बेतालघाट महोत्सव के अंतिम दिन कलाकारों ने बिखेरी लोक संस्कृति की छठा

खबर शेयर करें

महोत्सव आयोजनों से संस्कृति का विकास होता हैं: हेम आर्य

समाचार सच, नैनीताल। बेतालघाट महोत्सव के अंतिम दिन कलाकारों ने अपनी बेहतरीन प्रदर्शन से संस्कृति के छठा बिखेर दी। इस अवसर पर लोक गायकों ने अपनी कला से लोगों को झूमने पर मजबूर कर दिया।

इस मौके पर कार्यक्रम के मुख्यअतिथि भाजपा वरिष्ठ नेता हेम आर्य ने बेतालघाट महोत्सव का यहां आयोजन कर एक सराहनीय कार्य किया है। इसके लिए सभी को बधाई के पात्र है। इस आयोजनों से संस्कृति का विकास होता है वहीं हमारी समृद्ध संस्कृति को दर्शाते हैं। उन्होंने उनका कहना था कि महोत्सव के दौरान लोगों को अपनी संस्कृति को गहराई से पहचान का मौका मिलेगा।

यह भी पढ़ें -   २२ जून २०२४ शनिवार का पंचांग, जानिए राशिफल में आज का दिन कैसा रहेगा आपका…

कार्यक्रम में गोविंद दिगारी, खुशी दिगारी, कौशल पांडे, रमेश उप्रेती, राकेश पनेरु ने अपनी लोक गायन से बड़ी देर रात तक दर्शकों को बाधें रखा। इन लोक कलाकारों के गीतों में पहाड़ी जनमानस व संस्कृति की बेहतरीन ढंग से रखा। इसके साथ ही प्रसिद्ध लोग गाथा रानी वौराणी में कलाकारों ने अपनी बेहतरीन अभियान अभिनय से दर्शकों को को मंत्र मुग्ध कर दिया। बेतालघाट महोत्सव की थीम सॉन्ग को भी लोगों ने बहुत सराहा।

यह भी पढ़ें -   विद्युत कटौती पर व्यापारियों का फूटा गुस्सा, ईई को घेरा, कहा-जल्द व्यवस्था दुरूस्त न होने पर होगा उग्र आंदोलन

इस अवसर पर कार्यक्रम समिति के राहुल अरोड़ा हाई कोर्ट नैनीताल मुख्य स्थाई अधिवक्ता चंद्रशेखर रावत भाजापा पूर्व जिला अध्यक्ष देवेंद्र ढीला, हरीश भंडारी, गणेश सिंह बोरा, शुभम कुमार, जगमोहन जलाल, मनमोहन रौतेला, शाहिद बड़ी संख्या में लोग उपस्थित है।

Ad Ad Ad Ad Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440