नेतृत्व परिवर्तन के बाद उत्तराखण्ड विधानसभा का पहला सत्र शुरू

Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। उत्तराखण्ड विधानसभा का मानसून सत्र आज से शुरू हो गया है। सत्र के दौरान जहां विपक्ष ने विभिन्न मुद्दों पर सरकार को घेरने की योजना बनाई है, वहीं सरकार ने भी इसी हिसाब से अपनी रणनीति तैयार की है। ऐसे में सत्र के हंगामेदार रहने के आसार हैं। सत्र के दौरान अनुपूरक बजट, दो सरकारी व दो असरकारी विधेयक भी पेश किए जाएंगे।

सत्ता पक्ष और विपक्ष के 19 विधायकों ने सत्र के लिए 788 सवाल लगाए हैं। पहले दिन मौजूदा विधानसभा के दो दिवंगत विधायकों डा इंदिरा हृदयेश (पूर्व मंत्री व नेता प्रतिपक्ष) व गोपाल रावत के अलावा पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह भंडारी, पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री बची सिंह रावत, पूर्व विधायक अंबरीष कुमार व श्रीचंद, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह को श्रद्धांजलि दी गई।

यह भी पढ़ें -   डंपर से बरामद की 2 किलो 710 ग्राम चरस, चालक व क्लीनर गिरफ्तार

उत्तराखंड की भाजपा सरकार में हुए नेतृत्व परिवर्तन के बाद विधानसभा का यह पहला सत्र है। सत्र में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी बतौर नेता सदन पहली मर्तबा मौजूद रहे तो नेता प्रतिपक्ष के रूप में प्रीतम सिंह। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर पिछले सत्रों की भांति इस बार भी सभामंडप का विस्तार किया गया।

विधानसभा सत्र के प्रथम दिवस पर अर्पित की स्व. कल्याण सिंह को श्रद्धांजलि
विधानसभा भवन स्थित विधानसभा अध्यक्ष के कार्यालय कक्ष में सत्र के प्रथम दिवस पर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इस अवसर पर कल्याण सिंह के चित्र पर पुष्प चढ़ाकर श्रद्धासुमन अर्पित किये गये। श्रद्धांजलि देने वालों में उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत, कैबिनेट मंत्री यतिस्वरानंद, कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत, कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, विधायक देशराज कर्णवाल, विधायक संजय गुप्ता, विधायक राजकुमार ठुकराल सहित अन्य ने अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कहा कि कल्याण सिंह के निधन से देश ने आज एक सच्चे राष्ट्रभक्त, ईमानदार व धर्मनिष्ठ राजनेता को खो दिया। उन्होंने कहा बाबूजी एक ऐसे विराट वटवृक्ष थे, जिनकी छाया में भाजपा का संगठन पनपा व उसका विस्तार हुआ। राष्ट्र व श्रीराम की सेवा के पुनीत कार्यों के लिए उन्हें हमेशा याद किए जाएंगे। श्री अग्रवाल ने कहा कि बाबूजी के निधन से आई रिक्तता की भरपाई लगभग असंभव है। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने कल्याण सिंह के साथ जुड़े उनके संस्मरण भी साझा किए।

यह भी पढ़ें -   प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी से कांग्रेस के कार्यकर्त्‍ता आक्रोशित

मानसून सत्र के पहले दिन दी गई स्वर्गीय सुंदरलाल बहुगुणा को श्रद्धांजलि : विधानसभा सत्र शुरू होने पर सबसे पहले विश्व विख्यात पर्यावरणविद्,पदम विभूषण और चिपको आंदोलन के प्रणेता स्वर्गीय सुंदरलाल बहुगुणा को सदन की गैलरी में श्रद्धांजलि दी गई। सदन में प्रवेश करते वक्त उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष, मुख्यमंत्री सहित सभी मंत्रियों और विधायकों ने उनके चित्र पर पुष्प अर्पित किए। इससे पहले उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद्र अग्रवाल ने अपने कार्यालय में स्व. सुंदरलाल बहुगुणा के बेटे राजीव नयन बहुगुणा और बेटी मधु पाठक को शॉल ओढ़ाकर और गंगाजली भेंट कर सम्मानित किया।

यह भी पढ़ें -   25 साल के उत्तराखंड की स्वर्णिम विकास गाथा लिखेगी युवा मुख्यमंत्री की टीम

इस अवसर पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत, कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत, कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, विधायक देशराज कर्णवाल, विधायक संजय गुप्ता, विधायक राजकुमार ठुकराल सहित अन्य नेतागण मौजूद थे।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *