Omicron-2

ओमिक्रॉन के नए लक्षण आए सामने, कोरोना के पुराने वैरिएंट से बिल्कुल अलग

Ad - Harish Pandey
Ad - Swami Nayandas
Ad - Khajaan Chandra
Ad - Deepak Balutia
Ad - Jaanki Tripathi
Ad - Asha Shukla
Ad - Parvati Kirola
Ad - Arjun-Leela Bisht
खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। कोरोना वायरस का खतरनाक वैरिएंट ओमिक्रॉन दुनिया के साथ भारत में भी तबाही मचा रहा है. अभी तक देश में ओमिक्रॉन के 976 केस सामने आ चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, इससे कोरोना के मामले देश में लगातार बढ़ रहे हैं, जिसमें दिल्ली और महाराष्ट्र में सबसे अधिक केस सामने आए हैं।

हेल्थ एक्सपर्ट्स की तरफ से ओमिक्रॉन के लक्षणों के बारे में भी समय-समय पर जानकारी दी जा रही है और कहा जा रहा है कि अगर किसी में ये लक्षण दिखते हैं तो तुरंत किसी एक्सपर्ट की सलाह लें और खुद को आइसोलेट करें।

कोरोना महामारी की पिछली दोनों लहरों में बुखार, सर्दी-खांसी जैसे आम लक्षण थे। लेकिन ओमिक्रॉन से बुरी तरह प्रभावित यूनाइटेड किंगडम के एक शोधकर्ता ने 2 नए लक्षणों की पहचान की है. ये लक्षण आमतौर पर कोरोना वायरस से संबंधित नहीं हैं।

यह भी पढ़ें -   बीपीएल शिक्षा प्रयास समिति के बच्चों ने स्वतंत्रता दिवस के अमृत महोत्सव पर रंगारंग कार्यक्रमों की प्रस्तुति से बिखेरी देशभक्ति की छठा

क्या हैं ओमिक्रॉन के नए लक्षण
-किंग्स कॉलेज लंदन में जेनेटिक एपिडेमियोलॉजी के प्रोफेसर टिम स्पेक्टर के अनुसार, ओमिक्रॉन के 2 नए लक्षण मितली और भूख न लगना हैं। उनके मुताबिक, ये लक्षण उन लोगों में भी पाए जा रहे हैं, जिन्हें कोविड-19 वैक्सीन लग चुकी है और उन लोगो में भी मिल रहे हैं जिन्हें वैक्सीन का बूस्टर डोज भी लग चुका है।

-प्रोफेसर टिम स्पेक्टर के अनुसार, लोगों में मितली, हल्का बुखार, गले में खराश और सिरदर्द जैसे लक्षण भी दिख रहे हैं।

-वहीं अमेरिका में रोग नियंत्रण केंद्र के मुताबिक, ओमिक्रॉन से जुड़े कुछ सामान्य लक्षण खांसी, थकान, कफ और नाक बहना हैं।

यह भी पढ़ें -   आखिर कब है जन्माष्टमी? 18 या 19 अगस्त, जानिए तारीख

कुछ हफ्ते पहले सिंगल सेल डायग्नोस्टिक कंपनी के लिए काम करने वाले डॉ. रूस पैटरसन ने दावा किया कि पिछले वैरिएंट की तरह इस वैरिएंट में स्वाद और गंध की क्षमता खत्म नहीं हो रही है। ओमिक्रॉन, पैरैनफ्लुएंजा नामक वायरस के समान दिखता है।

दक्षिण अफ्रीका से हुई थी शुरुआत
ओमिक्रॉन वैरिएंट की शुरुआत 24 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका से हुई थी। उसके बाद से कोविड-19 का यह वैरिएंट दुनिया के 90 से अधिक देशों में फैल गया है। इसने दुनिया के कई प्रमुख देश जैसे अमेरिका और यूके में भी काफी तबाही मचा दी है। भारत की बात करें तो लगभग 976 ओमिक्रॉन के केस सामने आ चुके हैं।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.