डायबिटीज के लिए प्रचलित घरेलू नुस्खे, जानिए क्या हैं इनके फायदे

Ad
Ad
खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। आधुनिकता के साथ बदलते जीवन में हर रोज बदलती लाइफस्टाइल और गलत खाने-पीने की आदतों की वजह से डायबिटीज के मरीजों की संख्या बढ़ रही है। गलत खाने-पीने के साथ ही फिजिकल एक्टिविटी न करने या व्यायाम के प्रति उदासीन रवैये के कारण डायबिटीज जैसे रोग लोगों को अपनी चपेट में ले रहे हैं। डायबिटीज के इलाज के लिए कई कारगर घरेलू नुस्खे हैं जिन्हें आजमाया जा सकता है, इनसे ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने में काफी मदद मिलती हैं।

डायबिटीज में मेथी बेहद फायदेमंद होता है। हर सुबह खाली पेट आपको एक चम्मच मेथी का पाउडर हल्के गर्म पानी के साथ निगल लेना है। मेथी पाचन प्रक्रिया को धीमा करने में सहायता करता है और इस प्रकार कार्बाेहाइड्रेट और चीनी के अवशोषण को नियंत्रित करता है।

यह भी पढ़ें -   सर्दी में आंवला खाने के हैं इतने जबरदस्त फायदे, जानें आयुर्वेद के अनुसार कैसे करें सेवन

आंवला का रस
आंवले में क्रोमियम नाम का एक खनिज होता है जो हमारे शरीर को इंसुलिन के प्रति अधिक प्रतिक्रियाशील बनाने में मदद करता है. ऐसे में आवंला को हाई ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए कारगर माना गया है. आप एक आंवले के रस को चुटकीभर हल्दी के साथ मिलाकर सुबह-शाम दो टाइम लें।

तुलसी के पत्ते
तुलसी के पत्ते में एंटी-ऑक्सीडेंट तो होता ही है इसके साथ ही इसमें ऐसे भी कई तत्व होते हैं जो पैंक्रियाटिक बीटा सेल्स को इंसुलिन के प्रति सक्रिय बनाती है ये सेल्स इंसुलिन के स्त्राव को बढ़ाते हैं। लिहाजा तुलसी का सेवन ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में काफी मददगार होता है. आपको सुबह के समय खाली पेट तुलसी के दो या तीन पत्ते चबाने हैं या तो फिर इनका रस निकाल कर भी पी सकते हैं।

यह भी पढ़ें -   कच्चा प्याज खाने के हैं ये 10 स्वास्थ्य लाभ

ग्रीन टी
ग्रीन टी भी शुगर के मरीजों के लिए बेहतर विकल्प है ये एक एंटी-ऑक्सीडेंट है. शुगर के मरीज सुबह और शाम दो टाइम ग्रीन टी पी सकते हैं, ये उनके लिए बेहद फायदेमंद साबित होगा।

जामुन के बीज का पाउडर
जामुन के बीज सबसे पहले अच्छे से धोकर सुखा लें फिर इसका पाउडर बना लें. डायबिटीज के रोगी जामुन बीज के पाउडर को सुबह नाश्ते के पहले गुनगुने पानी से चम्मच भर खा लें, ये ब्लड शुगर को काफी हद तक कंट्रोल करता है।

दालचीनी पाउडर
दालचीनी खून में शुगर के स्तर को नियंत्रित रखती है। दालचीनी खाते हैं तो इससे इंसुलिन की संवेदनशीलता बढ़ती है, इससे मोटापे पर भी कंट्रोल रहता है। दालचीनी के इस्तेमाल में थोड़ी सावधानी भी रखनी है, थोड़ा सा ही दालचीनी का पाउडर लेना है और इसे हल्के गर्म पानी के साथ खा लेना है।

यह भी पढ़ें -   कच्चा प्याज खाने के हैं ये 10 स्वास्थ्य लाभ

करेले का जूस
करेला, शुगर कंट्रोल करने के लिए काफी कारगर साबित होता है। करेले का जूस बाजार में भी उपलब्ध है या आप चाहे तो घर में ही करेले का फ्रेस जूस निकाल कर इसे सुबह के समय ले सकते हैं। करेले में चारटिन और मोमोर्डिसिन होते हैं, ये मधुमेह के रोगियों का शुगर लेवल कम करने में मदद करते हैं।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *