दून में कांग्रेसियों ने भ्रष्टाचार के विरोध में किया सचिवालय का घेराव, दिया राज्यपाल को ज्ञापन

खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। उत्तराखण्ड राज्य में लोकसेवा आयोग की भर्तियों, पुलिस विभाग की भर्तियों तथा सहकारिता विभाग में हुई भर्तियों में हुए भ्रष्टाचार और अनियमितता के विरोध में कांग्रेस पार्टी ने आज सचिवालय के सामने धरना-प्रदर्शन के साथ ही सचिवालय का घेराव किया तथा अनियमितता व भ्रष्टाचार की जांच की मांग को लेकर महामहिम राज्यपाल को ज्ञापन भेजा।

प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस नेताओं ने कहा कि उत्तराखंड राज्य के निर्माण आंदोलन में प्रदेश के छात्र नेताओं, शिक्षित बेरोजगारों ने अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और कहीं ना कहीं रोजगार को लेकर यह आंदोलन चरम सीमा पर पहुंचा और राज्य की प्राप्ति हुई। राज्य प्राप्ति के बाद उत्तराखंड प्रदेश में बड़ी संख्या में शिक्षित बेरोजगारों को सरकारी सेवा में अवसर न मिलने के कारण उनका भविष्य अधर में है जिसके कारण अधिकांश युवा कुठांग्रस्त है और भर्ती प्रक्रिया में हो रही लगातार धांधली के कारण आक्रोशित हैं। शिक्षित बेरोजगारों का मनोबल टूट रहा है। कांग्रेस पार्टी राज्यपाल से मांग करती है कि वह कांग्रेस पार्टी द्वारा उठाई गई मांगों पर यथाशीघ्र कार्यवाही के निर्देश दे। यू.के.एस.एस.सी में हाल में हुई संपन्न सभी भर्तियों में हुई अनियमितताओं की सीबीआई जांच कराई जाए। नॉर्मलाइजेशन पद्धति को पूर्णता समाप्त किया जाए एवं आगामी परीक्षाएं 11 पाली में कराई जाए। यू.के.एस.एस.सी एवं यू.के पी.एस.सी द्वारा भर्ती परीक्षाओं का वार्षिक कैलेंडर जारी किया जाए। कैलेंडर का प्रावधान न होने के कारण भर्तियों को संपन्न कराने में आयोगों द्वारा 3-4 वर्ष का समय लगाया जाता है। यू.के.एस.एस.सी के अध्यक्ष एवं सचिव के साथ-साथ अनु सचिव एवं समीक्षा अधिकारी को तत्काल प्रभाव से हटाया जाए एवं उनके कार्यकाल की सीबीआई जांच कराई जाए। साथ ही संयुक्त कनिष्ठ अभियंता 2021 में सिंचाई विभाग के कनिष्ठ अभियंताओं के 228 पदों को समायोजित किया जाए। घेराव कार्यक्रम को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा, नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह, उपनेता प्रतिपक्ष भुवन कापडी, आदेश चौहान सहित अनेक कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने सम्बोंधित किया।

यह भी पढ़ें -   आईएमए में 10 दिसंबर को होगी पासिंग आउट परेड

इस अवसर पर पूर्व विधायक रणजीत रावत, प्रदेश महामंत्री संगठन विजय सारस्वत, पूर्व विधायक राजकुमार, पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण, प्रदेश महामंत्री राजेन्द्र शाह, गोदावरी थापली, मीडिया पैनलिस्ट गरिमा दसौनी, पूर्व मंत्री अजय सिंह, वैभव वालिया, सुमित्तर भुल्लर, प्रदेश महिला अध्यक्ष ज्योति रौतेला, डॉ0 जसविन्दर सिंह गोगी, मोहन भण्डारी, नवनीत सती, रॉबिन त्यागी, विनीत प्रसाद बंटू, भूपेन्द्र सिंह नेगी, सूरत सिंह नेगी, महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा, जिलाध्यक्ष संजय किशोर, अश्विनी बहुगुणा, धर्मपाल, मुरली मनोहर, अमन गर्ग, प्रणीता बडोनी, आशा मनोरमा शर्मा, सुजाता पॉल आदि शामिल थे।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.