रोजाना सुबह भीगे दो अंजीर खाने से शरीर को मिलती है ताकत

Ad
Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। अंजीर का सेवन आमतौर पर लोग ड्राईफ्रूट के रूप में करते हैं। एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर अंजीर में कई तरह के पोषक तत्व भी पाए जाते हैं जो शरीर को कई रोगों से बचाने में सहायक हैं।
अंजीर को फल और ड्राई फ्रूट दोनों तरह से खाया जाता है। एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर अंजीर में इतने सारे औषधीय गुण होते हैं कि इसे सुपरफूड कहा जाता है। अंजीर में विटामिन-ए, बी, सी, के और कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, पोटैशियम, जिंक, कॉपर और मैंगनीज जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। आमतौर पर लोग ड्राईफ्रूट के रूप में इसका सेवन करते हैं. स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि यदि दो अंजीर को नियमित रूप से डाइट में शामिल कर लिया जाए तो ये कई बीमारियों में राहत दे सकती है। जानिए इसके फायदे।
अस्थमा के लिए – अस्थमा के मरीजों के लिए अंजीर का सेवन काफी लाभकारी माना जाता है। अंजीर खाने से शरीर के अंदर म्यूकस झिल्लियों को नमी मिलती है और कफ साफ होता है. अस्थमा के रोगियों को 2 सूखे अंजीर रोजाना सुबह-शाम दूध में गर्म करके लेना चाहिए।
हाई बीपी के लिए – हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए भी अंजीर का सेवन फायदेमंद माना जाता है। दरअसल अंजीर में फाइबर, पोटैशियम, ओमेगा 3 और 6 फैटी एसिड पाए जाते हैं जो हाई बीपी को नियंत्रित करते हैं। हाई बीपी के मरीजों को रोजाना रात में अंजीर को पानी में भिगोकर सुबह खाली पेट सेवन करना चाहिए।
हड्डियों की मजबूती के लिए – अंजीर में कैल्शियम, पोटैशियम और मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है. हड्डियों को मजबूत बनाए रखने के लिए ये सभी पोषक तत्व जरूरी माने जाते हैं। इसका सेवन रात को सोते समय दूध में उबालकर करने से ज्यादा लाभ मिलता है। हीमोग्लोबिन की कमी भी अंजीर खाने से जल्दी ही पूरी हो जाती है।
दिल की सेहत के लिए – हार्ट की सेहत के लिए अंजीर को बहुत लाभकारी माना जाता है। इसमें मौजूद ऐंटीऑक्सिडेंट्स फ्री रैडिकल्स को समाप्त करते हैं और हार्ट को सुरक्षित रखते हैं। अंजीर खाने से कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है और कोरोनरी धमनियां जाम होने से बचाव होता है।
पेट के लिए –पेट से जुड़ी तमाम समस्याओं के लिए भी अंजीर का सेवन काफी अच्छा माना जाता है. रात को दो अंजीर को पानी में भिगोकर सुबह खाली पेट खाएं और उसका पानी पी लें. इसके बाद करीब एक घंटे तक कुछ न खाएं। ऐसा रोज करने से कब्ज, बबासीर, गैस, एसिडिटी जैसी समस्याएं दूर होती हैं और पाचन तंत्र दुरुस्त होता है।
भीगे हुए अंजीर खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है। इसके लिए आप रात को 1 से 2 अंजीर को ) कप पानी में भिगोकर कर रख सकते हैं। इसका सेवन आप सुबह खाली पेट करें आइए जानें भीगे हुए अंजीर खाने के स्वास्थ्य लाभ।
आइए जानें भीगे हुए अंजीर खाने के स्वास्थ्य लाभ।
अंजीर में पोषक तत्व
अंजीर में जिंक, मैंगनीज, मैग्नीशियम, आयरन जैसे मिनरल से पोषक तत्व होते हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट और फाइबर जैसे गुण होते हैं। पीएमएस की समस्या से जूझ रही महिलाओं को भी लक्षणों को कम करने के लिए अंजीर खाने की सलाह दी जाती है। हार्माेनल असंतुलन और पोस्ट मेनोपॉज के बाद की समस्याओं के लिए अंजीर का सेवन किया जा सकता है।
शुगर लेवल को बनाए रखता है
अंजीर में उच्च मात्रा में पोटैशियम होता है जो आपके शरीर में शुगर के स्तर को नियंत्रित रखता है। कई अध्ययनों में पाया गया है कि अंजीर में मौजूद क्लोरोजेनिक एसिड शुगर लेवल को कम करने में मदद कर सकता है। भीगा हुआ अंजीर खाने से टाइप-2 डायबिटीज में भी ब्लड ग्लूकोज लेवल को कंट्रोल किया जा सकता है। आप सलाद, स्मूदी, कॉर्नफ्लेक्स बाउल या ओट्स में कटे हुए अंजीर को शामिल कर सकते हैं।
ब्ज को रोकता है
अंजीर में फाइबर होता है। ये कब्ज की समस्या को दूर करने का काम करता है। कब्ज से जूझ रहे लोग इससे बचने और स्वस्थ आंत को बनाए रखने के लिए अपने आहार में अंजीर को शामिल कर सकते हैं।
वजन घटाने में मदद करता है
अगर आप वेट लॉस डाइट फॉलो कर रहे हैं तो अंजीर को अपने डाइट में भी शामिल किया जा सकता है। अंजीर में फाइबर होता है। ये वजन कम करने के लिए आवश्यक हैं और अंजीर आपके शरीर को अच्छी मात्रा में फाइबर देने का काम करता है। सुनिश्चित करें कि आप इसका सेवन कम मात्रा में करें क्योंकि इसमें कैलोरी होती है और अंजीर की अधिकता आपका वजन बढ़ा सकती है।
हृदय के स्वास्थ्य को बढ़ाता है
अंजीर में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट ब्लड प्रेशर के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं। ये हृदय को स्वस्थ रखने का काम करता है। कुछ अध्ययनों से ये भी पता चला है कि अंजीर शरीर में ट्राइग्लिसराइड्स के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है जो हृदय संबंधी समस्याओं का एक प्रमुख कारण है।
स्वस्थ हड्डियों के लिए
अंजीर में कैल्शियम होता है। ये आपकी हड्डियों को स्वस्थ रखने में मदद करता है। हमारा शरीर अपने आप कैल्शियम का उत्पादन नहीं करता है, इसलिए दूध, सोया, हरी पत्तेदार सब्जियां और अंजीर जैसे फूड का सेवन किया जाता है।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *