संकट मोचन हनुमान अष्टक पाठ करने के लाभ

Ad
Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, अध्यात्म डेस्क। जो भक्त हनुमान जी में विश्वास रखते है उन्हें समय-समय पर हनुमान जी के चमत्कारों का अनुभव भी होता रहता है। संकट मोचन हनुमान अष्टक पाठ द्वारा हनुमान जी की आराधना आपके सभी कष्टों को दूर करने वाली है। संकट मोचन हनुमान अष्टक पाठ द्वारा आप हनुमान जी को उनकी शक्ति का अहसास कराते है। उनसे अपने कष्टों को हरने की प्रार्थना करते है।

बचपन में अपनी क्रीडाओं द्वारा हनुमान ऋषि-मुनियों को परेशान किया करते थे। एक ऋषि द्वारा उन्हें यह श्राप दिया गया है कि समय-समय पर वे अपनी शक्तियां भूल जाया करेंगे और दूसरों के द्वारा उन्हें उनकी शक्ति का स्मरण कराने पर ही उन्हें उनकी शक्ति का अहसास होगा। संकट मोचन हनुमान अष्टक पाठ के द्वारा आप हनुमान जी की शक्ति का गुणगान करते है। जिसके फलस्वरूप हनुमान शीघ्र प्रसन्न होकर भक्त की मनोकामना पूर्ण करते है।

यह भी पढ़ें -   इन 4 चीज़ों को रसोई में कभी ना होने दें खत्म, वरना हो जाएंगे कंगाल

संकट मोचन हनुमान अष्टक के लाभ –
-संकट मोचन हनुमान अष्टक पाठ द्वारा पूर्ण लाभ तभी प्राप्त किया जा सकता है जब आप हनुमान जी नियमों का पालन करते हुए नियमित रूप से इसका पाठ करते है।

  • संकट मोचन हनुमान अष्टक का नियमित पाठ आपके बड़े से बड़े कष्ट को भी दूर करने की क्षमता रखता है।
  • जीवन में जब कभी बड़े संकट का सामना करना पड़ जाये तो ऐसे में प्रतिदिन 7 बार संकट मोचन पाठ करना चाहिए- ऐसा 21 दिन लगातार करने से आपको लाभ अवश्य मिलेगा।
  • स्वयं के आत्मविश्वास को बल देने हेतु संकट मोचन हनुमान अष्टक का पाठ किया जाना चाहिए।
  • घर से नकारात्मक शक्तियों को दूर करने में हनुमान अष्टक पाठ फायदा करने वाला है।
  • घर में सुख-शांति व हनुमान जी कृपा प्राप्ति हेतु हनुमान अष्टक पाठ नियमित रूप से करना चाहिए।
  • जो भक्त नियमित रूप से हनुमान जी का यह संकट मोचन हनुमान अष्टक पाठ करते है वे न केवल अपने समस्त दुखों से छुटकारा पाते है बल्कि हनुमान जी की विशेष कृपा के पात्र होते है। ऐसे भक्त को हनुमान पूजा के नियमों का सख्ती से पालन करना अनिवार्य है।
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *