ghamoriyan

बढ़ती गर्मी से बढ़ती उमस की वजह से अक्सर घमौरियां होना आम बात है, घमौरी से बचने के लिए आजमाएं ये नुस्खे, चुटकियों में मिलेगा आराम

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। चिलचिलाती धूप की किरणें और तेजी से बढ़ती गर्मी व उमस की वजह से घमौरियां होना आम बात है। घमौरियां गर्दन, पीठ में सबसे ज्यादा होती हैं। इसमें त्वचा में खुजली और उसके बाद जलन पैदा होती हैं। घमौरियां पसीने की वजह से होती है। गर्मियों में तंग कपड़े और पसीने की वजह से घमौरियों की समस्या होती है। इससे निजात पाने के लिए हम मार्केट में मिलने वाले कई तरह के प्रोडक्ट का इस्तेमाल करते हैं, जो घमौरियों की समस्या से छुटकारा तो दिला देता है लेकिन कई और तरह की समस्या बढ़ा देता है। इससे बचने के लिए हम एक ऐसी पत्ती का इस्तेमाल कर सकते हैं जो आपको इस समस्या से तुरंत छुटकारा दिलाएगा और इससे कोई साइड इफेक्ट होने का भी डर नहीं होगा। आइए जानते हैं उस पत्ती के बार में…

क्या है घमौरी
गर्मियों में अक्सर धूल मिट्टी के कारण पसीने की ग्रन्थियों का मुंह बन्द हो जाता है. या फिर पसीना, त्वचा में मौजूद मृत कोशिका और बैक्टीरिया के साथ स्वेद ग्रंथि को भी बंद कर देता है. जिसके कारण हमारे शरीर पर छोटे-छोटे लाल दाने निकल आते हैं। इन दानों में खुजली व जलन होती है और इसे ही सामान्य भाषा में हम इसे घमौरी कहा जाता है।

घमौरी से बचने के घरेलू उपाय
घमौरी से बचने के लिए लोग अक्सर दवाइयों का सहारा लेते हैं या फिर डॉक्टर के पास जाते हैं। जबकि इसे ठीक करने के लिए आपको महंगी दवाइयों की जरूरत बिलकुल नहीं है। आप कुछ घरेलू उपाय अपनाकर इससे मुक्ति पा सकते हैं।

खीरा
खीरे में ठंडक पहुंचाने के शक्तिशाली गुण होते हैं. यह घमौरी से मुक्ति दिलाने का कारगर उपाय है। इसके लिए एक ग्लास पानी में एक नींबू का रस निचोड़ लें और खीरे के पतले- पतले टुकड़े काटकर इसमें डुबो दें. कुछ देर बाद इन टुकड़ों को घमौरियों पर रगड़ें। इससे घमौरियों की जलन और खुजली से राहत मिलेगी। साथ ही घमौरियां जल्दी ठीक हो जाएंगी

यह भी पढ़ें -   मन बड़ा चंचल होता है शुक्रवार को जन्मे लोगों का, जानिए इनकी कुछ और खासियतें

एलोवेरा
त्वचा संबंधी समस्याओं से बचने के लिए एलोवेरा को रामबाण माना जाता है। घमौरियों से भी एलोवेरा राहत दिलाता है। एलोवेरा के पत्तों का गूदा निकालकर दिन में दो सो तीन बार घमौरियों पर लगाए। 20 से 30 मिनट इसे लगा रहने दे फिर पानी से धो लें. घमौरियों से जल्द राहत मिलेगी।

नारियल का तेल
नारियल का तेल हर तरह की त्वचा संबंधी समस्याओं को दूर करता है। नारियल के तेल में कपूर मिलकर शरीर की मालिश करें। इससे घमौरियों से जल्द छुटकारा मिलेगा।

हल्दी
हल्दी हमारी त्वचा के लिए बेहद लाभकारी है। घमौरियां खत्म करने के लिए नमक, हल्दी और मेथी दाने बराबर मात्रा में लेकर पीस लें। पानी मिलाकर इसका उबटन बनाएं और नहाने से पांच मिनट पहले पूरे शरीर में लगाएं और पांच मिनट बाद नहा लें। सप्ताह में एक बार इसका प्रयोग करने से घमौरियों, फुंसियों तथा त्वचा की सभी बीमारियों से मुक्ति मिलती है। साथ ही त्वचा मुलायम और चमकदार भी हो जाती है।

मुलतानी मिट्टी
घमौरी के उपचार के लिए मुल्तानी मिट्टी अचूक औषधि है। घमौरी में मुल्तानी मिट्टी का लेप लगाने से लाभ मिलता है। मुल्तानी मिट्टी में गुलाब जल मिलाकर घमौरियों पर लगाने से जल्द राहत मिलेगी। इस लेप से घमौरी में होने वाली जलन और खुजली में भी राहत मिलती है।

यह भी पढ़ें -   अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर विधानसभा अध्यक्षा ने विधान सभा भवन में किया योगाभ्यास

नीम की पत्तियों को पानी में डालकर नहाएं
अगर आपके घर के आसपास नीम का पेड़ है तो यह बहुत ही बेहतर है। नीम की पत्ती कई समस्याओं का चुटकियों में निवारण कर देती है। इसी में एक समस्या घमौरियों की भी है। अगर आप घमौरियों की समस्या से परेशान हैं और इससे निजात पाना चाहते हैं तो नीम की पत्ती आपके लिए रामबाण है। इसका उपयोग करने के लिए नीम की पत्तियों को थोड़े से पानी में उबाल लें और इस पानी को थोड़ा ठंडा होने दें। फिर इसी पानी को पूरे शरीर में डाल दें। गर्मियों में आप रोज नीम के पत्ती के पानी से नहा सकते हैं। इससे घमौरियों की समस्या चुटकियों में दूर हो जाएगी।

खुजली और दाद की समस्याओं से भी मिलेगा छुटकारा
इसके अलावा शरीर में खुजली और दाद पैदा हो जाते हैं तो उसके लिए भी नीम कारगर है। इससे छुटकारा पाने के लिए नीम की पत्तियों को अच्छे से पीस लें। पिसी हुई नीम की पत्तियों को दही के साथ मिला लें और फिर इसे उस जगह में लगाएं, जहां दाद, खुजली या लाल रैशेज पड़ गए हो। यह लेप आपको तुरंत राहत दिलाएगा।

रेड रैशेज भी मिलेगा निजात
नीम ठंडक देती है। यह त्वचा से संबंधित कई रोगों को दूर करने में मदद करती हैं। गर्मी में होने वाले रेड रैशेज को भी नीम के तेल से दूर किया जा सकता है। इसे लगाने के लिए नीम के तेल में थोड़ा सा कपूर डालकर भिगो दें और फिर इसके तेल को शरीर में रेड रैशेज की जगह में लगाएं। इससे आपको तुरंत आराम मिलेगा।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.