सेहत के लिए टहलना बेहतर है या दौड़ना? जानते हैं किस तरह दोनों स्वास्थ्य के लिए होते हैं असरदार

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। लंबे उम्र तक स्वस्थ और तंदुरुस्त रहने के लिए एक्सपर्ट हमेशा टहलने और दौड़ने की सलाह देते हैं। कुछ टहलना प्रिफर करते हैं तो कुछ दौड़ना। लेकिन इस भाग-दौड़ भरी जिंदगी में हम अपनी सेहत का ख्याल रखना कभी-कभी भूल जाते हैं। हम सभी वेल्थ के पीछे इतना भागने लगें हैं कि हेल्थ पर हमारा ध्यान ही नहीं जाता है। वहीं देखा जाए तो कई लोग सेहत को लेके बहुत फोकस्ड भी रहते हैं, मगर जानकारी के अभाव के कारण हेल्थ को लेकर सही गोल पर नहीं पहुंत पाते हैं। अक्सर लोग वॉकिंग और रनिंग में कंफ्यूज हो जाते हैं कि उनके लिए क्या करना बेहतर होता है। आपको बता दें कि दोनों ही कार्डियो एक्सरसाइज है। आइए जानते हैं कि दोनों में क्या अंतर होता है और आपके लिए क्या करना ज्यादा सही होगा।

वॉकिंग
हर किसी को डेली आधा घंटा जरूर वॉक करना चाहिए। एक्सपर्ट्स का कहना है कि वॉकिंग शरीर के लिए सबसे बेहतर एक्सरसाइज होता है। वॉकिंग कहीं पर भी कर सकते हैं चाहे घर हो या फिर छत. लेकिन कभी घूमने को वॉकिंग समझने की गलती ना करें। वॉकिंग करते वक्त आपको पूरी फोकस करते हुए कम से कम आधे घंटे टहलना होगा तो ही वॉकिंग का फायदा उठा पाएंगे। कोशिश करें कि सुबह के समय वॉकिंग करें इससे शरीर को स्वच्छ और ताजी हवा भी मिलेगी।

यह भी पढ़ें -   शास्त्रों में मोरपंखी पौधे को बहुत शुभ बताया गया है जोड़े में लगाएं ये पौधा

शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए वॉकिंग अच्छा ऑप्शन होता है। वॉकिंग से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। टहलने से कैलोरी भी बर्न होती है, जिससे वजन कम करना आसान होता है। तनाव, चिंता जैसी समस्याएं दूर होती हैं और मूड भी सही होता है। वॉकिंग एक कार्डियों एक्सरसाइज है। वॉक करने से हार्ट बीमारी से निजात मिलता है, हड्डियां मजबूत होती है और मांसपेशियां की शक्ति बढ़ाने में मदद होती है, एक्स्ट्रा चर्बी कम होती है।

वॉकिंग के फायदे

  1. तेज गति से चलने पर 9.3 फीसदी दिल की बीमारी की आशंका कम हो जाती है।
  2. 7.2 फीसदी तक ब्लड प्रेशर का खतरा कम हो जाता है।
  3. 12 फीसदी डायबिटीज का खतरा कम किया जा सकता है।
  4. 4.3 फीसदी कोलेस्ट्रोल का खतरा कम किया जा सकता है।
  5. प्रतिदिन 10 हजार कदम चलने से कई गंभीर बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।
यह भी पढ़ें -   देश भारत विश्व के अन्य देशों का योग के क्षेत्र में नेतृत्व कर रहा है: अजय भट्ट

रनिंग

किसी भी उम्र में हम टहल सकते हैं लेकिन दौड़ना सबके बस की बात नहीं है. दौड़ने से पैरों में मोच आना, मांसपेशियों में दर्द, सांस फूलने जैसी समस्याएं होती हैं। हालांकि, ये समस्याएं शुरुआती दौर में होती हैं। लेकिन अगर आप नियमित रूप से दौड़ते हैं, तो इसके भी सेहत को कई लाभ होते हैं। रनिंग से बॉडी में ब्लड फ्लो तेजी से होता है। दिल के लिए एक बेहतर एक्सरसाइज है रनिंग. वजन कम करने के लिए दौड़ना अधिक लाभदायक है, क्योंकि इससे शरीर की चर्बी और कैलोरी जल्दी बर्न होती है। जिन लोगों को शरीर के निचले हिस्से में दर्द रहता है उन्हें दौड़ने से बचना चाहिए। इससे जोड़ों और हड्डियों पर बुरा असर पड़ता है।

रनिंग के फायदे

  1. रक्त संचार बढ़ता है।
  2. मांसपेशियां मजबूत होती है।
  3. तेजी से वजन कम करने के लिए दौड़ना बेहतर विकल्प है।
  4. डायबिटीज का खतरा कम होता है। इंसुलिन बनने की प्रक्रिया बेहतर होती है।
  5. दौड़ने से आत्मविश्वास भी बढ़ता है।

रनिंग के नुकसान

  1. फ्रेक्चर की समस्या हो सकती है।
  2. शिन स्पिलंट्स
  3. आईटीबी फ्रिक्शन सिंड्रोम
Ad Ad Ad Ad Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440