हल्द्वानी में केजरीवाल बोले: सरकार आने के छह माह में देंगे हर बेरोजगार को रोजगार

खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने उत्तराखंड विधानसभा चुनावों के मद्देनजर बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि सरकार आने के छह माह में हर बेरोजगार को रोजगार दिया जायेगा।

रविवार को यहां नैनीताल रोड स्थित होटल में पत्रकारों से बातचीत करते हुए दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने कहा कि सरकार आने के छह माह में हर बेरोजगार को रोजगार देंगे। तब तक उसे हर माह पांच हजार बतौर बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा। उत्तराखंड के युवाओं पर फोकस करते हुए केजरीवाल ने कहा कि आप की सरकार में रोजगार एवं पलायन मंत्रालय का गठन होगा। ताकि इन समस्याओं का समाधान हो सके। इसके अलावा सरकारी व प्राइवेट नौकरियों में स्थानीय लोगों के लिए 80 प्रतिशत आरक्षण की बात भी कहीं।

यह भी पढ़ें -   कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी को नगर निगम की महिला कर्मियों ने बांधा रक्षासूत्र

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पिछले 21 साल में उत्तराखंड की नदियों, पहाड़, जंगल सभी को लूटा गया। हम 21 साल की इस दुर्दशा को 21 महीने में ठीक करने का प्लान बना रहे हैं। सड़क, अस्पताल, सड़कें सब ठीक होंगी। केजरीवाल ने स्वयं का उदाहरण देते हुए कहा कि मैं कोई नेता नहीं हूं और न ही राजनीति करता हूं। लेकिन किसी भी काम को करने से पहले होम वर्क करते हैं। जिसका सबसे बड़ा उदाहरण दिल्ली है। उत्तराखंड के युवाओं की बात करते हुए कहा कि इनमें दम हैं मगर मजबूरी में रोजगार की खातिर पलायन करना पड़ रहा है। अलग से गठित मंत्रालय इस मुद्दे पर भी काम करेगा कि कैसे इनका रिवर्स पलायन हो। इसके लिए रोजगार के साधन पैदा करने होंगे। कई दलों के लोगों के आप से जुड़ने के सवाल पर केजरीवाल ने कहा कि अगर कोई ईमानदार व्यक्ति संगठन से जुड़े तो हम उसका स्वागत करेंगे। बिजली फ्री और बेरोजगारी भत्ते देने को लेकर दिल्ली के सीएम ने कहा कि चोरी और करप्शन बन्द कर इनके लिए आसानी से बजट जुटेगा। कहा कि 300 यूनिट बिजली मुफ्त, पुराने बिल मांफ और किसानों को भी सुविधा मिलेगी।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.