चोरी का खुलासा : हल्द्वानी के मंगलपड़ाव क्षेत्र में चार दुकानों में सेंध लगाना वाला निकला अंतर्राष्ट्रीय गिरोह का सदस्य, जानिए कैसे देते थे चोरी की घटनाओं को अंजाम

खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। मंगलपड़ाव क्षेत्र में विगत दिनों हुई चार दुकानों में चोरी के मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने एक शातिर चोर को गिरफ्तार किया है। जिसके तार अंतर्राष्ट्रीय गिरोह से जुड़े हुए है। पुलिस ने उसके पास से 60 हजारों रूपए की नगदी बरामद की है। बताया जा रहा है पकड़ा गया शातिर चोर राजस्थान का रहना वाला है।

आपको बताते चले कि विगत दिनों 24 फरवरी की रात को मंगलपड़ाव क्षेत्र में अज्ञात चोरों ने एक साथ चार दुकानों को अपना निशाना बना लिया था। दुकानों से चोरों ने लाखों की नकदी और सामान चोरी की थी। चोरी के संबंध में सन्नी नागपाल पुत्र सुमन कुमार निवासी कारखाना बाजार द्वारा दी तहरीर पर चोरी की घटना का खुलासा करने के लिए पुलिस टीम गठन किया गया। उनके द्वारा चोरों की तलाश में जुट गई। टीम द्वारा सीसीटीवी खंगालने के साथ ही मुखबिर तंत्र को भी सक्रिय कर दिया गया था। इस बीच पुलिस को दुकानों में चोरी की घटना के तार अंतर्राष्ट्रीय गिरोह से जुड़ा होना सामने आया। जिसके बाद पुलिस ने चोरी में शामिल एक सदस्य को चोरी के माल सहित गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से पुलिस ने लगभपग 60 हजार रूपए की नगदी बरामद की है। साथ ही पुलिस को आधार कार्ड व पैन कार्ड व एक सैंमसंग मोबाइल टच स्क्रीन भी मिला है। पकड़ा गया शातिर चोर दिनेश चरपपोटा मूल रूप से राजस्थान का रहने वाला है। पुलिस शातिर चोर के दो अन्य साथियों के बारे में भी जानकारी जुटा रही है। साथ ही उसका आपराधिक इतिहास भी ख्ंागाल रही है। इधर पुलिस ने बताया कि चोरी में हरीश चरपोटा और गणेश चरपोटा नाम के उसके दो साथी भी शामिल है जो फिलहाल फरार चल रहे है। जिनकी सरगर्मी से तलाश की जा रही है।

यह भी पढ़ें -   वैश्य महासभा के कार्यकारिणी का विस्तार, अध्यक्ष आलोक शारदा तथा महामंत्री भवानी शंकर नीरज ने कराया नई कार्यकारिणी का परिचय

चोरी करने से पहले शहर में पहुंचकर करते थे रैकी
एसपी सिटी हरबंश सिंह ने बताया कि एसपी सीटी हरबंश सिंह ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि पुलिस द्वारा गठित टीम और एसओजी टीम ने चोरों को पकडऩे के लिए शहर भर के 250 से अधिक सीसीटीवी कैमरों को खंगाला। साथ सर्विलांस के माध्यम से भी चोरों की तलाश की हैं। एसपी सिटी ने बताया कि गैंग किसी भी शहर में पहुंचकर दिन के समय रैकी करते और इसके बाद रात मेें चोरी की घटनाओं को अंजाम देते। यह गैंग चोरी की घटनाओं को सेंधमारी से अंजाम देते है और दुकान के मुख्य गेट या ताले नहीं तोड़ते हैं। मंगलपडाव बाजार की चोरी में भी दिनेश के साथ हरीश रपोटा व गणेश चरपोटा शामिल थे।

यह भी पढ़ें -   आतिथ्य क्षेत्र में निवेश के लिए उत्तराखण्ड कर रहा आकर्षित: सतपाल महाराज

गैंग के सदस्य अन्य राज्यों में जाने को करते थे हवाई जहाज का सफर
उक्त गैंग के सदस्य अन्य राज्यों में जाने के लिये हवाई जहाज का सहारा लेते थे। यह बात पुलिस जांच में निकल कर आयी है। जांच में चोरी के रूपयों से अय्याशी भी किया जाना निकला है। पुलिस के अनुसार इससे पूर्व इस गिरोह ने राजस्थान, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट, गुजरात, जम्मू कश्मीर, मध्य प्रदेश, हिमांचल प्रदेश, हरियाणा, पंजाब आदि राज्यों में चोरी की घटनाओं को अंजाम दे चुके है।

महानगर में दुबारा चोरी करने की योजना थी, इससे पहले पुलिस के हत्थे चढ़े
महानगर हल्द्वानी में चोरी की घटना को अंजाम देने के बाद इस गैंग के हाथ अच्छी धनराशि लगी थी। पुलिस के अनुसार उक्त गैंग ने यहां पुनः चोरी की योजना बनायी थी। लेकिन उससे पहले गैंग का शातिर चोर दिनेश चरपपोटा पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

सफलता प्राप्त करने वाली पुलिस टीम:
कोतवाल हरेन्द्र चौधरी प्रभारी, उनि कश्मीर सिंह चौकी प्रभारी मगंलपड़ाव, कानि जितेन्द्र कुमार, वीरेन्द्र चौहान, इसरार नवी, किशन चन्द्र शर्मा सर्विलांस सैल, इसरार अहमद, अनिल गिरी।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.