जो लोग नियमित रूप से योगाभ्यास करते हैं उनकी मानसिक शक्ति, शारीरिक शक्ति और हजारों लाभ मिलते है

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। योग जीवन जीने के एक तरीका है, जिसमें उठने-बैठने से लेकर सोने तक का तरीका सिखाया जाता है। जो लोग नियमित रूप से योगाभ्यास करते हैं उनकी मानसिक शक्ति, शारीरिक शक्ति और हजारों लाभ मिलते हैं। जानते हैं 21 योगासन कौन से हैं और उनके फायदे क्या हैं?
स्वस्थ शरीर, निरोगी काया और सुंदर मन के लिए रोजाना योगाभ्यास जरूर करना चाहिए। योग हमें बैठने का तरीका, प्राणायाम और ध्यान करना सिखाता है। रोजाना योग करने से शरीर को अनगिनत फायदे मिलते हैं। इसीलिए योग को अपने जीवन का हिस्सा जरूर बनाएं। रोजाना योग करने से शरीर, दिमाग और मन स्वस्थ रहते हैं। आइये जानते हैं 21 योगासन कौन से हैं और कौन से योगासन से क्या फायदा मिलता है?

अर्ध चन्द्रासन- इस आसन को करने में शरीर को अर्ध चंद्र जैसी स्थिति में रखना होता है। इसे अर्धचन्द्रासन भी कहते है। शरीर के निचले हिस्से, पेट और सीने के लिए ये स्ट्रेचिंग पोज फायदेमंद होता है।

भुजंगासन- इस योगासन को करने से छाती, कंधों और पेट की मांसपेशियों में खिचाव आता है। शरीर में लचीलापन बढ़ाता है और साइटिका को शांत करने में मदद करता है।

यह भी पढ़ें -   १८ जुलाई २०२४ बृहस्पतिवार का पंचांग, जानिए राशिफल में आज का दिन कैसा रहेगा आपका…

बालासन- इस योगासन को करने से मन शांत रहता है। कूल्हों, पीठ के निचले हिस्से और जांघों को खींचकर तनाव को कम करने में मदद करता है।

मार्जरासन- इस योगाभ्यास को शरीर की स्ट्रेचिंग के लिए अच्छा माना जाता है। ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने में मदद मिलती है। पेट और कमर की समस्याएं भी कम होती हैं।

नटराज आसान- वजन घटाने में मदद करता है और शरीर का बेहतर बैलेंस बनाने में मदद करता है। इस योगाभ्यास से जांघ, कूल्हे, टखने और सीना स्ट्रेच होकर मजबूत होता है।

गोमुखासन- तनाव और चिंता को दूर करने में ये योगाभ्यास मदद करता है। इससे शरीर लचीला बनता है और संतुलन और ताकत को भी बेहतर बना सकते है।

हलासन– मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद करता है। कब्ज से राहत और पीठ दर्द में आराम मिलता है।

सेतुबंधासन- बेली फैट घटाने में मदद करता है। हाई ब्लड प्रेशर और थायराइड के मरीज इस योगाभ्यास को कर सकते हैं।

रॉकिंग चेयर योग- इस योगाभ्यास को रीढ़ की हड्डी को मजबूत बनाने के लिए अच्छा माना जाता है। इससे शरीर में ब्लड फ्लो अच्छा रहता है।

सुखासन- इस योगाभ्यास को करने से मन को शांति मिलती है। थकान, स्ट्रेस, टेंशन, एंग्जाइटी और डिप्रेशन को दूर करता है।

नमस्कारासन- ये बेहद सरल आसान है जो तनाव से राहत दिलाने में मदद करता है और बेचौन मन को शांत करता है।

यह भी पढ़ें -   सेहतमंद होता है हंसना, कई बीमारियों को दूर भगा सकती है, जानिए हंसना क्यों है जरूरी

ताड़ासन- इस योगासन से जांघों, घुटनों और टखनों को मजबूती मिलती है। ताड़ासन करने से पेट टोंड होता है।

त्रिकोण मुद्रा- कमर और पीठ की मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद करता है। शरीर में लचीलेपन बढ़ता है।

कोणासन- इस योगासन को करने से मांसपेशियों सुडौल और मजबूत होती हैं। पाचन में सुधार और कब्ज दूर होती है।

उष्ट्रासन- इस योग से तनाव को कम किया जा सकता है। कंधों, बाहों, पीठ और पैरों की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है।

वज्रासन- रोजाना वज्रासन करने से पाचन शक्ति बढ़ती है। इसे पेट की बीमारियों और डाइजेशन के लिए अच्छा माना जाता है।

वृक्षासन- मांसपेशियों को ताकतवर बनाने में मदद करता है और पोस्चर में सुधार लाता है।

दंडासन- इसे पीठ की मांसपेशियों, कंधों और छाती के लिए अच्छा माना जाता है। एकाग्रता बढ़ाने में मदद करता है।

अधोमुखी आसन- मांसपेशियों को मजबूत बनाने और फेफड़ों की समस्याओं को दूर करने में मदद करता है।

शवासन- इस योगाभ्यास से बॉडी को रिलेक्स करने में मदद मिलती है। पूरी सेहत के लिए इसे अच्छा माना जाता है।

उष्ट्रासन- इस योग से तनाव को कम किया जा सकता है। कंधों, बाजू और पीठ की मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद मिलती है

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440