झंडेजी के मेले के लिए दून पहुंच रहीं संगतें, गिलाफ की दर्शनी सिलाई शुरू

खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। झंडेजी के मेले के लिए संगतों के दून पहुंचने का सिलसिला जारी है। दरबार साहिब में महिला श्रद्धालुओं ने झंडे जी के लिए दर्शनी गिलाफ तैयार करना भी शुरू कर दिया है। हालांकि, कोरोना के चलते इस बार संगतों में श्रद्धालुओं की संख्या सीमित नजर आ रही है।

इस वर्ष झंडे जी का मेला दो अप्रैल से शुरू होगा। इसके लिए दरबार साहिब को भव्य तरीके से सजाया गया है। मेले के लिए आसपास के बाजार भी सजना शुरू हो गए हैं। मंगलवार को पूजा-अर्चना के बाद दरबार साहिब के श्रीमहंत देवेंद्र दास महाराज ने संगतों को आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने संगतों से कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए नियमों का पूरी तरह पालन करने की अपील की। दरबार साहिब के प्रबंधक और मेला प्रभारी कैलाश चंद्र जुयाल ने बताया कि दो अप्रैल को झंडे जी का आरोहण होगा। झंडे जी के लिए दर्शनी गिलाफ सिलने का काम शुरू हो गया है। दरबार साहिब पहुंचे श्रद्धालुओं के लिए मेला समिति ने लंगर भी शुरू कर दिए हैं। जिला प्रशासन ने झंडे जी के मेले में बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट की अनिवार्यता की है। बावजूद इसके दरबार साहिब पहुंची संगतों में कई श्रद्धालु आरटीपीसीआर जांच कराए बिना आ गए। मंगलवार को ये लोग जांच रिपोर्ट नहीं दिखा पाए तो मेला प्रशासन कमेटी ने उनसे हाथ जोड़कर जांच कराने की अपील की। इसके बाद उन्हें जांच के लिए श्रीमहंत इंदिरेश अस्पताल भेजा गया।
श्रीमहंत इंदिरेश अस्पताल के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी भूपेंद्र रतूड़ी ने बताया कि अब तक पहुंची संगतों में जिन लोग के पास आरटीपीसीआर की निगेटिव जांच रिपोर्ट नहीं थी, उनकी जांच निश्शुल्क की गई है। श्रद्धालुओं से इंटरनेट मीडिया समेत अन्य माध्यमों से सीमित संख्या में आने और जांच रिपोर्ट साथ लाने की अपील की जा रही है।
कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए दरबार साहिब प्रबंधन समिति और श्रीझंडा मेला आयोजन समिति ने श्रीमहंत देवेंद्र दास महाराज के सुझाव के बाद नगर परिक्रमा का रूट बदलने का निर्णय लिया है। इस वर्ष नगर परिक्रमा का रूट छोटा भी होगा। चार अप्रैल को नगर परिक्रमा सुबह साढ़े सात बजे शुरू होगी। नगर परिक्रमा दरबार साहिब परिसर से शुरू होकर भंडारीबाग चौक, आढ़त बाजार, दर्शनी गेट, सहारनपुर रोड, श्रीमहंत साहिबान की समाधि स्थल लक्खीबाग तक जाएगी और यहां से वापस दरबार साहिब पहुंचकर संपन्न होगी।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.