सफाई नायक के साथ मारपीट, विरोध में थाने का किया घेराव

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। कूड़ा उठाने के दौरान सफाई नायक के साथ मारपीट का मामला प्रकाश में आया है। सफाई कर्मी का आरोप है कि उसके साथ जातिसूचक शब्दों के प्रयोग के साथ ही धारदार हथियारों से भी हमला बोला गया। इससे गुस्साये साथी कर्मियों ने पुलिस थाना घेर दिया। पुलिस ने बमुश्किल आक्रोशित कर्मियों को शांत किया। इस मामले में एक युवक को हिरासत में लिया गया है। पुलिस मामले की गहनता से छानबीन कर रही है।

गांधीनगर निवासी राजेश राज नगर निगम में सफाई नायक है। बताया जाता है कि वह सोमवार तड़के करीब चार बजे बनभूलपुरा क्षेत्र के वार्ड नम्बर 26 अस्ताना मस्जिद के पास सफाई करने पहुंचा। आरोप है कि जब उसने कूड़ा लेने के लिए नईबस्ती में रहने वाले नईम के घर की घंटी बजाई तो वह तैश में आ गया और गाली गलौज करने लगा। रईस पर जातिसूचक शब्दों के प्रयोग का भी आरोप है। सफाई कर्मी का आरोप है कि जब उसने गाली गलौज का विरोध किया तो नईम ने अपने कुछ साथियों को बुला लिया और उसे घेरकर मारपीट शुरू कर दी। इतना ही नहीं उसे समीप ही स्थित गोदाम में ले जाया गया। जहां उस पर लाठी-डंडों व धारदार हथियार से हमला बोला गया। जिसमें उसे गंभीर चोटें आई हैं। किसी तरह आरोपियों के चंगुल से छूटकर उसने अपनी जान बचाई और अस्पताल पहुंचकर ईलाज कराया। सफाई कर्मचारी के साथ मारपीट का पता चलते ही साथी कर्मियों में आक्रोश फैल गया और वह बनभूलपुरा थाने पहुंच गये।

यह भी पढ़ें -   15 दिन से लापता हुए पुत्र की कराई गुमशुदगी दर्ज

इस बीच पीड़ित कर्मी के परिवारजन भी थाने पहुंच गये और हंगामा शुरू कर दिया। वह आरोपियों पर मारपीट के साथ ही सरकारी कार्य में बाधा डालने व जातिसूचक शब्दों के प्रयोग की धाराओं में त्वरित कार्यवाही करने की मांग करने लगे। पुलिस ने उन्हें समझाने का काफी प्रयास किया, लेकिन वह अपनी मांग पर अड़े रहे।इस मामले में पीड़ित सफाई कर्मी के भाई योगेश राजौर पुत्र रामचन्द्र निवासी वार्ड नम्बर 27 गांधी नगर की ओर से आरोपियों के खिलाफ तहरीर सौंपी गई है। इस बीच पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को एक आरोपी को हिरासत में लिए जाने की जानकारी दी। साथ ही बनभूलपुरा एसओ मोहम्मद यूनुस ने प्रदर्शनकारियों को भरोसा दिलाया कि मामले की गहनता से जांच की जाएगी। कहा कि जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। इस आश्वासन पर सफाई कर्मियों का आक्रोश शांत हुआ। थाने में विरोध प्रदर्शन करने वालों में ललित सोनकर, राम अवतार, राहत मसीह, अशोक राज, दया राम, किशन, सुनील, नीरज, सुनील सोनकर, योगेश राजौर, वीरू नितिन आदि थे।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.