घरेलू झगड़े में पत्नी ने शराबी पति को तवे से पीटकर मार डाला, अभियुक्ता गिरफ्तार

खबर शेयर करें

समाचार सच, बाजपुर। ऊधमसिंह नगर जिले के बाजपुर में पत्नी के द्वारा घरेलू झगड़े में पति की तवे से पीट पीटकर हत्या किए जाने का मामला प्रकाश में आया है। फिलहाल अभियुक्ता पत्नी पुलिस की गिरफ्त में है। वहीं पुलिस ने मृतक युवक के शव को कब्जे में लेकर उसको पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया है। परिजनों ने उसका अंतिम संस्कार कर दिया। पुलिस के अनुसार युवक के परिजनों ने दी तहरीर में अपनी अभियुक्त पुत्रवधू का मायके में ही किसी के साथ प्रेम प्रसंग होने का भी आरोप लगाया है।

पुलिस को दी तहरीर में मृतक चंद्र प्रकाश के पिता शंकर सिंह ने बताया कि उनके तीन लड़कों में से एक चंद्र प्रकाश का विवाह 9 साल पूर्व किच्छा की रहने वाली युवती से हुआ था। उनका बाजपुर के वार्ड नं 8 सुभाषनगर में दो मंजिला मकान व दुकान है। निचले तल में वह अपने बेटे जगदीश के साथ रहते हैं तथा दूसरी मंजिल में उनका सबसे बड़ा मूक बधिर बेटा इन्द्रपाल अपनी मूकबधिर पत्नी के साथ रहता है। बराबर में दूसरे कमरे में चन्द्र प्रकाश अपनी पत्नी और अपने दोनों बच्चों के साथ में रहता था।

यह भी पढ़ें -   खेत में कार्य कर रहे भाई बहन की आकाशीय बिजली के चपेट में आने से मौत, परिजनों में मचा कोहराम

चन्द्र प्रकाश नशे का आदी था। उसकी पत्नी की अक्सर उसके साथ में लड़ाई होती रहती थी। वहीं पुलिस को दी तहरीर में मृतक चंद्र प्रकाश के पिता शंकर सिंह ने अपनी पुत्रवधू पर आरोप लगाते हुए कहा कि मेरी पुत्रवधू का मायके में ही किसी लड़के के साथ में प्रेम प्रसंग चल रहा है। बहू अक्सर फोन पर उस लड़के के साथ बातचीत करती रहती थी। इसका पता उनके पुत्र चन्द्र प्रकाश को चला था तो उसने उसे उस लड़के से बातचीत करने से मना किया। लेकिन वह नहीं मानी। इसी बात को लेकर अक्सर उन दोनों का विवाद और लड़ाई झगड़ा होता था। जिसके बाद लड़ाई झगड़े के दौरान बहू ने अपने प्रेमी के चक्कर में उनके बेटे चंद्र प्रकाश की तवे से पीट पीटकर हत्या कर दी।

इधर पुलिस गिरफ्त में पूछताछ के दौरान अभियुक्ता ने बताया कि मेरे पति चंद्र प्रकाश पहले पान का खोखा चलाते थे। लगभग 3 वर्ष पूर्व खोखा बन्द कर दिया। वह वर्तमान में मजदूरी का कार्य करते थे। वह शराब पीने के आदी थे और आए दिन शराब पीकर मेरे साथ गाली गलौज, लड़ाई-झगड़ा व मारपीट करते रहते थे। जब वह मुझे मारते पीटते थे तो मुझे उनके परिवार का कोई भी व्यक्ति बचाने नहीं आता था। रात्रि में भी जब वह मेरे साथ मारपीट कर रहे थे तो मैंने लड़की को नीचे यह कहकर भेजा कि नीचे से कोई आकर मेरे पति को ले जाये. लेकिन कोई उन्हें ले जाने नहीं आया और न ही कोई मुझे बचाने आया।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखण्ड के इस रेलवे स्टेशन पर ट्रेन में मिला व्यक्ति की लाश, फैली सनसनी

मेरे पति ने मेरे साथ रात्रि 8 बजे से रात्रि 12 बजे तक मारपीट, गाली गलौच की। मैंने अपने मायके में फोन कर भी बताया लेकिन वो भी बचाने नहीं आये। मारपीट के दौरान वह मुझे जान से मारने की नीयत से तवा उठा लाये। तवे से मुझे मारने का प्रयास करने लगे। वह शराब के नशे में थे. मैंने उन्हें धक्का देकर बिस्तर पर गिरा दिया। उनके हाथ से तवा छीन कर उसके सिर पर उसी तवे से जोर से दो-तीन बार प्रहार कर दिए और लेट गयी। उनके सिर से खून निकलने लगा और फिर वह सो गये। उसके बाद मैं भी सो गई। सुबह जब उठी तो देखा वह कोई हरकत नहीं कर रहे थे। खून भी काफी बहा हुआ था। मैंने नीचे जाकर अपने ससुर को बताया। वह ऊपर हमारे कमरे में आए। उन्होंने कहा यह तो मर गया है।

सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक चंद्र प्रकाश के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करा उसका सब परिजनों के हवाले कर दिया। जिसके बाद परिजनों के द्वारा उसका अंतिम संस्कार कर दिया। वहीं दूसरी तरफ पुलिस ने मृतक चंद्र प्रकाश के पिता शंकर सिंह की तहरीर पर अभियुक्ता बहू को आईपीसी की धारा 302 के तहत हत्या का मुकदमा दर्ज कर उसकी गिरफ्तारी कर ली है। साथ ही पुलिस ने घटना में प्रयुक्त तवा भी बरामद कर लिया है।

Ad Ad Ad Ad Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440