badti garmi

बढ़ती गर्मी से हो सकते हैं हाइपरथर्मिया का शिकार इस उम्र के लोग

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। कुछ लोगों को गर्मी में हाइपरथर्मिया भी हो जाता है। इसमें बढ़ती गर्मी की वजह से शरीर के तापमान को नियंत्रित करने वाली क्षमता प्रभावित होती है। आप इन उपायों को करके खुद को इससे बचा सकते हैं।

तेज धूप और बढ़ती हुई गर्मी ने भारत के कई हिस्सों में कहर बरपाया हुआ है। बढ़ती हुई गर्मी को देखते हुए अधिकतर लोग घर से निकलने से परहेज कर रहे हैं। वहीं जिन लोगों को मजबूरी में बाहर जाना पड़ रहा है, उन्हें कई स्वास्थ्य समस्याएं अपनी चपेट में ले रही हैं। कुछ लोगों को हीट स्ट्रोक या हाइपरथर्मिया भी हो जाता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक बढ़ती गर्मी की वजह से शरीर के तापमान को नियंत्रित करने वाली क्षमता प्रभावित होती है। इससे शरीर में ऐंठन, थकावट, हीट स्ट्रोक और हाइपरथर्मिया की प्रॉब्लम होने लगती हैं। कहा जाता है कि अगर किसी व्यक्ति के शरीर का तापमान सामान्य से अधिक रहने लगे या बहुत ज्यादा हो जाए, तो उसे हाइपरथर्मिया से ग्रसित माना जाता है।

हाइपरथर्मिया तब होता है जब आपका शरीर जितनी गर्मी छोड़ सकता है उससे ज्यादा अवशोषित या उत्पन्न करता है। एक इंसान के शरीर का सामान्य तापमान लगभग 98.6 डिग्री फारेनहाइट होता है। 99 या 100 डिग्री फारेनहाइट से ऊपर किसी का भी तापमान बहुत गर्म माना जाता है। हम आपको बताने जा रहे हैं कि किस उम्र के लोग इसकी चपेट में आते हैं और किन तरीकों को अपनाकर आप खुद को हाइपरथर्मिया से बचा सकते हैं।

यह भी पढ़ें -   आज दिनांक १२सितम्बर सोमवार का पंचांग, राशिफल में जानिए कैसा बीतेगा आपका पूरा दिन

इन लोगों पर बना रहता है इस बीमारी का खतरा
जिन लोगों की उम्र 50 साल से ऊपर होती है, उन्हें हाइपरथर्मिया से ग्रसित होने का खतरा गर्मी में बना रहता है। इसके अलावा शराब की लत वाले व्यक्ति, हाई बीपी, हार्ट संबंधित और गर्मी में काम करने वाले व्यक्तियों को भी हाइपरथर्मिया की बीमारी हो सकती है।

इस तरह करें बचाव
हाइड्रेट रहें – बुजुर्ग ही क्या बच्चों से लेकर बड़ों को वो सभी प्रयास करने चाहिए, जिससे वह खुद को हाइड्रेट रख सकें। इस मौसम में ज्यादा से ज्यादा पानी पीना फायदेमंद साबित हो सकता है। पानी के अलावा आप जूस पीकर या फिर अन्य तरीकों से खुद को हाइड्रेट रख सकते हैं। दरअसल, गर्मी में पसीना काफी निकलता है और शरीर में अगर पानी की कमी हुई, तो पसीना नहीं बनेगा। ऐसे में शरीर का तापमान बढ़ेगा और आप हीट स्ट्रोक या हाइपरथर्मिया का शिकार हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें -   माता वैष्णो देवी गुफा योग मंदिर में दी शंकराचार्य को श्रद्धांजलि

धूप से बचें – अगर बाहर निकलर किसी काम से जाना आपकी मजबूरी है, तो ऐसे में आपको वह सभी काम करने चाहिए, जो इस दौरान आपको धूप से बचा सकें। तेज धूप की वजह से आप बहुत बीमार पड़ सकते हैं।

कैफीन और शराब न पिएं – जिन लोगों को गर्मी में कैफीन और शराब की लत होती है, उन्हें इस आदत को धीरे-धीरे कम कर देना चाहिए. शराब की वजह से शरीर के अंगों को गंभीर नुकसान पहुंचता है। वहीं चाय में मौजूद कैफीन भी शरीर के तापमान को अनबैलेंस करने का काम करता है। अधिक मात्रा में कैफीन का सेवन आपको अनिद्रा का शिकार भी बना सकता है।

Ad - Harish Pandey
Ad - Swami Nayandas
Ad - Khajaan Chandra
Ad - Deepak Balutia
Ad - Jaanki Tripathi
Ad - Asha Shukla
Ad - Parvati Kirola
Ad - Arjun-Leela Bisht

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.