जन औषधि केन्द्रों में सफल संचालन में उत्तराखण्ड प्रदेश 13वें स्थान पर : धन सिंह रावत

Ad
Ad
खबर शेयर करें

राष्ट्रीय एकता सप्ताह समारोह के अंतर्गत जन औषधि मित्र सम्मलेन आयोजित

समाचार सच, देहरादून। दीन दयाल उपाध्याय सरकारी अस्पताल देहरादून मे राष्ट्रीय एकता सप्ताह समारोह के अंतर्गत जन औषधि मित्र सम्मलेन का आयोजन संयुक्त रूप से समर्पण संस्था देहरादून एवं चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के संयुक्त तत्वाधान मे सफलतापूर्वक आयोजित किया गया।

समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित डॉ धन सिंह रावत स्वास्थ्य मंत्री उत्तराखंड के द्वारा जन औषधि केन्द्रों के सम्बंधित एवं सफल संचालन हेतु कार्य करने वाले विभागीय व संस्थागत पदाधिकारियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। उनके द्वारा यह भी आश्वासन दिया गया कि वर्तमान में जन औषधि केन्द्रों के सफल संचालन में उत्तराखंड प्रदेश 13वें स्थान पर है परन्तु हम प्रयास करेंगे कि आगामी समय में प्रदेश प्रथम तीन स्थानों पर हो। उनके द्वारा यह भी अवगत कराया गया कि जन औषधि केन्द्रों का 24’7 संचालना एवं समस्त मेडिकल कॉलेजों में भी इनका संचालन सुनिश्चित करने की बात कही गई। वर्तमान में उत्तराखंड में 213 जन औषधि केंद्र चल रहे है, निकट भविष्य में इनको बढ़ाया जाएगा ताकि आम जन को सस्ती व अच्छी क्वालिटी की दवाई उपलब्ध हो पाए।

यह भी पढ़ें -   राज्य की दुर्दशा का मुख्य कारण भाजपा-कांग्रेस: त्रिवेंद्र सिंह पंवार

डॉ गीता खन्ना अध्यक्षा समर्पण संस्था द्वारा कार्यक्रम की शुरुआत में डॉ धन सिंह रावत स्वास्थ्य मंत्री, डॉ तृप्ति बहुगुणा डायरेक्टर जनरल स्वास्थ्य विभाग, डॉ शिखा जान्पंगी सीएमएस व मुख्य चिकित्साधिकारी देहरादून डॉ मनोज उप्रेती को पुष्प गुच्छ देकर व् शाल प्रदान कर स्वागत किया गया।

यह भी पढ़ें -   21वें राज्य स्थापना दिवस पर हल्द्वानी में आप ने भाजपा और कांग्रेस से पूछे 21 सवाल, दिया सांकेतिक धरना

डॉ गीता खन्ना द्वारा उत्तराखंड प्रदेश में चल रही जन औषधि केन्द्रों के विषय में विस्तृत जानकारी देते हुए बताया गया कि गरीब व आवश्यकतानुसार दवाइयों की उपलब्धता एक बहुत बड़ी सुविधा है। भविष्य में इसको दुरस्त स्थान के अलावा समस्त मेडिकल कॉलेजों व् अस्पतालों में खोलना एक अनिवार्य विषय है। डॉ तृप्ति बहुगुणा डायरेक्टर जनरल चिकित्सा स्वास्थ्य उत्तराखंड प्रदेश द्वारा भी वर्तमान में चल रही जन औषधि केन्द्रों के सञ्चालन को और अच्छे करने एवं संस्थागत प्रयासों पर बल दिया गया। उनके द्वारा स्वास्थ्य मंत्री महोदय द्वारा इन केन्द्रों को 24’7 संचालित करने के आवाहन पर तुरंत रूप से कार्यवाही हेतु आश्वासित किया गया। डॉ शिखा जन्पंगी द्वारा जन औषधि केन्द्रों में मिलने वाली सुविधा से डॉक्टरों को भी काफी सुविधा मिलने की बात कही गई।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *