तीसरी बार भारत के प्रधानमंत्री बने नरेंद्र मोदी, 72 मंत्रियों ने ली शपथ, देंखे पूरी सूची

खबर शेयर करें

समाचार सच, नई दिल्ली (एजेन्सी)। लोकसभा चुनाव 2024 के नतीजों के बाद अब 18वीं लोकसभा का गठन हो गया है. नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति भवन में रविवार शाम 7.15 बजे प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. नरेंद्र मोदी ने लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. पीएम मोदी वाराणसी से लगातार तीसरी बार चुनाव जीते हैं. पीएम मोदी के बाद कैबिनेट मंत्री के रूप में राजनाथ सिंह ने पद और गोपनीयता की शपथ ली. राजनाथ सिंह ने लखनऊ से जीत दर्ज की है. पिछली सरकार में राजनाथ सिंह रक्षा मंत्री रहे थे. इसके बाद अमित शाह ने कैबिनेट मंत्री के रूप में पद और गोपनीयता की शपथ ली.अमित शाह गुजरात के गांधीनगर से रिकॉर्ड मतों से जीत हासिल की थी. इसके बाद पिछली सरकार में सड़क और परिवहन मंत्री रहे नितिन गडकरी ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. गडकरी ने नागपुर लोकसभा सीट से चुनाव जीतकर आये हैं. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे जेपी नड्डा ने भी कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. वहीं, मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. शिवराज सिंह चौहान विदिशा से रिकॉर्ड मतों से चुनाव जीते हैं. एमपी में बीजेपी की ऐतिहासिक जीत में शिवराज सिंह चौहान का बहुत बड़ा योगदान है. पूरे प्रदेश में मामा के नाम से वो विख्यात हैं. बीजेपी नेता के रूप में उन्होंने सबसे ज्यादा 4 बार सीएम पद पर रह चुके हैं. इसके बाद पिछली सरकार में केंद्रीय वित्त मंत्री रही निर्मला सीतारमण ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. निर्मला सीतारमण राज्यसभा सांसद हैं.

पिछली सरकार में विदेश मंत्री रहे एस जयशंकर ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. ब्यूरोक्रेट से पॉलिटिशियन बने जयशंकर गुजरात से राज्यसभा सांसद हैं. इस दौरान उन्होंने कई ऐसे फैसले लिए, जो सुर्खियों में बने रहे. मनोहर लाल खट्टर ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. उन्होंने करनाल लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा था. करीब ढाई लाख वोटों से उन्होंने चुनाव जीता था. वो हरियाणा के सीएम भी रह चुके हैं. जेडीएस के सांसद एचडी कुमारस्वामी ने पीएम मोदी के तीसरे कार्यकाल में मंत्री पद की शपथ ली. एचडी कुमारस्वामी कर्नाटक के मंड्या लोकसभा क्षेत्र से सांसद हैं.

बीजेपी नेता पीयूष गोयल ने भी केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. पीयूष गोयल इससे पहले के मोदी सरकार के दोनों कार्यकाल में मंत्री पद संभाल चुके हैं. पीएम मोदी के दूसरे कार्यकाल में पीयूष गोयल केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री थे. इस बार के लोकसभा चुनाव में उन्होंने महाराष्ट्र में सबसे अधिक मतों के अंतर से जीत दर्ज किया है. उन्होंने मुंबई उत्तर लोकसभा सीट से अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के भूषण पाटिल को 3,57,608 मतों से पराजित किया. धर्मेन्द्र प्रधान ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली. उन्होंने ओडिशा के संबलपुर सीट से जीत दर्ज की है.

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और गया लोकसभा क्षेत्र से जीत हासिल करने वाले हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (सेक्युलर) के जीतन राम मांझी ने मंत्री पद की शपथ ली. गया निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव जीतने वाले जीतन राम मांझी ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी राजद के कुमार सर्वजीत को एक लाख से अधिक वोटों से पराजित किया है. जेडीयू खेमे से पार्टी के पूर्व अध्यक्ष, वरिष्ठ नेता और मुंगेर लोकसभा सीट से सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फ ​​ललन सिंह ने मंत्री पद की शपथ ली है. असम के पूर्व मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. लोकसभा चुनाव 2024 में सर्बानंद सोनोवाल ने असम जातीय परिषद (एपीजे), इंडिया ब्लॉक के लुरिनज्योति गोगोई को करीब तीन लाख वोटों से हराकर दूसरी बार डिब्रूगढ़ से चुनाव जीते है.

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड विधानसभा उपचुनावः भाजपा ने बदरीनाथ से राजेंद्र भंडारी और मंगलौर से करतार सिंह को बनाया प्रत्याशी

वीरेंद्र कुमार ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. मध्य प्रदेश के बुंदेलखंड से आठ बार के सांसद वीरेंद्र कुमार अपनी सादगी के लिए काफी विख्यात हैं. वो खटीक टीकमगढ़ से सांसद हैं. लोकसभा चुनाव 2024 में बीजेपी उम्मीदवार रहे वीरेंद्र खटीक ने कांग्रेस के पंकज अहिरवार को 4 लाख से ज्यादा वोटों से हराया है. कैबिनेट मंत्री के रूप में टीडीपी नेता और सांसद किंजरापु राम मोहन नायडू ने भी केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. इस कैबिनेट में वो सबसे कम उम्र के मंत्री हैं. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने प्रह्लाद जोशी को केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ दिलाई. प्रह्लाद जोशी मोदी सरकार 2.0 में केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री थे. इसके अलावा वह कोयला और खदान मंत्री भी रहे हैं.

जुएल ओराम ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. जुएल ओराम ओडिशा में बीजेपी का बड़ा चेहरा है. ओडिशा के सुंदरगढ़ लोकसभा सीट से वो लगातार जीत रहे हैं. गिरिराज सिंह ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. बता दें, गिरिराज सिंह ने लोकसभा चुनाव में तीसरी बार जीतकर उन्होंने हैट्रिक लगाई है. उन्हें तीसरी बार मंत्री बनाया गया. पिछली सरकार में वो पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन मंत्री थे. अश्विनी वैष्णव ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. पिछली सरकार में वैष्णव रेल मंत्री रहने के साथ-साथ इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय भी संभाला था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तीसरी पारी में मध्यप्रदेश से ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी केंद्रीय मंत्री बनाया गया है. गुना लोकसभा सीट पर बंपर वोटों से जीत दर्ज करने वाले सिंधिया ने दूसरी बार मोदी सरकार में मंत्री बनेंगे. पिछली सरकार में वो नागरिक उड्डयन और इस्पात मंत्री थे.

मोदी 3.0 के तहत पीएम नरेंद्र मोदी के नए मंत्रिमंडल में भूपेंद्र यादव ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. भूपेंद्र यादव महज सात साल की उम्र से ही आरएसएस से जुड़ गये थे. वहीं, राजस्थान से बीजेपी के कद्दावर नेता गजेंद्र सिंह शेखावत ने भी केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. पिछली सरकार में गजेंद्र सिंह शेखावत केंद्रीय जल शक्ति मंत्री के रूप में रह चुके है. झारखंड से भाजपा नेता अन्नपूर्णा देवी ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. बता दें, पहली बार लोकसभा का चुनाव जीतकर साल 2019 में वह सांसद बनीं था. पिछली सरकार में वो मानव संसाधन विभाग का राज्यमंत्री बनाया गया था.

अरुणाचल प्रदेश से किरेन रीजीजू ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. रीजीजू अरुणाचल प्रदेश की पश्चिम सीट से सांसद हैं. उन्होंने लोकसभा चुनाव में बंपर मतों से जीत हासिल की है. हरदीप सिंह पुरी ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. हरदीप सिंह पुरी मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री और आवास व शहरी मामलों के मंत्री रह चुके हैं. गुजरात से बीजेपी नेता मनसुख मांडविया ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. मंडाविया गुजरात के पोरबंदर संसदीय क्षेत्र से लोकसभा चुनाव जीते हैं. पिछली सरकार में वह स्वास्थ्य और परिवार कल्याण और रसायन और उर्वरक मंत्री थे. तेलंगाना बीजेपी के अध्यक्ष जी किशन रेड्डी ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. रेड्डी ने सिकंदराबाद सीट से कांग्रेस उम्मीदवार को हराया है. मोदी सरकार 2.0 में भी वो केंद्रीय मंत्री रह चुके जी.

यह भी पढ़ें -   कुछ सावधानियां बरती जाएं तो लू लगने से बचा जा सकता है

इन सांसदों ने भी लिया मंत्री पद की शपथ
भाजपा की गुजरात इकाई के अध्यक्ष सी आर पाटिल ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली.
राव इंद्रजीत सिंह ने राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली.
उधमपुर से सांसद जितेंद्र सिंह ने राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली.
बीकानेर से सांसद अर्जुन राम मेघवाल ने राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली.
शिवसेना नेता प्रतापराव जाधव ने राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली।
रालोद नेता जयंत चौधरी ने राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली.

पीलीभीत से सांसद जितिन प्रसाद, उत्तरी गोवा के सांसद श्रीपद येसो नाइक और महाराजगंज के सांसद पंकज चौधरी ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली.
उजियारपुर से सांसद नित्यानंद राय, अपना दल (एस) की नेता अनुप्रिया पटेल, तुमकुरु से सांसद वी सोमन्ना ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली.
तेदेपा नेता पेम्मासानी चंद्रशेखर, आगरा के सांसद एसपी सिंह बघेल और बेंगलुरु उत्तर की सांसद शोभा करंदलाजे ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली.
गोंडा से सांसद कीर्तिवर्धन सिंह, राज्यसभा सदस्य बी एल वर्मा और बनगांव से सांसद शांतनु ठाकुर ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली.
त्रिशूर के सांसद सुरेश गोपी, राज्यसभा सदस्य एल मुरुगन और अल्मोड़ा के सांसद अजय टम्टा ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली.
तमिलनाडु के करीमनगर लोकसभा सीट से सांसद बंडी संजय कुमार, बांसगांव (उत्तर प्रदेश) के सांसद कमलेश पासवान और अजमेर (राजस्थान) के सांसद भागीरथ चौधरी ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली.
लुधियाना से लोकसभा चुनाव हारने वाले रवनीत सिंह बिट्टू और राज्यसभा सदस्य सतीश दुबे तथा संजय सेठ ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली.
मध्य प्रदेश की बैतूल सीट से सांसद दुर्गा दास उइके, महाराष्ट्र की रावेर सीट से सांसद रक्षा खडसे और पश्चिम बंगाल की बलूरघाट सीट से सांसद सुकांत मजूमदार ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली.

मोदी सरकार 3.0 में कुल 72 मंत्रियों ने शपथ लिया. केंद्रीय कैबिनेत की नई टीम में 30 कैबिनेट मंत्री, 5 स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्री और 36 राज्य मंत्री शामिल हैं. मंत्रियों में ओबीसी समुदाय से 27 मंत्री, एससी से 10, वहीं 5 मंत्री एसटी से हैं, जबकि 5 मंत्री अल्पसंख्यक समुदाय से हैं

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440