नंगे पैर चलना सेहत के लिए क्या अच्छा है? सच जानकर रह जाएंगे हैरान, नंगे पांव घूमने के दौरान रखें इन बातों का…

खबर शेयर करें

समाचार सच, स्वास्थ्य डेस्क। घर पर खाली पैर चलना काफी कॉमन है, लेकिन पार्क जाकर हरे घास पर नंगे पैर चलने का अनुभव आपने कभी लिया है? हो सकता है कि आपका बचपन भी गांव में बीता हो और नंगे पैर खेल के मैदान में दिनभर खूब दौड़े हों, लेकिन तब हम इस बात पर गौर नहीं करते थे कि इसका हमें क्या फायदा मिल रहा है। आज विज्ञान ने भी यह माना है कि मानव शरीर के लिए नंगे पैर चलना कितना फायदेमंद है। तो आइए जानते हैं कि खाली पैर चलने के क्या फायदे हैं।

नंगे पैर चलने के फायदे –
-हेल्थलाइन के मुताबिक, बोन्स और मसल्स के बेहतर पोजिशनिंग के लिए नंगे पैर चलना काफी फायदेमंद हो सकता हैॅ

यह भी पढ़ें -   उत्तराखण्ड में युवती ने पुलिस दारोगा पर लगाया होटल में दुष्कर्म करने का आरोप, एसएसपी ने दिए जांच के निर्देश

-नंगे पैर चलने से बॉडी बैलेंसिंग, प्रोपियोसेप्शन और बॉडी अवेयरनेस में मदद मिलती है जो दर्द से आराम दिलाने के लिए जरूरी है। छोटे बच्चों के ग्रोथ के लिए यह तरीका काफी जरूरी होता है।

-ऐसा करने से हिप्स, कोर और घुटने के जोड़ और बोन्स आदि बेहतर तरीके से काम करते हैं और इस वजह से इनसे जुड़ी कई परेशानियां दूर रहती हैं।

-जब आप नंगे पैर चलते हैं तो इससे पैर और टखनों के ज्वाइंट्स की ताकत बढ़ती है और लिगामेंट व मसल्स में मजबूती आती है। लंबी उम्र तक इससे जुड़ी समस्घ्याएं नहीं परेशान करतीं।

-ऐसा करने से जूतों की वजह से होने वाली परेशानियां, जैसे तलवों, टखनों, घुटनों और कमर के निचले हिस्घ्से में दर्द की समस्या आदि दूर हो सकती है।

-पैर के हर मसल्स मजबूत बनते हैं जिससे कमर में दर्द की समस्या भी आसानी से दूर हो जाती है।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखण्ड में साइबर ठगों ने एडिट कर युवती और उसके दोस्त की बना दी अश्लील फोटो, फिर कर दी 2 लाख की रकम की मांग

नंगे पैर चलते या व्यायाम करते वक्त रखें इन बातों का ख्याल
-अगर आप पहली बार ऐसा कर रहे हैं तो शुरुआत धीमी गति से करें। तब समय के साथ आपके पैर और इससे जुड़े मसल्स व ज्वाइंट एडजस्ट कर जाएंगे।

-इस आदत की शुरुआत आप घर से कर सकते हैं. ऐसा करने से आपका पैर धीरे धीरे सेफ सरफेस की आदत को एक्सेप्ट कर लेगा। अगर बाहर वॉक करना चाहते हैं तो रबर ग्राउंड, घास वाले मैदान या बालू वाली जगहों पर नंगे पैर चलें।

-अगर किसी भी तरह की इंजूरी हो तो लापरवाही न बरतें, बल्कि जरूरत पड़ने पर डॉक्टर से दिखाएं. गर्म पानी से रोज रात के वक्घ्त सेक लगाना अच्छा विकल्प है। सेफ्टी को ध्यान में रखकर ही ऐसा करें।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440