मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट 13 डिस्ट्रिक-13 डेस्टिनेशन को नैनीताल जिले में लगने वाले हैं जल्द पंख, धनराशि अवमुक्त

खबर शेयर करें

समाचार सच, हल्द्वानी। मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट 13 डिस्ट्रिक-13 डेस्टिनेशन को नैनीताल जिले में जल्द पंख लगने वाले हैं। इस योजना के तहत जिले को सबसे पहले धनराशि अवमुक्त की गई है। जिससे मुक्तेश्वर हिमालय दर्शन थीम के आधार पर विकसित होगा। योजना के तहत किए जाने वाले कामों के लिए कार्यदायी संस्था का भी चयन कर लिया गया है। जिसे जल्द ही डीपीआर बनाने को कहा गया है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने 13 डिस्ट्रिक-13 डेस्टिनेशन योजना के तहत प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों से डीपीआर भेजने को कहा था।

इस क्रम में नैनीताल के जिलाधिकारी सविन बंसल ने शासन को प्रोपर प्लानिंग करते हुए प्रोजेक्ट भेजे थे। इस पर शासन द्वारा जिले के लिए 351.99 लाख स्वीकृत किए गए हैं। इसके सापेक्ष 191 लाख अवमुक्त भी कर दिए गए हैं। इसके साथ ही नैनीताल इस योजना में सबसे पहले धनराशि पाने वाला जनपद भी बन गया है। जिलाधिकारी सविन बंसल के अनुसार योजना के तहत चिन्हित मुक्तेश्वर सर्किट में हिमालय दर्शन थीम के आधार पर विकसित करने हेतु प्रदेश में सर्वप्रथम जनपद नैनीताल को योजना हेतु धनराशि अवमुक्त हुई है। योजना का काम पूरा होने के बाद पर्यटक नैनीताल के साथ ही जनपद मुख्याल के दूरस्थ मुक्तेश्वर क्षेत्र की प्राकृतिक सुन्दरता व हिमालय की बर्फीली वादियों के दर्शन भी कर सकेंगे। इससे जहां नये पर्यटक डेस्टिनेशन विकसित होने से क्षेत्रीय लोगों को रोजगार मिलेगा। वहीं आधारभूत सुविधाओं जैसे सड़क, पानी, बिजली, स्वास्थ्य सुविधाओं में भी इजाफा होगा।

यह भी पढ़ें -   उत्तराखंड में गैंगस्टर एक्ट के अपराधियों पर होने वाली हैं कमर तोड़ कार्रवाई, डीजीपी ने दिए निर्देंश

बताया कि योजना के तहत मुक्तेश्वर पर्यटन सर्किट को हिमालय दर्शन थीम के आधार पर विकसित किया जायेगा। जिसमें महादेव मन्दिर सौन्दर्यीकरण व रास्ते का सुधारीकरण कार्य, पर्यटन आवास गृह में हिमालय दर्शन थीम आधारित डिजिटल व्यू प्वाइंट की स्थापना, गार्डन का सौन्दर्यीकरण, चौराहा सौन्दर्यीकरण, भालूगाड़ वाटर फॉल तक 1.2 किमी ट्रैक रूट पर 4 लोहे के पुल निर्माण, पुरानी जसुली देवी धर्मशाला का जनजाति संग्रहालय के रूप में जीर्णाेद्वार कार्य प्रमुख हैं। डीएम ने बताया कि इस कार्य के लिए कार्यदायी संस्था के रूप में कुमाऊं मण्डल विकास निगम को नामित किया गया है। कार्यदायी संस्था को योजना में युद्व स्तर पर कार्य कर समयान्तर्गत कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिये गये हैं। साथ ही योजना का द्वितीय फेज के कार्यों की डीपीआर बनाने के निर्देश भी दिये गये हैं।

सबसे पहले ख़बरें पाने के लिए -

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ें

👉 फेसबुक पर जुड़ने हेतु पेज़ लाइक करें

👉 यूट्यूब चैनल सबस्क्राइब करें

हमसे संपर्क करने/विज्ञापन देने हेतु संपर्क करें - +91 70170 85440

Leave a Reply

Your email address will not be published.