हीट-स्ट्रोक क्या है, इसके क्या लक्षण हैं और कौन से घरेलू उपाय लू लगने से छुटकारा दिला सकते है

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। देश के कई राज्यों में भीषण गर्मी अपना पुराना रिकॉर्ड तोड़ रही है। गर्मी के कारण लोगों का घर से निकलना भी काफी मुश्किल हो गया है। देश के कई इलाकों में पारा 45 डिग्री तक पहुंच गया है और लोग हीट-स्ट्रोक से बचे रहने के कई तरीके अपना रहे हैं। कई लोग सही मायने में हीट-स्ट्रोक के बारे में सही तरह से नहीं जानते। इसलिए इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि हीट-स्ट्रोक क्या है, इसके क्या लक्षण हैं और कौन से घरेलू उपाय लू लगने से छुटकारा दिला सकते हैं।

हीट स्ट्रोक क्या होता है

हीट स्ट्रोक या सन स्ट्रोक को आम भाषा में ‘लू लगना’ बोलते हैं। ये तब होता है, जब आपका शरीर अपने तापमान को कंट्रोल नहीं कर पाता। हीट-स्ट्रोक होने पर शरीर का तापमान तेजी से बढ़ता है और कम नहीं हो पाता। जब किसी को लू लगती है तो शरीर का स्वेटिंग मैकेनिज्म यानी पसीना तंत्र भी फेल हो जाता है और इंसान को बिल्कुल पसीना नहीं आता। हीट-स्ट्रोक की चपेट में आने पर 10 से 15 मिनट के अंदर शरीर का तापमान 1060थ् या इससे अधिक हो सकता है। समय रहते इसका इलाज नहीं किया गया तो इंसान की मौत या ऑर्गन फेल भी हो सकता है।

यह भी पढ़ें -   स्व. डॉ इंदिरा की तृतीय पुण्यतिथि पर अर्पित की भावपूर्ण श्रद्धांजलि, उनके कामों को किया याद

हीट-स्ट्रोक के लक्षण
हीट-स्ट्रोक के लक्षण अगर पहचान लिए जाएं तो उसके इलाज में समय रहते मदद मिल सकती है। इसलिए हीट-स्ट्रोक के सारे लक्षणों की पहचान होनी जरूरी है।

  • सिर दर्द
  • डिमेंशिया
  • तेज बुखार
  • होश खो देना
  • मानसिक स्थिति बिगड़ना
  • मतली और उल्टी
  • त्वचा का लाल होना
  • हार्ट रेट बढ़ना
  • त्वचा का नर्म होना
  • त्वचा का सूखना

हीट-स्ट्रोक के कारण
अधिक गर्म जगह पर लंबे समय तक रहना लू लगने या हीट-स्ट्रोक का कारण बन सकता है। अगर कोई ठंडे मौसम से अचानक से गर्म जगह पर जाता है तो उसे भी हीट स्ट्रोक की संभावना बढ़ जाती है. गर्म मौसम में अधिक एक्सरसाइज करना भी हीट-स्ट्रोक का मुख्य कारण है. गर्मी में अधिक पसीना आने के बाद पर्याप्त पानी न पीने से. अगर कोई अधिक शराब का सेवन करता है तो शरीर अपना टेम्प्रेचर सही करने की ताकत खो देता है. यह भी लू लगने का कारण हो सकता है.अगर आप गर्मी में ऐसे कपड़े पहनते हैं जिनसे की पसीना और हवा पास नहीं हो रही है तो यह भी हीट-स्ट्रोक के जोखिम को बढ़ा सकता है।

यह भी पढ़ें -   कुछ सावधानियां बरती जाएं तो लू लगने से बचा जा सकता है

हीट-स्ट्रोक से राहत पाने के उपाय
अगर किसी को लू लगती है और उसका समय पर इलाज न किया जाए तो कुछ गंभीर समस्याएं हो सकती हैं, जिनमें ऑर्गन फेल, मौत, ब्रेन डेड भी शामिल हैं। अगर किसी को लू लगी है तो तुरंत नीचे बताए हुए प्रारंभिक तरीके अपना सकते हैं।

  • जिस व्यक्ति को लू लगी है उसे धूप में न रखें।
  • कपड़ों की मोटी लेयर हटा दें और हवा लगने दें।
  • शरीर को ठंडक पहुंचाने के लिए कूलर या पंखे में बैठाएं।
  • ठंडे पानी से नहलाएं।
  • शरीर को ठंडे पानी के कपड़े से पोछें।
  • सिर पर आइस पैक या कपड़े को ठंडे पानी से गीला करके रखें।
  • ठंडे पानी में भीगे तौलिये को सिर, गर्दन, बगल और कमर पर रखें।

नोट:- अगर इन प्रारंभिक उपायों के बाद भी अगर शरीर का टेम्प्रेचर कम नहीं होता तो तुरंत किसी डॉक्टर से संपर्क करें।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440