बाल वनिता आश्रम संचालक के खिलाफ की जाये कड़ी कार्रवाई : कमलेश रमन

खबर शेयर करें

समाचार सच, देहरादून। महानगर महिला कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती कमलेश रमन के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के प्रतिनिधिमंडल ने विगत दिनों बाल बनिता आश्रम में एक बच्ची के साथ हुए जघन्य अपराध के विरोध में महिला आयोग एवं बाल संरक्षण आयोग को ज्ञापन दिया। ज्ञापन के माध्यम से महानगर महिला कांग्रेस अध्यक्ष कमलेश रमन ने कहा की जिस तरह वनिता आश्रम में नाबालिक कन्या के साथ बलात्कार का मामला सामने आया है, यह घटना आश्रम में चल रही लापरवाही एवं बच्चियों की असुरक्षा को सामने लाता है। आश्रम में किसी भी बाहरी व्यक्ति का प्रवेश वर्जित है कोई कुछ दान करने भी आता है तो कार्य करने वाले उनसे सामान खुद ले लेते हैं और वितरित करते हैं। आश्रम के अंदर किस तरीके की गतिविधियां चल रही है यह आम जनमानस को पता नहीं होता।

Ad

इस घटना से पहले भी नारी निकेतन में इस तरीके के दुष्कर्म के कृत्य सामने आते रहे हैं, परंतु किसी के भी खिलाफ कोई कार्यवाही आज तक सुनिश्चित नहीं की गई। महिलाओं के साथ बच्चियों के साथ इस तरह की हो रही घटनाएं देव भूमि को शर्मसार करने का काम करती हैं। आश्रम की संचालक ने 5 माह इस घटना को दबाने का जो कृत्य किया है इसमें उनकी सहभागिता इस अपराध में नजर आती है उनके खिलाफ कार्यवाही अब तक क्यों नहीं हुई। उन्होनें मांग कर कहा की महिलाओं की एक समिति का गठन किया जाए जोकि आश्रम का एवं नारी निकेतन का निरीक्षण करके यह सुनिश्चित करें कि वहां पर बच्चियों के लिए किस तरीके की सुविधाएं और सुरक्षा के इंतजाम हैं। समिति में सेवानिवृत्ति महिला न्यायिक अधिकारी को भी सम्मिलित किया जाए और अन्य सम्मानित महिलाएं जो महिलाओं के उत्थान के लिए काम कर रहे हैं उन्हें भी सम्मिलित किया जाए एवं महिला कांग्रेस का भी प्रतिनिधि शामिल करने का कष्ट करें। उन्होनें कहा भाजपा शासित प्रदेशों में महिलाओं पर बढ़ रहे अत्याचार से पूरा देश कलंकित हुआ है। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं का नारा देने वाली भाजपा शासित प्रदेश में बढ़ रही बलात्कार की घटनायें तथा महिलाओं पर हो रहे अत्याचार गम्भीर चिन्ता का विषय है जिसकी जितनी निन्दा की जाय कम है।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड में होगा एक चरण में चुनाव, 14 फरवरी को को डाले जायेंगे वोट

उन्होंने कहा कि भाजपा के शासन में जितनी जोर-शोर से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं का नारा बुलंद किया जा रहा है उसी गति से महिलाओं के प्रति अपराध बढ़ रहे हैं तथा आज स्थिति यह है कि भाजपा शासित किसी भी प्रदेश में बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा शासित राज्यों में सरकार के दबाव में दोषियों को बचाने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार द्वारा न केवल बलात्कार के आरोपियों को बचाने का काम किया जा रहा है तथा इसका विरोध करने पर विपक्षी दल के नेताओं के साथ दुर्व्यवहार भी किया जाता है। उन्होंनें संचालक के विरूद्ध समुचित धाराओं में कड़ी से कड़ी कार्रवाही करनें की भी मांग की तथा कार्रवाही ना किये जानें पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी। इस दौरान विमला मन्हास, डॉ. प्रतिमा, सरोज भाटीया, तरूण चक्रवर्ती, संगीता, नीलम थापा, सायरा बानों, ज्योति, अनुराधा सहित अन्य महिलायें मौजूद थी।

Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *