वीरभट्टी पुल के पास पहाड़ी का हिस्सा ढहा, देखे हादसे का सोशल मीडिया में वायरल हुआ वीडियो…बाल-बाल बची यात्रियों से भरी केएमओयू बस

Ad
Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, नैनीताल। उत्तराखण्ड में मानसून के चलते पहाड़ी इलाकों में सफर करना जोखिम भरा हो गया है। आये दिन पहाड़ क्षेत्रों में जगह-जगह भूस्खलन की सूचना मिल रही है। नैनीताल जनपद में गुरूवार से लगातार बारिश होने से पहाड़ी क्षेत्रों में खतरा बढ़ गया है। शुक्रवार की शाम को नैनीताल जनपद के ज्योलीकोट-भवाली हाईवे पर स्थित वीरभट्टी पुल पर एक बार फिर खतरा मंडरा गया। पुल के अन्तिम छोर के समीप पहाड़ी का हिस्सा ढहने लगा और देखते-देखते पहाड़ी से गिर रहे मलवे ने पुल का रास्ता बंद कर दिया। जबकि हादसे के दौरान हल्द्वानी को आ रही यात्रियों से भरी केएमओयू बस बाल-बाल बच गयी। यात्रियों ने किसी तरह बस उतर कर अपनी जान बचाई। उक्त बस अल्मोड़ा से हल्द्वानी की ओर आ रही थी। आपको बता दें कि वीरभट्टी पुल पर गिरते पहाड़ के मलवे का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने से यह सूचना हर जगह फैल गयी। जिसने भी इस वीडियों को देखा वह एक बार जरूर सहम गया।

यह भी पढ़ें -   मण्डलायुक्त ने निर्माण कार्यों की ली समीक्षा बैठक दिए निर्देश, तय समय पर कार्य पूर्ण करना सुनिश्चित करें अधिकारी: सुशील कुमार

नैनीताल जिले वीरभट्टी पुल के पास अचानक कैसे ढहने लगा पहाड़ी का हिस्सा, देखिए फिर क्या हुआ…

आपको बता दें कि अंग्रेजों के जमाने में बना वीरभट्टी पुल पर से वर्ष 2017 में गुजरे रहे एलपीजी सिलेंडर लदे ट्रक में ब्लास्ट हो गया था। जिससे पुल क्षतिग्रस्त गया था और दोनों तरफ से आवाजाही बंद हो गयी थी। बाद में लोक निर्माण विभाग ने युद्ध स्तर पर कुछ दिनों में ही अस्थाई वैली ब्रिज बनवाया था। वर्तमान में भी इस वैली ब्रिज की जगह नए टू लेन स्टील गार्डर पुल के निर्माण का काम चल रहा है। और निर्माण हेतु पुल से लगे पहाड़ी को जेसीबी की मदद से काटा भी जा रहा था। यही पहाड़ शुक्रवार की शाम करीब 5 बजे अचानक ढहने लगा। उसी दौरान अल्मोड़ा से हल्द्वानी की ओर यात्रियों से भरी केएमओयू की बस भी आ रही थी। इस हादसे को देखते ही सभी यात्रीगण सहम गयें और बस की खिड़की व दरवाजें से कूद कर पीछे की ओर भागने लगे। इधर मौके की स्थिति को भापते ही चालक ने अपनी सूझबूझ से बेक गियर लगाकर बस को सुरक्षित जगह पर ले गया। जिससे एक बड़ा हादसा होने से बच गया।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *