पेयजल विभाग के कार्मिकों का वेतन राजकीय कोषागार के माध्यम से देने का निर्णय

Ad
Ad
खबर शेयर करें

पेयजल मंत्री बिशन सिंह चुफाल ने ली समस्याओं के समाधान हेतु विभागीय समीक्षा बैठक

समाचार सच, देहरादून। प्रदेश के पेयजल मंत्री बिशन सिंह चुफाल ने विधानसभा कार्यालय कक्ष में पेयजल विभाग से सम्बन्धित समस्याओं के समाधान हेतु विभागीय समीक्षा बैठक की।

बैठक में लिये गये महत्वपूर्ण निर्णय के अन्तर्गत पेयजल विभाग के कार्मिकों के वेतन का बैकलॉक समाप्त कर दिया जायेगा। इस प्रकार पिछले 15 वर्षाे में पहली बार पेयजल विभाग के कार्मिकों का बैकलॉक समाप्त कर दिया जायेगा। इसके अतिरिक्त पेयजल विभाग के कार्मिकों का वेतन राजकीय कोषागार के माध्यम से भी देने का निर्णय लिया गया है।

यह भी पढ़ें -   राज्य आंदोलनकारियों की पेंशन 15000 रूपए प्रति माह की जाए : धीरेंद्र प्रताप

बैठक में पेयजल विभाग के श्रमिकों के कल्याण हेतु लेबर वैलफेयर सैल का भी गठन करने का निर्णय लिया गया है। इसके माध्यम से श्रमिकों का श्रम विभाग में पंजीकरण के बाद बजट का निर्धारित अंश प्राप्त करके श्रमिकों के परिवारिक सदस्यों के शादी, पढाई, चिकित्सा इत्यादि के लिए सहायता दी जायेगी। हरिद्वार नगर से सम्बन्धित सीवर लाईन की समस्या के समाधान हेतु निर्देश दिये गये यहॉ 06 किलोमीटर की सीवरेज लाईन बिछाने हेतु योजना स्वीकृत कर और बजट आबंटित कर कार्य तत्काल प्रारम्भ करने के निर्देश दिये गये।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड में कांग्रेस के विजय शंखनाद को नहीं रोक सकती भाजपा : सुमित

इस दौरान बैठक में सचिव नितेश झा, अपर सचिव नितिन भदौरिया, प्रबन्ध निदेशक पेयजल उदयराज सिंह, मुख्य अभियन्ता एस. सी. पन्त, मुख्य महाप्रबन्धक पेयजल निगम सुरेश कुमार सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *