Balgam

बदलते मौसम में गले और छाती में अक्सर बलगम जम जाता है इन चीजों द्वारा कैसी बढ़ेगी इम्यून पावर, आइए जानते हैं

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। ज्यादा गर्मी के बाद जब बारिश होती है तो एकदम मौसम बदल जाता है और इस मौसम में जो सबसे बड़ी समस्या है, वो है छाती और गले में बलगम यानी कफ जमना। छाती में जमा कफ आपको काफी परेशान कर सकता है। इससे आपको घरघराहट, सोने में परेशानी, गले में खराश, स्वाद बिगड़ना और बेचैनी जैसी समस्याएं हो सकती हैं।
छाती में बलगम जमना सामान्य है, जो आमतौर पर अपने आप ठीक हो जाता है। हालांकि, अगर किसी व्यक्ति को नियमित रूप से छाती में जकड़न महसूस होती है, तो यह अन्य गंभीर लक्षणों के कारण हो सकता है।
छाती में हमेशा कफ रहना एसिड रिफ्लक्स, एलर्जी, दमा, बैक्टीरियल और वायरल संक्रमण, क्रोनिक ब्रोंकाइटिस, सीओपीडी, फाइब्रोसिस और फेफड़ों के अन्य समस्याओं की वजह से हो सकता है, जिसका तुरंत इलाज किया जाना जरूरी है।
सर्दी-खांसी और गले में जमा कफ से छुटकारा पाने के लिए बार-बार एंटीबायोटिक दवाओं का इस्तेमाल करने से आपको कई दुष्प्रभाव हो सकते हैं। इसलिए हर बार गोली लेने से बचना चाहिए। इससे छुटकारा पाने के लिए हम आपको एक देसी इलाज बता रहे हैं।
बलगम हटाने के घरेलू उपाय

गुड़
भोजन के बाद थोड़े से गुड़ का सेवन काफी फायदेमंद होता है, क्योकि गुड़ की तासीर गर्म होती है, और इसके दोहरे फायदे है क्योकि यह कफ को कम करने के साथ ही पाचन क्रिया को बेहतर बनाता है।

यह भी पढ़ें -   हल्द्वानी में शादी का झांसा देकर युवती से दुष्कर्म, वीडियो वायरल करने की धमकी

शहद और नींबू
शहद और नींबू का पानी एक चम्मच शहद और दो चम्मच नींबू का रस गर्म पानी में मिलाकर पिएं। इस उपाय से गला साफ होगा क्योंकि नींबू बलगम को काटने का काम करता है। और शहद से गले को आराम मिलता है।

तुलसी और अदरक
तुलसी, सौंठ, अदरक और शहद जैसी चीजों का सेवन कफ को कम करने में रामबाण होता है,और इन्हें किसी भी तरह से डाइट में शामिल किया जा सकता है और इनके साइड इफेक्ट भी नहीं है।
छाती में बलगम के घरेलू उपाय

काली मिर्च
सबसे पहले काली मिर्च के कुछ दानों को अच्छी तरह पीस लें। दो कप पानी गर्म करें और काली मिर्च का पाउडर उसमें मिक्स कर दें। जब पानी उबलकर एक चौथाई रह जाए तो इसे छान लें। अब इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर अच्छी तरह मिक्स कर लें। आपको इसका सुबह-शाम दोनों समय सेवन करना चाहिए।

नमक के पानी से गरारे
यह एक गले में खराश से निपटने का सबसे आम तरीका है। यह सुरक्षित और तत्काल राहत प्रदान करता है और गले में मौजूद बैक्टीरिया को खत्म करने में भी प्रभावी है। इसे तैयार करने के लिए, एक कप गर्म पानी लें और उसमें आधा चम्मच नमक मिलाएं। अच्छी तरह से मिलाएं और गरारे करें।

यह भी पढ़ें -   एक माह से लापता युवती बाजपुर में मिली

काढ़ा
इसे मूल रूप से सूखे मसाले और जड़ी-बूटियों से तैयार किया जाता है। इसके लाभ और औषधीय गुणों को पाने के लिए सबसे अच्छा तरीका यही है कि आप इसमें अदरक, शहद और तुलसी के पत्ते जरूर मिक्स करें। तुलसी के पत्ते, काली मिर्च और अदरक को एक साथ पीस लें और फिर उन्हें पानी में उबालें। इसे मीठा करने के लिए आप कुछ शहद जोड़ सकते हैं। यह काढ़ा सर्दी और खांसी के लिए अद्भुत काम करता है।

गले का बलगम कैसे दूर करें

लहसुन
आप कफ जमने की समस्या से छुटकारा पाने के लिए लहसुन खा सकते हैं। क्योंकि लहसुन की तासीर गर्म होती है। यह सर्दी जुकाम से बचने में मदद करता है। इसके अलावा गुड़ खा सकते हैं। गुड़ की तासीर गरम होती है। गुड़ के सेवन सीने और गले में जमा कफ साफ हो जाता है।

एसेंशियल ऑयल
कुछ एसेंशियल ऑयल श्वास और छाती में जमा बलगम को ढीला कर सकते हैं। कुछ तेल श्वसन पथ को संक्रमित करने वाले बैक्टीरिया के विकास को रोक सकते हैं। इनमें तुलसी, दालचीनी, पुदीना, रोजमैरी, अजवायन और ओरिगैनो का तेल शामिल है।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.