Rice-1

समस्याएं चावल खाने से नहीं बल्कि गलत समय पर चावल के सेवन से होती है

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। चावल को भारतीय भोजन का एक अहम हिस्सा माना गया है। पूजा-पाठ में इस्तेमाल से लेकर छोटे-बड़े समारोह सभी में चावल से बने व्यंजनों का अपना महत्व होता है। घरों में अक्सर दाल-चावल, राजमा-चावल, फ्राइड राइस, छोले-चावल, बिरयानी, पुलाव बनते ही रहते हैं। और जब बात मीठे की हो, तो चावल से बनी खीर का कोई जवाब नहीं है। स्वादिष्ट होने के साथ ही चावल आपकी सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। वैसे तो इसे कार्बाेहाइड्रेट का मुख्य स्रोत माना गया है, परंतु मैग्नीशियम, आयरन, सोडियम, प्रोटीन, विटामिन बी6, कैल्शियम, फाइबर तथा वसा जैसे पोषक तत्व भी चावल में मौजूद होते हैं। जो आपकी सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं।

इसके बावजूद आपने कुछ लोगों को यह कहते हुए भी सुना होगा कि चावल खाने से मोटापा, ब्लड शुगर लेवल हाई होना, बादी बढ़ना आदि समस्याएं होती हैं। लेकिन आपको बता दें कि ये समस्याएं चावल खाने से नहीं, बल्कि गलत समय पर चावल के सेवन से हो सकती हैं। जी हां, यह सही है कि प्रकृति में मौजूद कोई भी खाद्य पदार्थ जो हमारी सेहत के लिए फायदेमंद है, अगर उसका गलत तरीके से या गलत समय पर सेवन किया जाए, तो लाभ होने के बजाय नुकसान झेलने को मिल सकते हैं। यही हाल चावल के साथ ही है। तो आइए जानते हैं चावल खाने का सही समय क्या है…

यह भी पढ़ें -   मूली के अंदर मैग्नीशियम और कैल्शियम की मात्रा भरपूर होती है, मूली खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है

विशेषज्ञों के अनुसार, लंच यानी दोपहर के भोजन में आहार में चावल को शामिल करना सबसे बेहतर होता है। क्योंकि इस वक्त आपका चयापचय तेज होता है। जिससे आपका शरीर भारी खाद्य पदार्थों को आसानी से पचा लेता है। इसके अलावा, दोपहर के वक्त आपके शरीर को अधिक ऊर्जा की आवश्यकता होती है, जिसकी पूर्ति चावल के माध्यम से की जा सकती है। क्योंकि कार्ब्स से युक्त चावल आपके शरीर में ऊर्जा स्तर में बढ़ोतरी करने के लिए सहायक होते हैं।

इसलिए अगर आप सही समय पर चावल का सेवन करते हैं, तो आपको ये लाभ हो सकते हैं…

मूत्र रोग में
मूत्र रोगों में चावल का सेवन फायदेमंद माना गया है। जिन लोगों को रुक-रुक कर या कम पेशाब आने और पेशाब में जलन की समस्या है, वे लोग चावल को आहार में शामिल कर सकते हैं। इसके अलावा, चावल का पानी पीना भी मूत्र रोग से पीड़ित व्यक्ति के लिए फायदेमंद हो सकता है। इसका एक बड़ा कारण यह है कि चावल की तासीर ठंडी होती है, जो आपके पेट को भीतर से ठंडा रखता है।

यह भी पढ़ें -   हल्द्वानी में रेलवे ट्रैक पर मिले युवक की हुई शिनाख्त, एक होटल में सैफ के पद था कार्यरत

मजबूत हड्डियों के लिए
बुजुर्गों में हड्डियों से संबंधित समस्याएं होना तो आम बात है, परंतु आजकल उम्र से पहले ही लोगों को जोड़ों के दर्द, हड्डियों में आवाज आने जैसी समस्याएं होने लगी हैं, जो बिल्कुल भी सही नहीं है। ऐसे में मजबूत हड्डियों के लिए चावल खाना एक अच्छा विकल्प हो सकता है। इसके अलावा, जो लोग डेयरी उत्पादों का सेवन नहीं करते हैं, वे लोग मजबूत हड्डियों के लिए चावल को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं।

पाचन के लिए
जिन लोगों को यह गलतफहमी है कि चावल एक भारी भोजन है, उन्हें बता दें कि रोटी की तुलना में आपका पेट चावल को जल्दी पचा लेता है। इसके अलावा, चिकित्सकों द्वारा भी पेट से जुड़ी बीमारियों में चावल खाने की सलाह दी जाती है। वहीं फाइबर से भरपूर ब्राउन राइस खाना भी काफी फायदेमंद होता है। क्योंकि फाइबर युक्त आहार पेट को अच्छे से साफ करने में और कब से बचाने में सहायक होता है।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.