तीनपानी फ्लाईओवर पर मिले युवती के शव की हुई शिनाख्त, दून कोतवाली में तैनात दरोगा की थी पुत्री, वारदात को अंजाम देने के बाद हत्यारोपी ने उठाया यह कदम…

खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून/ऋषिकेश। उत्तराखंड की राजधानी दून के रायवाला थाना क्षेत्र के तीनपानी फ्लाईओवर के पास मिले युवती के शव की शिनाख्त हो गई है। पुलिस के मुताबिक मिला शव दून कोतवाली में तैनात दरोगा की पुत्री का है। उसकी हत्या गला रेतकर की गई है। पुलिस की प्रारंभिक जांच में पता चला कि हत्या करने वाले युवक ने हत्या के बाद स्वयं भी चीला नहर में छलांग लगा कर आत्महत्या कर ली है। हालांकि उसका शव अभी तक बरामद नहीं हो सका है। बहरहाल पुलिस मामले की गहनता से छानबीन में जुटी हुई है।

देहरादून एसएसपी अजय सिंह ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि 6 मई सुबह स्थानीय लोगों से सूचना मिली कि तीन पानी प्लाई ओवर के पास जंगल में एक युवती की लाश पड़ी हुई है। सूचना के आधार पर पुलिस टीम मौके पर पहुंची तो देखा कि युवती का शव खून से लथपथ हालत में पड़ा है। गले पर धारदार हथियार से वार किए गए हैं।

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा और मामले में अपनी जांच शुरू की। जांच में पता चला कि मृतका देहरादून पुलिस के सब इंस्पेक्टर की 26 वर्षीय बेटी है। जांच में यह भी पता चला कि युवती की हत्या शैलेंद्र भट्ट नाम के व्यक्ति ने की है और वो चीला नहर में कूद गया। हालांकि, लड़की की हत्या क्यों हुई और शैलेंद्र ने नहर में छलांग क्यों लगाई, इन सवालों के जवाब अभी पुलिस तलाश रही है।

यह भी पढ़ें -   अंतरशक्ति योग स्टूडियो द्वारा आयोजित योग शिविर में सभी ने किया योगाभ्यास

एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि युवती की हत्या सोची समझी साजिश के तहत की गई है। पुलिस ने घटना के बाद आरोपी शैलेंद्र भट्ट के दोस्तों से पूछताछ की। दोस्तों ने पुलिस को बताया कि शैलेंद्र भट्ट ने दो दिन पहले ही पीजी कॉलेज के पास से एक चाकू खरीदा था, जिससे उसने 5 मई को बर्थडे के दिन मुर्गा काटने का जिक्र किया था। पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल चाकू भी बरामद कर लिया है।

एसएसपी के मुताबिक, युवती 5 मई की शाम 6 बजे करीब अपने घर से दोस्त की बर्थडे पार्टी में जाने की बात कहकर निकली थी लेकिन देर शाम तक वापस नहीं आई थी। परिजनों को उसकी चिंता हुई तो उन्होंने युवती को फोन भी किया, लेकिन फोन नहीं लगा। रात भर परिजन अपने स्तर से लड़की की तलाश करते रहे। सुबह मौखिक रूप से ऋषिकेश कोतवाली पुलिस को बेटी के लापता होने की जानकारी दी। पुलिस ने मामले में तेजी से एक्शन लिया और युवती की तलाश शुरू की। तलाश के दौरान देहरादून-हरिद्वार राष्ट्रीय राजमार्ग पर युवती की हत्या का मामला सामने आया। फोटो देखने के बाद सब इंस्पेक्टर ने युवती को अपनी बेटी बताया।

यह भी पढ़ें -   २२ जून २०२४ शनिवार का पंचांग, जानिए राशिफल में आज का दिन कैसा रहेगा आपका…

एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि युवती की हत्या करने के बाद शैलेंद्र भट्ट ने अपनी स्कूटी को दोस्त के जरिए अपनी बहन के घर भेज दिया था और वो ऑटो बुक करके चीला शक्ति नहर किनारे चला गया था। वहां उसने अपने दोस्त के साथ शराब पी और उनको बताया कि आज उसने बड़ी वारदात को अंजाम दिया है। हालांकि, उसने किस वारदात को अंजाम दिया और क्या किया ये उसने तब किसी को नहीं बताया। शराब पीने के कुछ देर बाद शैलेंद्र ने नहर में छलांग लगा दी। डर की वजह से शैलेंद्र के दोस्त ने पुलिस को कुछ नहीं बताया और अपने घर पर आ गए। सुबह युवती की हत्या होने की खबरें फ्लैश हुईं तो दोस्त ने पुलिस को सच्चाई बताई। पुलिस ने नहर किनारे ले जाने वाले ऑटो चालक से भी पूछताछ की है। फिलहाल हत्या के कारण स्पष्ट नहीं हो पाए हैं। पुलिस अपनी जांच आगे बढ़ा रही है।

पुलिस के अनुसार युवती ऋषिकेश के ही एक स्कूल में पढ़ाती थी। वहीं मूल रूप से टिहरी निवासी आरोपी शैलेंद्र भट्ट सरकारी नौकरी के लिए तैयारी कर रहा था और पिछले 7-8 साल से ऋषिकेश के श्यामपुर में ही अपनी बहन के पास रहता था। पुलिस को पता चला है कि पांच मई शाम को ही दोनों अपने-अपने घर से निकले थे। शैलेंद्र भट्ट की बहन ने पुलिस को बताया कि वो पिछले 6 सालों से दारोगा की बेटी को जानती थी।

Ad Ad Ad Ad Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440