30

सेमीफाइनल में भारत की शर्मनाक हार, टूट गया वर्ल्ड कप का सपना

Ad Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, एडिलेड। कप्तान जोस बटलर (80 नाबाद) और एलेक्स हेल्स (86 नाबाद) की विस्फोटक बल्लेबाजी की वजह से यहां एडिलेड ओवल में गुरुवार को खेले गए टी20 विश्व कप 2022 के दूसरे सेमीफाइनल में इंग्लैंड ने भारत को 10 विकेट से शर्मनाक मात देकर फाइनल में जगह बना ली। भारत के 168 रनों के जवाब में इंग्लैंड की टीम ने 16 ओवर में ही 170 रन बनाकर लक्ष्य हासिल कर लिया।

टीम इंडिया की इस करारी हार के ये पांच प्रमुख कारण रहे …….

Ad Ad Ad
  1. सलामी जोड़ी का फेल होना – टीम इंडिया का टी20 विश्वकप जीतने का सपना इंग्लैंड ने चकनाचूर कर दिया। इंग्लैंड की सलामी जोड़ी ने जहां शतकीय साझेदारी करके अपनी टीम को जीत दिलायी तो वहीं टीम इंडिया की सलामी जोड़ी एकबार फिर से फेल रही। अबकी बार केएल राहुल दूसरे ओवर में आउट हो गए। पूरे विश्वकप में टीम इंडिया को ओपनिंग जोड़ी ने एक भी अर्धशतकीय साझेदारी देने में असफल रही. कभी रोहित तो कभी राहुल पावर-प्ले में फेल होते नजर आए। आज केएल राहुल ने 5 गेंदों पर 5 रन बनाकर अपना विकेट दूसरे ओवर में ही गंवा दिया।
  2. पहले 15 ओवर में धीमी बल्लेबाजी – केएल राहुल के आउट होने के बाद दूसरे ओवर में कोहली मैदान में आए तो रोहित तेजी से रन नहीं बना पाए। दोनों के बीच 43 गेंदों पर 47 रनों की साझेदारी जरूर की लेकिन गेंदबाजों पर दबाव नहीं बना पाए। राशिद के खिलाफ दोनों बल्लेबाज हाथ नहीं खोल पाए। इसके बाद रोहित तेजी से रन बनाने के चक्कर में अपना विकेट नवें ओवर में गंवा बैठे। इसके बाद आए सूर्यकुमार भी केवल 10 गेंदों में 14 रन बनाकर कैच आउट हो गए। इसके बाद आए हार्दिक पांड्या ने अर्धशतक 63 (33) बनाते हुए आखिरी 3 ओवरों में तेजी से रन बनाए, लेकिन ये रन जीत के लिए काफी साबित नहीं हुए। वहीं कोहली भी 18वें ओवर की आखिरी गेंद पर आउट होकर चलते बने। कोहली व पांड्या के बीच 40 गेंदों पर 61 रन की साझेदारी भी धीमी मानी गयी।
  3. भुवनेश्वर व अर्शदीप का बेअसर होना – टीम इंडिया के तेज गेंदबाजों ने अब तक बांग्लादेश के छोड़कर हर मैच में शुरुआती सफलता दिलायी। भुवनेश्वर व अर्शदीप पावर प्ले में कारगर दिखे व विकेट भी चटकाए थे। लेकिन सेमीफाइनल में दोनों तेज गेंदबाज फेल साबित हो गए। भुवनेश्वर ने 2 ओवरों में 25 रन तो अर्शदीप ने 2 ओवरों में 15 रन दिए। इन दोनों गेंदबाजों पर कुल 5 चौके व 1 छक्के भी जड़े गए। इसके पहले भुवनेश्वर का पहला ओवर पारी के लिए काफी महंगा साबित हुआ और उसमें तीन चौके लगाकर भारतीय गेंदबाजी की शुरुआत बिगाड़ दी।
  4. फ्लॉप अक्षर पटेल को जरुरत से ज्यादा मौका – रविन्द्र जडेजा के घायल होने के बाद स्पिन गेंदबाज व ऑलराउंडर के रुप में शामिल अक्षर पटेल पूरे विश्वकप में फेल रहे लेकिन टीम प्रबंधन ने उन्हें सारे मैचों में मौका दिया। वह न तो बल्लेबाजी से कोई योगदान दे सके और न ही गेंदबाजी में अपनी छाप छोड़ पाए। वह कई मैचों में अपना कोटा भी पूरा नहीं कर पाए थे। लेकिन आज के मैच वह 4 ओवर फेंकने वाले इकलौते गेंदबाज थे। जबकि इंग्लैंड के स्पिनरों ने बहुत ही बेहतरीन गेंदबाजी करके बीच के ओवरों में टीम इंडिया को खुलकर रन नहीं बनाने दिया।
  5. अश्विन की नहीं चली स्पिनस – विश्वकप में उम्र दराज खिलाड़ी आर. अश्विन को भी पूरा मौका दिया गया, लेकिन वह एक भी मैच अपनी गेंदबाजी के दम पर जिता न सके। उनकी गेंदबाजी पूरे विश्वकप के दौरान औसत दर्जे की रही। आज के मैच में वह 2 ओवरों में 27 रन लुटा बैठे। वह आज के सबसे महंगे गेंदबाज साबित हुए। वहीं इंग्लैंड के गेंदबाज राशिद ने रोहित व कोहली के साथ साथ अन्य बल्लेबाजों को बांधे रखा व 4 ओवरों में केवल 20 रन देकर सूर्यकुमार का विकेट भी हासिल किया। उनके ओवर की पहली गेंद पर केवल एक चौका लगा था उसके बाद उन्होंने काफी शानदार गेंदबाजी की।
Jai Sai Jewellers
AlShifa
यह भी पढ़ें -   6.60 ग्राम स्मैक के साथ पकड़ा गया तस्कर, पूर्व में भी स्मैक की तस्करी में रह चुका है जेल में बंद
BholaJewellers
ChamanJewellers
HarishBharadwaj
JankiTripathi
ParvatiKirola
SiddhartJewellers
KumaunAabhushan
OmkarJewellers
GandhiJewellers
GayatriJewellers

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *