कुवैत प्रवासी सम्मान से नवाजा पूर्व केंद्रीय शिक्षा मंत्री निशंक को

खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। पूर्व केंद्रीय शिक्षा मंत्री, पूर्व मुख्यमंत्री एवं हरिद्वार से सांसद रमेश पोखरियाल निशंक को भारतीय प्रवासी परिषद कुवैत की ओर से साहित्य और राष्ट्रीय शिक्षा नीति में उल्लेखनीय योगदान के लिए कुवैत प्रवासी सम्मान प्रदान किया गया है। परिषद के सचिव मुकेश गुप्ता के नेतृत्व में आए प्रतिनिधिमंडल ने निशंक को यहां उनके आवास पर यह सम्मान दिया। भारतीय प्रवासी परिषद कुवैत की ओर से कोरोना संकट को देखते हुए इस वर्ष वर्चुअल माध्यम से कुवैत प्रवासी सम्मान समारोह आयोजित किया गया था। आज परिषद के प्रतिनिधिमंडल ने देहरादून पहुंचकर निशंक को यह सम्मान प्रदान किया।

Ad

इस अवसर पर पूर्व केंद्रीय शिक्षा मंत्री, पूर्व मुख्यमंत्री एवं हरिद्वार से सांसद रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा की भारतीय प्रवासी परिषद, कुवैत द्वारा नये भारत के निमार्ण के लिए सशक्त और श्रेष्ठ आधारशिला रखने वाली एनईपी 2020 के लिए प्रवासी सम्मान 2020 से सम्मानित किए जाने पर गौरवान्वित अनुभव कर रहा हूं। कोविड-19 की परिस्थितियों के चलते यह सम्मान समारोह जनवरी 2021 में वर्चुअल माध्यम से आयोजित किया गया था। लेकिन आज परिषद के सचिव व प्रतिनिधिमंडल द्वारा देहरादून आकर यह सम्मान दिए जाने पर में आभार प्रकट करता हूँ। यह सम्मान इस बात का सूचक है कि हमारे प्रवासी भारतीय देश से दूर होकर भी यहां की संस्कृति और यहाँ की जड़ों से जुड़े हैं। 21वीं सदी का ज्ञान एवं तकनीक आधारित विश्व भारत की ओर काफी उम्मीद भरी दृष्टि से देख रहा है। इसी को दृष्टिगत रखते हुए हमने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में एनईपी2020 को संस्तुति प्रदान की थी। हमने नई शिक्षा नीति के माध्यम से एक नए भविष्य के निर्माण की आधारशिला रखी है। पूरे विश्व में शिक्षा को लेकर इतने बड़े रिफॉर्म का कोई दूसरा उदाहरण नहीं है। इस ग्लोबल वर्ल्ड में ग्लोबल माइंड सेट के साथ हमारी यह नीति इंडियन, इंटरनेशनल, इंपैक्टफुल, इंटरएक्टिव, इनोवेटिव एवं इंक्लूसिविटी के तत्वों को एक साथ समाहित करती है। चाहे अनुसंधान एवं नवाचार की बात हो या स्किल डेवलपमेंट से लेकर इकोनामिक डेवलपमेंट तक की बात हो, यह नीति विकास के हर स्तर को पाने के लिए प्रतिबद्ध है। इस नीति के माध्यम से ही प्रधानमंत्री का श्एक भारतरूश्रेष्ठ भारतश् एवं आत्मनिर्भर भारत का विजन साकार होगा। मैं इस सम्मान के लिए भारतीय प्रवासी परिषद, कुवैत का हार्दिक आभार व्यक्त करता हूं।

Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *