Ayurveda

अगर आपको बीमार होने का भय हैं तो फिट रहने के लिए आयुर्वेदिक के ये नियम अपनाना शुरू कर दें।

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। आजकल की लाइफस्टाइल ऐसी हो गई है कि खुद को हेल्दी रख पाना बेहद मुश्किल हो गया है। इसके अलावा खान-पान की गलत आदतों और एक्घ्सरसाइज की कमी के चलते ज्यादातर लोग किसी न किसी बीमारी के शिकार हो जाते हैं। अगर आपको भी बीमार होने का भय रहता है तो आयुर्वेद के कुछ नियम पहले से ही अपनाने से आप हेल्घ्दी रह सकती हैं। जी हां अगर आप भी हमेशा हेल्दी रहना चाहती हैं तो ये बेहद जरूरी है कि आप रोजाना की लाइफ में कुछ ऐसे नियम को अपनाएं, जिससे आप खुद को फिट रख सकें और बीमारियों से खुद को दूर कर सकें। ऐसे ही कुछ नियम के बारे में आयुर्वेद में हैं। अगर आप अपने रुटीन में इन आयुर्वेदिक नियमों को अपना लेगी तो कई बीमारियों के खतरे से पहले ही बच सकती है। तो आइए ऐसे ही कुछ आयुर्वेदिक नियमों के बारे में जानें।

आजकल महिलाएं घर और बाहर की दोहरी जिम्मेदारियां निभाने में इतना बिजी रहती हैं कि वो अपनी हेल्घ्थ पर ठीक से ध्यान नहीं दे पाते। इसके कारण महिलाओं को कई छोटी-छोटी बीमारियों का सामना करना पड़ता है। लेकिन जब तक आपकी हेल्थ अच्छी नहीं होगी, तब तक आप न तो कोई काम अच्घ्छे से पाएंगी और न ही अपने परिवार का ख्याल ठीक से रख पाएंगी। इसलिए आपकी हेल्थ का ठीक रहना बहुत जरूरी है। हेल्थ को ठीक रखने के लिए आज हम आपको ऐेसे 10 आयुर्वेदिक नियम बताएंगे, जिन्हें अपने रूटीन में फॉलो करने से आप अपनी कई परेशानियों से राहत पा सकती हैं। और इन नियमों के बारे में हमें आयुर्वेदिक एक्सपर्ट वाजपेयी जी बता रहे हैं। तो देर किस बात की आइए हमारे साथ ऐसे ही कुछ आयुर्वेदिक नियमों के बारे में जानें।

यह भी पढ़ें -   अवैध गैस रिफिलिंग करते एक आरोपी गिरफ्तार, दो फरार

आयुर्वेदिक एक्सपर्ट वाजपेयी जी का कहना है कि बीमार पड़ने के पहले, ये काम केवल आयुर्वेद ही कर सकता है। अगर आपको किसी भी बीमारी के होने का भय है जैसे कैंसर या किडनी से संबंधित, तो आयुर्वेद के ये नियम आज से ही अपनाने शुरू कर दें।

आयुर्वेद के ये 10 नियम –

  1. कैंसर होने का भय लगता हो तो रोजाना कढ़ी पत्ते का रस पीते रहें। इससे आपको बहुत राहत महसूस होगी। कढ़ी पत्ते में डाइक्लोरोमेथेन, एथिल एसीटेट और महानिम्बाइन जैसे खास तत्व पाए जाते हैं।
  2. हार्टअटैक का भय लगता हो तो रोजाना अर्जुनासव या अर्जुनारिष्ट पीते रहिए।
  3. किडनी फेल होने का डर हो तो हरे धनिये का रस प्रातरू खाली पेट पिएं। हरे धनिये का रस थायरॉयड के लिए भी अच्छा होता है। थायरॉयड को कंट्रोल करने के लिए भी आपको इसे रोजाना सुबह खाली पेट पीना चाहिए।
  4. बवासीर होने की संभावना लगती हो तो पत्घ्थरचट्टे के हरे पत्ते रोजाना सबेरे चबा-चबाकर खाएं।
  5. सर्दी-जुकाम की संभावना हो तो रेगुलर कुछ दिन गुनगुने पानी में थोड़ा सा हल्दी चूर्ण डालकर पिएं। आप चाहे तो सर्दियों में मिलने वाली कच्ची हल्दी का इस्तेमाल कर सकती है। हल्घ्दी एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होने के कारण आपको सर्दी-जुकाम से बचाती हैं।
  6. गंजा होने का भय हो तो बड़ की जटाएं कुचलकर नारियल के तेल में उबालकर छानकर, रोजाना नहाने के पहले उस तेल की मसाज करें।
  7. दांत गिरने से बचाने हो तो फ्रिज का ठंडा पानी पीना बंद कर दें।
  8. डायबिटीज से बचाव के लिए तनावमुक्त रहें, एक्घ्सरसाइज करें, रात को जल्दी सो जाएं, चीनी नहीं खाएं। हो आप थोड़ी सी मात्रा में गुड़ का सेवन कर सकती हैं। ऐसा इसलिए क्घ्योंकि डायबिटीज से ग्रस्त लोगों को मीठा खाने की इच्छा बहुत ज्यादा होती है।
  9. किसी चिन्ता या डर के कारण नींद नहीं आती हो तो रोज़ाना भोजन के दो घन्टे पहले 20 या 25 मि. ली. अश्वगन्धारिष्ट, 200 मि. ली. पानी में मिलाकर पिएं।
  10. पित्त की शिकायत का भय हो तो रोजाना सुबह-शाम आंवले का रस पिएं। विटामिन सी से भरपूर अलावा वेट लॉस में मदद करने के साथ-साथ आपकी हेल्थ बालों और स्किन के लिए भी बहुत अच्छा होता है।
यह भी पढ़ें -   चमोली पुलिस ने जीता श्रद्धालुओं का दिल, जाम में फँसे श्रद्धालुओं को बांटी पानी की बोतलें

किसी बीमारी का भय नहीं हो तो भी रोजाना 15 मिनट अनुलोम-विलोम, 15 मिनट कपालभाती, 12 बार सूर्य नमस्कार करें। खुद को हेल्दी रखने के लिए आप इतना तो कर ही सकती हैं। हेल्दी रहने के लिए धन नहीं लगता, थोड़ी स्फूर्ति, थोड़ी जागरूकता व थोड़ा परिश्रम लगता है।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.