चिन्हित राज्य आंदोलनकारी संयुक्त समिति ने सत्याग्रह किया

Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, हरिद्वार। उत्तराखंड कांग्रेस के उपाध्यक्ष, पूर्व मंत्री और चिन्हित राज्य आंदोलनकारी संयुक्त समिति के केंद्रीय मुख्य संरक्षक धीरेंद्र प्रताप ने सोमवार को समिति के संयोजक मनीष कुमार और कांग्रेस उपाध्यक्ष एसपी सिंह इंजीनियर के साथ हर की पैड़ी पर पहुंच कर पवित्र मां गंगा की पूजन करने के बाद सत्याग्रह किया।
इस अवसर पर आंदोलनकारियों को संबोधित करते हुए केंद्रीय मुख्य संरक्षक धीरेंद्र प्रताप ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि उसके मुख्यमंत्री पहले त्रिवेंद्र सिंह रावत और तीरथ सिंह रावत और आज पुष्कर सिंह धामी बलात्कार के आरोपियों को महिमामंडित करने लगे हैं। जिसके लिए मुख्यमंत्री को तत्काल राज्य की एक करोड़ जनता से माफी मांगनी चाहिए। धीरेंद्र प्रताप ने कहा कि एक और तो भाजपा भगवान राम का स्मरण करते नहीं थकती, जबकि दूसरी ओर बलात्कार के आरोपियों को जेल भेजने की बजाय उनको सार्वजनिक कार्यक्रमों में सम्मानित और उपकृत किया जाता है। धीरेंद्र प्रताप ने कहा आवश्यकता इस बात की है कि मातृशक्ति और मां गंगा का अपमान करने वाले लोगों को परिष्कृत किया जाना चाहिए। परंतु उनको भाजपा का मुख्य नेतृत्व पुरस्कृत करने पर लगा है। इस मौके पर मां गंगा का दुग्ध अभिषेक किए जाने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए धीरेंद्र प्रताप ने कहा कि भाजपा के राज मे बेरोजगारी और भ्रष्टाचार चरम पर है और सरकार जनता के हित में कोई कदम उठाने को तैयार नहीं है। प्रताप ने आप पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल के उत्तराखंड अभियान को ढकोसला बताते हुए कहा कि उत्तराखंड में केजरीवाल मॉडल नहीं चलेगा। यहां तो हरीश रावत मॉडल ही चलेगा जो यहां धरती के नेता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के प्रतिपक्ष के नेता का फैसला होने वाला है और उसके बाद प्रीतम सिंह और हरीश रावत मिलकर राज्य में परिवर्तन यात्रा करेंगे।
इस मौके पर कांग्रेस उपाध्यक्ष एसपी सिंह इंजीनियर, समिति के संयोजक मनीष कुमार, महिला कांग्रेस हरिद्वार की अध्यक्षा अंजू मिश्रा, दलित नेता सीपी सिंह, राजेश कुमार, शशी झा, नलिनी दीक्षित, अंजू द्विवेदी, सरिता शर्मा, गीता जैन, मनजीत कौर, गौरी शंकर, रवीश, कैलाश भट्ट, राजेश कुमार समेत सैकड़ों लोगों ने सत्याग्रह में भाग लिया।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *