अपनी लाडली की शादी की सभी तैयारियां पूर्ण कर ली थी लेकिन दहेजलोभियों ने मन मुताबिक दहेज न मिलने पर शादी के कुछ दिन पूर्व ही रिश्ता तोड़ दिया। इतना ही नहीं वह बारात लेकर भी नहीं पहुंचे। इसके चलते सभी तैयारियां धरी की धरी रह गई। वधु पक्ष ने वर पक्ष के परिजनों के खिलाफ पुलिस में मुकदमा दर्ज कराया है।

बरेली रोड स्थित उत्तर उजाला निवासी अमन द्वारा पुलिस को सौंपी तहरीर में बताया कि उसकी बड़ी बहन 26 वर्षीय चांदनी का विवाह बिचौलिया इस्लाम के माध्यम से समीर चमोली के थराली स्थित देवराड़ा निवासी समीर के साथ तय हुआ था। 22 अगस्त 2022 को सगाई वनभूलपुरा में ही हुई। सगाई में समीर का पिता नसीर अहमद व उसकी पत्नी गुडिया व पुत्र समीर तथा छोटा पुत्र आरीश तथा पुत्री सेहरीन भी शामिल हुए थे। सगाई में चांदनी के परिजनों के लगभग एक लाख रुपये खर्च हुए। दोनों पक्षों की सहमति से विवाह की तिथि 1 मार्च तय की गई। इसके बाद बराबर फोन पर बात होती रही तथा प्रार्थी ने अपनी बहन चाँदनी के विवाह के लिए शादी के कार्ड भी छपवा लिए थे, तथा घुंघट बैंकट बरेली रोड, हल्द्वानी में बुकिंग के लिए एडवांस एक लाख रूपये की धनराशि माह दिसम्बर 2022 में जमा करा दी गई। भेंट स्वरूप विवाह के समय फर्नीचर जिसमें टेबल, सोफा, पलंग, गद्दे आदि सामान के लिए 1 लाख साठ हजार रूपये भी दिए गए। लगभग 39 हजार रुपये का इलेक्ट्रोनिक सामान व बर्तन 17,745 रूपये में खरीदे गए। खाना बनाने वाले को 70 हजार रुपये एडवांस भी दिया गया। इन सभी तैयारियों में चांदनी के परिजनों के लगभग 3,86,745 रूपये खर्च हुए।

यह भी पढ़ें -   23 मई से ज्येष्ठ मास शुरू जाने बड़ी बातें, क्या और क्यों है महत्व इस माह का

लेकिन अचानक समीर के पिता नसीर ने उनसे स्विफ्ट डिजायर की मांग की गयी। अमन ने गाड़ी देने में असमर्थता व्यक्त करने पर उसकी बुआ ने नई वेगनार देन का दवाब बनाया। पुनः मना करने पर नसीर अहमद तथा उसकी पत्नी गुड़िया ने घर वापस पहुँचने पर मोबाईल के माध्यम से आगे के कार्यक्रम बावक्त बताने के लिए कहा गया। लेकिन सात दिन बाद उन्होंने शादी से इंकार कर दिया। अमन ने बताया कि समीर उसके पिता नसीर अहमद उसकी माता गुड़िया उसकी बड़ी बहन सेहरीन (शादी शुदा) छोटा भाई आरीश निवासी ने एक षड़यंत्र कर चाँदनी का भविष्य अंधकार में कर दिया। आज तक उन्हें उम्मीद थी कि समीर के परिजन बारात लेकर आएंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ और चांदनी की बारात नहीं आई। अमन के अनुसार इन लोगों ने पूर्व पूर्व में भी समीर का रिश्ता लगभग 4 बार तोड़ा गया है। अब उसने पुलिस ने न्याय की गुहार लगाई है। तहरीर के आधार पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर अपनी कार्रवाई शुरू कर दी है।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440