बेरोजगार युवाओं की महाआक्रोश रैली में नेता प्रतिपक्ष यशपाल बोले – भाजपा सरकार कर रही है भर्तियों में घोटाले

खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। उत्तराखंड में भर्ती घोटाले के खिलाफ बेरोजगार युवाओं की महा आक्रोश रैली हुई। जिसमें वक्ताओं ने भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला। साथ ही सीबीआई जांच की मांग की। इसके बाद कॉलेज के समक्ष गेट से बु़द्ध पार्क में जुलूस निकाला गया और एसडीएम को ज्ञापन सौंपा गया। यूकेएसएसएससी, यूकेपीएससी व अन्य भर्तियों में हुए घोटाले का पर्दाफाश एवं सीबीआई जांच की मांग को लेकर उत्तराखंड युवा एकता मंच के बैनर तले युवा महा आक्रोश रैली निकाली गई। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत कुमाऊं भर से हजारों की संख्या में युवा एमबीपी कॉलेज के समक्ष पार्क में एकत्रित हुए। जहां उन्होंने भर्ती घोटालों पर जमकर आक्रोश जताया। इस दौरान नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्या, उप नेता प्रतिपक्ष भुवन कापड़ी, विधायक हल्द्वानी सुमित हरदेश, पूर्व विधायक संजीव आर्य सहित अन्य संघटनो के लोगों ने युवाओं को समर्थन दिया। इस दौरान नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने कहा कि भाजपा सरकार में हुई भर्तियों में खुलेआम घोटाले हुए हैं। उत्तराखंड विधानसभा में बैक डोर से नियुक्तियां की गई हैं। जिसमें सरकार में शामिल मंत्रियों व नेताओं के चहेतों को तवज्जो दी गई है। जो युवाओं के साथ खुला अन्याय है। उन्होंने कहा कि इन भर्तियों की निश्चित रूप से सीबीआई से जांच कराई जानी चाहिए। उप नेता प्रतिपक्ष भुवन कापड़ी ने कहा कि जीरो टोलरेंस का दावा करने वाली भाजपा सरकार में एक के बाद एक घोटाले उजागर हो रहे हैं। लेकिन सरकार दोषियों पर कार्रवाई के बजाय उन्हें बचाने का काम कर रही है।

युवाओं के साथ अन्याय कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा: सुमित
विधायक सुमित हृदयेश ने कहा कि युवाओं के साथ अन्याय कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। युवाओं के हित में कांग्रेस सड़क से लेकर सदन तक संघर्ष को तैयार है। उत्तराखंड युवा एकता मंच की मीमांशा आर्या, शैलेंद्र दानू ने कहा कि बेरोजगारों के साथ अन्याय किया जा रहा है। अब तक विभिन्न विभागों में भर्ती घोटाले हुए जिसमें कई पार्टी से जुड़े नेता शामिल हैं। लेकिन जांच के नाम पर भी बेरोजगारों के साथ धोखा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अब तक हुई भर्तियों की जांच और घोटाले में लिप्त आरोपितों पर सख्त कार्रवाई की जाए। इस दौरान तिकोनिया स्थित बुद्घ पार्क तक रैली निकाली गई। जहां युवाओं ने राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन एसडीएम मनीष कुमार को सौंपा। जिसमें सीबीआई जांच के लिए एक सप्ताह का समय दिया गया है। ऐसा न होने पर एक सप्ताह बाद अनिश्चितकालीन आंदोलन शुरू करने की चेतावनी दी गई है। युवा महा आक्रोश रैली को कांग्रेस, आप, उक्रांद समेत कई संगठनों ने अपना समर्थन दिया। उन्होंने युवाओं की इस लड़ाई में पूर्ण समर्थन देने का ऐलान किया।

यह भी पढ़ें -   सनकी रिश्तेदार ने 2 साल के मासूम बच्चे की गला काटकर की हत्या

महा आक्रोश रैली शांतिपूर्ण ढ़ंग से संपन्न कराने के लिए पुलिस-प्रशासन चौकस रहा। रैली स्थल के आस-पास पर्याप्त संख्या में पुलिस बल तैनात रहा। एसपी क्राइम डॉ जगदीश चन्द्र स्थिति पर लगातार नजरें रखे रहे। सुरक्षा की दृष्टि से जिले के अलावा आस-पास के क्षेत्रों से पुलिस बल तैनात किया गया। साथ ही पीएसी भी तैनात रही।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.