parmal

कुंदरू में कुछ ऐसे पोषक तत्व होते हैं जो इम्युनिटी बढ़ाने में हमारी मदद करता हैं, ज्यादा जानने के लिए करें क्लिक

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। हरी सब्जियां खाने के नाम पर हममें से अधिकतर लोग नाक-भौं सिकोड़ते हैं। कुछ सब्जियां खाने के मामले में बच्चे ही नहीं बड़े भी कतराते हैं। करेला, लौकी के बाद ऐसी ही सब्जी है कुंदरू।

कुंदरू को इंग्लिश में प्अल हवनतक कहा जाता है। ये देखने में परवल जैसी दिखती है लेकिन उससे थोड़े छोटे और मुलायम होते हैं। इनमें बहुत से पोषक तत्व होते हैं जो कई बड़ी बीमारियों से लड़ने में हमारी मदद करते हैं।

पूरे भारत में कुंदरू को सब्जी और चटनी की तरह खाया जाता है। चलिए आपको बताते हैं कुंदरू के उन फायदों के बारे में जो आप इसे अपनी डाइट का हिस्सा बनाकर पा सकते हैं।

चलिये जानते है कुंदरू के फायदे के बारे मे –

डायबिटीज से बचाव –
डायबिटीज के मरीजों के लिए कुंदरू खाना एक बेहतरीन ऑप्शन है। कुंदरू में एंटी हाइपरग्लाइसेमिक प्रभाव पाया जाता है, जो ब्लड में शुगर के स्तर को कंट्रोल करता है।

डाइजेशन के लिए –
कुंदरू की सब्जी के फायदे मे मुख्य यह है की इसको खाने से आपका डाइजेशन बेहतर होता है। इसकी वजह हैं इसमें पाए जाने वाले फाइबर्स। फाइबर भोजन को पचाकर मल को शरीर से बाहर निकालने का काम करते हैं। भोजन बेहतर पचता है और स्वास्थ्य अच्छा रहता है।

कैंसर से बचाव –
कैंसर को सबसे खतरनाक बीमारी माना गया है। मरीज के इलाज पर लाखों रुपये खर्च हो जाते हैं। वहीं, कुछ खाद्य पदार्थ ऐसे हैं, जिनका सेवन करने से कैंसर को होने से रोका जा सकता है। इनमें से एक कुंदरू भी है। कुंदरू में एंटी-कैंसर गुण पाए जाते हैं, जो इस बीमारी को होने से रोकने में मदद कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें -   बंगाली समाज के लोगों को मत्स्य पालन से जोड़ने की कार्ययोजना पर किया जाए कार्य : सौरभ बहुगुणा

इम्युनिटी बढ़ाने में असरदार –
शरीर की इम्युनिटी कमजोर होने पर कई तरह की बीमारियां होने का खतरा बढ़ सकता है। ऐसे में कुंदरू का सेवन कर शरीर की इम्युनिटी को बढ़ाया जा सकता है। इसमें मौजूद विटामिन-ए सकारात्मक रूप से इम्यून सिस्टम को प्रभावित करता है

दिल के स्वास्थ्य के लिए –
कुंदरू में अनेक पौष्टिक गुण होते हैं जो दिन को स्वस्थ रखने में मदद करते है। कुंदरू में कई तरह के फ्लेवोनोड्स पाए जाते हैं, जो एंटीऑक्सीडेंट, एंटीइंफ्लेमेटरी, एंटीबैक्टीरियल और मुख्य रूप से कार्डियो प्रोटेक्टिव गतिविधि की तरह काम करते हैं। ये दिल की बीमारी बनने वाले फ्री-रेडिकल्स को जड़ खत्म करते हैं।

इन्फेक्शन से बचाव –
ज्यादातर बीमारियों के फैलने का मुख्य कारण इन्फेक्शन होता है। लेकिन कुंदरू के सेवन से इन्फेक्शन होने के खतरे को रोका जा सकता है। कुंदरू के एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-माइक्रोबियल गुण इन्फेक्शन पैदा करने वाले वायरस और बैक्टीरिया से लड़ते हैं और इन्फेक्शन से शरीर की रक्षा करते हैं।

नर्वस सिस्टम की सुरक्षा –
एक शोध के अनुसार, एंटीऑक्सीडेंट्स दिमाग और नर्वस सिस्टम से जुड़े रोगों से निपटने का काम करते हैं, जिससे नर्वस सिस्टम सुरक्षित और स्वस्थ रहता है। एक अन्य स्टडी के मुताबिक कुंदरू में विटामिन-सी पाया जाता है, जो एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम कर सकता है। इसलिए, कुंदरू के फायदे नर्वस सिस्टम से जुड़ी समस्याओं में भी कारगर हैं।

वजन घटाने में फायदेमंद –
वजन को घटाने के लिए कुंदरू का उपयोग किया जा सकता है। कुंदरू में फाइबर की भरपूर मात्रा पाई जाती है, जो वजन को कम करने में सहायक हो सकता है। फाइबर भोजन को पचाने के साथ-साथ भूख को शांत रख सकता है।

यह भी पढ़ें -   हल्द्वानी में लगने वाली नुमाइश का विरोध शुरू, उक्रांद ने दिया ज्ञापन

थकान से आराम –
कई लोगों को छोटा-मोटा काम करने पर भी जल्दी थकान महसूस होने लगते है। ये आयरन की कमी की वजह से हो सकता है। थकान की समस्या से राहत पाने में आयरन मददगार होता है । कुंदरू में भरपूर मात्रा में आयरन पाया जाता है और शरीर में आयरन की कमी को दूर करने में मददगार साबित हो सकता है।

कुंदरू के नुकसान
जैसे हर चीज में अच्छाइयां और कमियां होती हैं, कुंदरू खाने के फायदों के साथ ही कुछ नुक्सान भी होते हैं। कुंदरू के कुछ नुकसान ये हो सकते हैं –

  • कुछ लोग नए फूड आइटम्स को खाने के मामले में संवेदनशील होते हैं। ऐसे लोगों को कुंदरू का सेवन करने से उल्टी और मितली की समस्या हो सकती है। इस प्रकार के संवेदनशील लोग कुंदरू का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।
  • बहुत ज्यादा पके हुए और कड़वे कुंदरू को खाने से पेट पर बुरा असर होता है।
  • अगर आप किसी तरह की दवाई लेते हैं, तो कुंदरू खाने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।
  • छोटा सा कुंदरू लेकिन उसके फायदे इतने सारे! क्या आपने इससे पहले कभी सोचा था कि इस सब्जी में इतने गुण हो सकते हैं? शायद नहीं। इसीलिए अब इससे बैर करना छोड़िये और इसे अपनी डाइट का हिस्सा बनाइये। इससे आपको न्यूट्रिशन के लिए दवाओं की जरूरत नहीं पड़ेगी और आप अपने घर बैठे ही रोजमर्रा की डाइट से ही खुद को फिट रख पाएंगे।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.